Tuesday, July 27, 2021
Homeराजनीतिदिग्विजय ने युवक से ₹15 लाख को लेकर पूछा सवाल, जवाब सुनकर भरी सभा...

दिग्विजय ने युवक से ₹15 लाख को लेकर पूछा सवाल, जवाब सुनकर भरी सभा में हुई किरकिरी

युवक का इतना कहना था कि मंच पर उपस्थित कॉन्ग्रेस नेताओं ने माइक को युवक से अलग कर दिया। फिर उन्होंने युवक को मंच से नीचे उतार दिया। दिग्विजय ने इसके बाद...

दिग्विजय सिंह का एक वीडियो ख़ूब वायरल हो रहा है। इस वीडियो में दिग्विजय सिंह रैली के मंच से भाषण देते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए दिग्विजय सिंह ने लोगों से पूछा कि क्या उनके खातों में 15 लाख रुपए आ गए? मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने सभा में से एक युवक को बुलाकर पूछा की क्या उसके खाते में 15 लाख रुपए आ गए हैं? युवक ने मंच पर आकर दिग्विजय की बोलती बंद कर दी। युवक ने मंच पर पहुँच कर सर्जिकल स्ट्राइक का ज़िक्र करते हुए कहा ‘मोदीजी ने आतंकवादियों को मारा।‘ नीचे दिए गए वीडियो में आप देख सकते हैं कैसे युवक ने दिग्विजय को मुँहतोड़ जवाब दिया।

युवक का इतना कहना था कि मंच पर उपस्थित कॉन्ग्रेस नेताओं ने माइक को युवक से अलग कर दिया। फिर उन्होंने युवक को मंच से नीचे उतार दिया। दिग्विजय ने इसके बाद अपना भाषण फिर से चालू किया। विपक्षी नेताओं के भाषण में उपस्थित लोगों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करना अब आम बात होती जा रही है। आज सोमवार (अप्रैल 22, 2019) को ही तेजस्वी यादव की रैली में उपस्थित कई लोगों ने न सिर्फ़ मोदी-मोदी के नारे लगाए बल्कि कहा कि वे तो तेजस्वी की सभा में हैलीकॉप्टर देखने आते हैं। इसका भी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया। ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की रैली में भी लोग मोदी की प्रशंसा कर चुके हैं।

दिग्विजय सिंह का उक्त वीडियो भोपाल की रैली का है। भोपाल में भाजपा ने दिग्विजय के ख़िलाफ़ साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को उतारकर चुनावी माहौल गरमा दिया है। 71 वर्षीय दिग्विजय ने साध्वी प्रज्ञा का भोपाल में स्वागत करते हुए एक वीडियो भी जारी किया, जिसमें उन्होंने माँ नर्मदा का जिक्र किया। साध्वी प्रज्ञा ने कॉन्ग्रेस सरकार द्वारा उन पर लगाए गए आतंकवाद के दाग को मुद्दा बनाया है और लोगों की सहानुभूति भी उनकी तरफ़ दिख रही है। 9 वर्षों तक जेल में रहीं साध्वी ने अपने ऊपर किए गए अत्याचारों को चुनावी मुद्दा बनाया है। हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने भी उनका खुला समर्थन किया और कहा कि कॉन्ग्रेस विरोधियों को फँसाने के लिए मनगढंत चार्ज लगाती है।

मध्य प्रदेश में साध्वी बनाम दिग्विजय मुक़ाबले के लिए दोनों पार्टियों ने कमर कस ली है। जब साध्वी प्रज्ञा ने दिग्विजय को ‘भगवा आतंकवाद’ का सूत्रधार बताया तो दिग्विजय ने पलटवार करते हुए कहा कि ‘हिन्दू आतंकवाद’ शब्द उन्होंने नहीं गढ़ा है। नामांकन भरने के बाद दिग्विजय ने कहा कि उनकी डिक्शनरी में हिंदुत्व शब्द है ही नहीं। साध्वी प्रज्ञा साफ़ कर चुकी हैं कि उन्हें आध्यात्मिक जीवन पसंद है लेकिन वो सिर्फ़ और सिर्फ़ भगवा आतंकवाद जैसे शब्द गढ़ने वालों को हराने के लिए ही राजनीति में आई हैं। दिग्विजय ने भी अब अपने ट्वीट्स में ‘वसुधैव कुटुम्बकम’ और सनातन धर्म की बातें करनी शुरू कर दी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कारगिल कमेटी’ पर कॉन्ग्रेस की कुण्डली: लोकतंत्र की सुरक्षा के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा राजनीतिक दृष्टिकोण का न हो मोहताज

हमें ध्यान में रखना होगा कि जिस लोकतंत्र पर हम गर्व करते हैं उसकी सुरक्षा तभी तक संभव है जबतक राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय किसी राजनीतिक दृष्टिकोण का मोहताज नहीं है।

असम-मिजोरम बॉर्डर पर भड़की हिंसा, असम के 6 पुलिसकर्मियों की मौत: हस्तक्षेप के दोनों राज्‍यों के CM ने गृहमंत्री से लगाई गुहार

असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने ट्वीट कर बताया कि असम-मिज़ोरम सीमा पर तनाव में असम पुलिस के 6 जवानों की जान चली गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,362FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe