Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिसंजय सिंह को दिनेश अरोड़ा ने दिए थे करोड़ों रुपए, ED ने कहा- AAP...

संजय सिंह को दिनेश अरोड़ा ने दिए थे करोड़ों रुपए, ED ने कहा- AAP सांसद के खिलाफ पुख्ता सबूत, कोर्ट ने 5 दिनों की रिमांड पर भेजा

ईडी को संजय सिंह और दिनेश अरोड़ा के बीच साफ तौर पर लेन-देन के पुख्ता सबूत मिले हैं। यह आरोप है कि सिंह ने अब खत्म हो चुकी शराब नीति को तैयार करने में अहम भूमिका निभाई थी और इसके लिए करोड़ों की रिश्वत ली थी।

आम आदमी पार्टी (आप) के सांसद संजय सिंह के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के पास पुख्ता सबूत है। ईडी के सूत्रों ने इसकी पुष्टि की है। संजय सिंह को बुधवार (4 सितंबर, 2023) को दिल्ली में उनके आवास पर 10 घंटे की लंबी छापेमारी के बाद गिरफ्तार किया गया था। उनकी ये गिरफ्तारी दिल्ली शराब नीति घोटाले के सिलसिले में हुई थी। इस गिरफ़्तारी ने राजनीतिक हलकों में भूचाल ला दिया है। वहीं दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने राज्यसभा सांसद संजय सिंह को 10 अक्टूबर तक 5 दिनों की रिमांड पर भेज दिया है।

जाँच से जुड़े सूत्रों के मुताबिक, ईडी का दावा है कि उसके पास इस बात के पुख्ता सबूत हैं कि संजय सिंह को इस केस में आरोपित से सरकारी गवाह बने दिनेश अरोड़ा से काफी रकम मिली थी। कथित तौर पर ईडी ने दोनों के बीच साफ तौर पर पैसे का लेन-देन पुख्ता किया है। यह आरोप है कि सिंह ने अब खत्म हो चुकी शराब नीति को तैयार करने में अहम भूमिका निभाई थी और इसके लिए करोड़ों की रिश्वत ली थी।

सूत्र बताते हैं कि ईडी के पास दिनेश अरोड़ा के आप सांसद संजय सिंह के पैसे लेने की बात कबूलने के अलावा अन्य बयान भी हैं। यही वजह है कि इस वाकए ने ईडी को जाँच का दायरा बढ़ाने के लिए केंद्रीय जाँच ब्यूरो (सीबीआई) को लिखने के लिए प्रेरित किया।

संजय सिंह की गिरफ्तारी ने आप और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के बीच पहले से ही चल रहे राजनीतिक विवाद को और हवा दे दी है। आप के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने इस गिरफ्तारी की निंदा करते हुए इसे पूरी तरह से अवैध करार दिया है।

सीएम केजरीवाल ने ये भी कहा कि ये आगामी 2024 के आम चुनावों को लेकर भाजपा की आशंका का नतीजा है। लोकसभा चुनावों में भाजपा को हार का डर है। उन्होंने ईडी की कार्रवाई को सत्तारूढ़ पार्टी का आखिरी हताश कोशिश कहा है। वो एमपी संजय सिंह गिरफ्तारी के बाद उनके परिवार से मिलने भी गए।

गौरतलब है कि पूर्व उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के बाद संजय सिंह की गिरफ्तारी दिल्ली शराब नीति मामले में दूसरी हाई-प्रोफाइल गिरफ्तारी है। संजय सिंह की गिरफ्तारी वाईएसआर कॉग्रेस पार्टी के लोकसभा सांसद मगुंटा श्रीनिवासुलु रेड्डी के बेटे राघव मगुंटा और कारोबारी दिनेश अरोड़ा को कथित शराब नीति घोटाले से संबंधित मनी लॉन्ड्रिंग मामले में सरकारी गवाह बनने की मंजूरी देने के तुरंत बाद हुई है।

एमपी सिंह ने अपनी गिरफ्तारी से पहले रिकॉर्ड किए गए एक वीडियो मैसेज में अपने खिलाफ लगाए गए आरोपों का जोरदार खंडन किया है। इसमें उन्होंने ईडी पर उन्हें बगैर किसी सबूत के गिरफ्तार करने का आरोप लगाया। उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखने का संकल्प लिया और कहा कि वह डरेंगे नहीं।

वहीं दूसरी तरफ इस राजनीतिक उथल-पुथल के बीच भाजपा ने आप नेताओं के खिलाफ शराब घोटाले के आरोपों को दिखाते हुए पोस्टर जारी किए। आप सांसद संजय सिंह की गिरफ्तारी के जवाब में विपक्षी गठबंधन ने भी केंद्र सरकार की आलोचना तेज कर दी।

बता दे कि ईडी ने बुधवार (5 अक्टूबर, 2023) को राउज एवेन्यू कोर्ट में आप सांसद संजय सिंह को पेश किया और 10 दिनों की रिमांड माँगी। हालाँकि, सिंह के वकील मोहित माथुर ने इसका विरोध किया। वहीं दिल्ली की राऊज एवेन्यू कोर्ट ने अब खत्म हो चुकी दिल्ली की आबकारी नीति या शराब घोटाला मामले में आम आदमी पार्टी के नेता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह को 10 अक्टूबर तक रिमांड पर भेज दिया है।

वकील माथुर ने कोर्ट को कहा कि जब जाँच एजेंसी को किसी को गिरफ्तार करने का मन होता है तो पुराने बयानों को निकाल लाते हैं। उन्होंने कहा, “मुख्य गवाह (दिनेश अरोड़ा) दोनों मामलों में आरोपित हैं और दोनों मामलों में सरकारी गवाह बनाए गए हैं।”

इसके बाद कोर्ट ने इस मामले में फैसला सुरक्षित रख लिया है। ये मामला लगातार सुलझ रहा है और राजनीतिक तनाव चरम पर है अब ये देखना बाकी है कि यह हालात दिल्ली की राजनीति पर क्या असर डालते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गलत वीडियो डालने वाले अब नहीं बचेंगे: संसद के अगले सत्र में ‘डिजिटल इंडिया बिल’ ला सकती है मोदी सरकार, डीपफेक पर लगाम की...

नरेंद्र मोदी सरकार आगामी संसद सत्र में डीपफेक वीडियो और यूट्यूब कंटेंट को लेकर डिजिटल इंडिया बिल के नाम से पेश किया जाएगा।

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -