Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिपत्नी के माध्यम से CM केजरीवाल ने बेची जमीन, ₹1.02 करोड़ की टैक्स चोरी...

पत्नी के माध्यम से CM केजरीवाल ने बेची जमीन, ₹1.02 करोड़ की टैक्स चोरी के आरोप: शराब और बस के बाद दिल्ली में स्टाम्प ड्यूटी घोटाला

शिकायतकर्ता का कहना है कि बाजार मूल्य से कम रेट दिखाकर सीएम केजरीवाल ने न सिर्फ स्टाम्प ड्यूटी में 25.93 लाख रुपए का चूना लगाया, बल्कि पूंजीगत लाभ कर के रूप में 76.4 लाख रुपए की भी हेरफेर की।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। बस और शराब घोटाले के बाद अब उन पर स्टाम्प ड्यूटी चोरी के आरोप लगे हैं। दिल्ली के उप-राज्यपाल विनय कुमार सक्सेना (VK Saxena) ने उनके खिलाफ जाँच के आदेश दिए हैं।

सीएम केजरीवाल पर आरोप है कि हरियाणा के भिवानी में केजरीवाल ने 4.54 करोड़ रुपए में 3 प्लॉट बेचे थे, जिसकी कीमत उन्होंने कम करके दिखाई है। कागज पर इनकी कुल कीमत सिर्फ 72.72 लाख रुपए दिखाई गई है। शिकायत मिलने के बाद उपराज्यपाल ने मुख्य सचिव को पत्र लिखकर जाँच के लिए कहा है।

बता दें कि कुछ दिन पहले दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के ठिकानों पर शराब घोटाले को लेकर सीबीआई ने छापेमारी की थी। इसके बाद आम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने बुधवार (7 सितंबर 2022) को एक प्रेस कॉन्फ्रेस करके उपराज्यपाल पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया था।

शिकायत में कहा गया है कि सीएम केजरीवाल ने 15 फरवरी 2021 को अपनी पत्नी सुनीता केजरीवाल के माध्यम से 45,000 रुपए प्रति वर्ग गज के बाजार मूल्य पर अपने प्लॉट बेचे थे। वहीं, कागजों पर इसका मूल्य सिर्फ 8,300 प्रति वर्ग गज बताया गया है। शिकायत में कहा गया है, “इनमें से दो संपत्तियाँ खुद अरविंद केजरीवाल के नाम पर थीं, जबकि तीसरी संपत्ति उनके पिता गोविंद राम के नाम पर थी।”

शिकायतकर्ता का कहना है कि बाजार मूल्य से कम रेट दिखाकर सीएम केजरीवाल ने न सिर्फ स्टाम्प ड्यूटी में 25.93 लाख रुपए का चूना लगाया, बल्कि पूंजीगत लाभ कर के रूप में 76.4 लाख रुपए की भी हेरफेर की।

शिकायतकर्ता का कहना है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कागज पर 8,300 वर्ग गज की दर से 340 वर्ग गज के प्लॉट को 24.48 लाख रुपए, 416 वर्ग गज के प्लॉट को 30 लाख रुपए और 254 वर्ग गज के प्लॉट को 18.24 लाख रुपए में बेचना दिखाया है।

शिकायतकर्ता का कहना है कि इन भूखंडों का बाजार मूल्य बहुत अधिक है और उन्होंने 45,000 वर्ग गज के हिसाब से इसे बेचा था। इन तीनों भूखंडों के लिए उन्होंने स्टाम्प शुल्क 1,41,200 रुपए, 1,73,700 रुपए और 1,12,500 रुपए भुगतान किया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ट्रेनी IAS पूजा खेडकर की ऑडी सीज, ऊटपटांग माँगों के बचाव में रिटायर्ड IAS बाप: रिवॉल्वर लहराने पर FIR के बाद लाइसेंस रद्द करने...

ट्रेनिंग के दौरान ही VIP सुविधाओं के लिए नखरा करने वाली IAS पूजा खेडकर की करस्तानियों का उनके पिता दिलीप खेडकर ने बचाव किया है।

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -