Monday, June 17, 2024
Homeराजनीति'AAP छोड़ दो, CM बना देंगे': दारू घोटाले में पूछताछ के बाद मनीष सिसोदिया...

‘AAP छोड़ दो, CM बना देंगे’: दारू घोटाले में पूछताछ के बाद मनीष सिसोदिया का नया शिगूफा, CBI ने कहा- बयानों की जाँच के बाद लेंगे एक्शन

"मनीष सिसोदिया से पूछताछ एफआईआर में लगे आरोपों और जाँच के दौरान जुटाए गए सबूतों के आधार पर की गई है। उनके बयानों का सत्यापन करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।"

दारू घोटाले में घिरने के बाद से ही दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) और आम आदमी पार्टी (AAP) रोज-रोज नए शिगूफे छोड़ती रहती है। इसी कड़ी में सीबीआई (CBI) पूछताछ के बाद सिसोदिया ने दावा किया कि उन पर AAP छोड़ने का दबाव डाला गया। जाँच एजेंसी ने इन दावों को खारिज करते हुए कहा है कि पूछताछ वैधानिक और पेशेवर तरीके से हुई है।

सिसोदिया ने सोमवार (17 अक्टूबर 2022) को सीबीआई के दफ्तर में हाजिरी लगाई थी। सीबीआई ने उनसे करीब 9 घंटे तक पूछताछ की थी। इसके बाद सिसोदिया ने जाँच एजेंसी पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा कि CBI ने उन पर आम आदमी पार्टी को छोड़ने का दबाव बनाया।

उन्होंने मीडियाकर्मियों से कहा कि घोटाले का तो कोई मसला ही नहीं है। सारा केस फर्जी है। सीबीआई पर आरोप लगाते हुए कहा, “आज 9 घंटे की पूछताछ के दौरान समझ गया कि कैसे पूरी साजिश की गई है। सीबीआई ने मेरे खिलाफ जो केस करवाया है, वह असल में दिल्ली में ऑपरेशन लोटस को कामयाब बनाने के लिए करवाया गया था। सीबीआई जैसी एजेंसी को असंवैधानिक तरीके से दबाव बनाने के लिए बीजेपी इस्तेमाल कर रही है।”

सिसोदिया ने कहा, “मुझ पर आम आदमी छोड़ने का दबाव बनाया गया। मुझसे कहा गया कि AAP छोड़ दो। ‘आप’ में क्यों हो? साथ ही मुझे बताया गया कि सत्येंद्र जैन पर कौन से सच्चे केस हैं, जब वह 6 महीने जेल रह सकते हैं, तो आप भी जेल में रह सकते हो। मैंने कहा कि मैं ‘आप’ को बीजेपी के लिए नहीं छोड़ूँगा। उन्होंने कहा कि वे मुझे सीएम बनाएँगे।”

सीबीआई ने एक बयान जारी कर सिसोदिया के दावों का खंडन किया है। एजेंसी ने कहा है, “दिल्ली की शराब नीति को लेकर चल रही जाँच के सिलसिले में सीबीआई ने आज (17.10.2022) मनीष सिसोदिया से पूछताछ की। एफआईआर में लगे आरोपों और जाँच के दौरान अब तक जुटाए गए सबूतों के आधार पर उनसे पूछताछ की गई। उनके बयानों का सत्यापन करने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।”

बयान में कहा गया है, “मीडिया में एक वीडियो शेयर किया गया है। इसमें सीबीआई कार्यालय से निकलने के बाद मनीष सिसोदिया कैमरे पर कह रहे हैं कि जाँच एजेंसी ने पूछताछ के दौरान उन पर आम आदमी पार्टी को छोड़ने का दवाब बनाया। इसी तरह उन्होंने कई और आरोप भी लगाए हैं। सीबीआई इन आरोपों का सिरे से खंडन करती है और इस बात को एक फिर से दोहराती है कि सिसोदिया से केवल प्राथमिकी में लगे आरोपों और जाँच के दौरान एकत्र किए गए सबूतों के आधार पर ही पूछताछ हुई है। कानून के मुताबिक, मामले की जाँच जारी रहेगी।”

गौरतलब है कि सिसोदिया को पूछताछ के लिए बुलाए जाने के बाद दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उनकी तुलना बलिदानी भगत सिंह से की थी। इस पर बलिदानी परिवार ने नाराजगी भी जताई थी। भगत सिंह के परिवारिक सदस्य हरभजन एस दत्त ने कहा था, “केजरीवाल का यह बयान न केवल भगत सिंह बल्कि सभी क्रांतिकारियों का अपमान है। वह सिसोदिया और सत्येंद्र जैन की तुलना भगत सिंह से कैसे कर सकते हैं।” इतना ही नहीं पूछताछ को गुजरात चुनावों से जोड़ा गया। आप समर्थकों का सीबीआई दफ्तर के बाहर जमावड़ा भी देखा गया। यह भी दावा किया गया कि सीबीआई ने सिसोदिया को गिरफ्तार करने के लिए बुलाया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केरल की वायनाड सीट छोड़ेंगे राहुल गाँधी, पहली बार लोकसभा लड़ेंगी प्रियंका: रायबरेली रख कर यूपी की राजनीति पर कॉन्ग्रेस का सारा जोर

राहुल गाँधी ने फैसला लिया है कि वो वायनाड सीट छोड़ देंगे और रायबरेली अपने पास रखेंगे। वहीं वायनाड की रिक्त सीट पर प्रियंका गाँधी लड़ेंगी।

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -