Sunday, July 3, 2022
Homeराजनीतिसोनिया गाँधी और राहुल गाँधी को ED ने किया तलब, नेशनल हेराल्ड से जुड़े...

सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी को ED ने किया तलब, नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में बड़ी कार्रवाई

इससे पहले अप्रैल 2022 में, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नेशनल हेराल्ड मामले से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जाँच के सिलसिले में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से पूछताछ की थी।

प्रवर्तन निदेशालय ने बुधवार (1 जून, 2022) को नेशनल हेराल्ड से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में कॉन्ग्रेस के अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी और कॉन्ग्रेस सांसद राहुल गाँधी को तलब किया है। नेशनल हेराल्ड मामले में ईडी ने सोनिया गाँधी व राहुल गाँधी को नोटिस भेजा है।

वहीं समन पर कॉन्ग्रेस पार्टी की तरफ से तीखी प्रतिक्रिया आई है। नोटिस की खबर आते ही कॉन्ग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने आरोप लगाया कि सरकार उस मामले में कार्रवाई कर रही है जिसे 2015 में जाँच एजेंसी द्वारा बंद कर दिया गया था। सरकार बदले की भावना में अंधी हो गई है। हमें डराने के लिए ऐसा किया जा रहा है, लेकिन हम न डरेंगे और न झुकगें। डटकर इसका सामना करेंगे।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, कॉन्ग्रेस नेता और वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने आगे कहा कि ममता बनर्जी, फारूक अब्दुल्ला सहित सभी विपक्षी नेता केंद्रीय एजेंसियों के हमलों में हैं। सिंघवी ने कहा, “सभी कंपनियाँ कर्ज को इक्विटी में बदलकर बैलेंस शीट में सुधार करती हैं। भाजपा राजनीतिक विरोधियों को डराने के लिए कठपुतली एजेंसियों का उपयोग कर रही है। नेशनल हेराल्ड का इतिहास आजादी के दिनों से है।”

सिंघवी ने कहा, “2015 में, ईडी ने नेशनल हेराल्ड मामले को बंद कर दिया। लेकिन सरकार को यह पसंद नहीं आया और उसने संबंधित ईडी अधिकारियों को हटा दिया, अब नए अधिकारियों को लाया और मामले को फिर से खोल दिया गया। यह मुद्रास्फीति और अन्य बड़ी समस्याओं से ध्यान भटकाने के लिए है।”

इससे पहले अप्रैल 2022 में, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने नेशनल हेराल्ड मामले से जुड़ी मनी लॉन्ड्रिंग जाँच के सिलसिले में कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे से पूछताछ की थी।

गौरतलब है कि 2020 में, प्रवर्तन निदेशालय ने धन शोधन निवारण अधिनियम (PMLA) के तहत मुंबई के बांद्रा में सबसे प्रमुख संपत्तियों में से एक को कुर्क किया था। सैकड़ों करोड़ रुपए के बाजार मूल्य वाली उक्त संपत्ति को अवैध रूप से एसोसिएटेड जर्नल्स लिमिटेड (एजेएल) को आवंटित किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

8 लोग थे निशाने पर, एक डॉक्टर को वीडियो बना माँगनी पड़ी थी माफ़ी: उमेश कोल्हे के गले पर 5 इंच चौड़ा, 7 इंच...

उमेश कोल्हे के गले पर जख्म 5 इंच चौड़ा, 5 इंच लंबा और 5 इंच गहरा था। साँस वाली नली, भोजन निगलने वाली नली और आँखों की नसों पर भी वार किए गए थे।

सिर कलम करने में जिस डॉ युसूफ का हाथ, वो 16 साल से था दोस्त: अमरावती हत्याकांड में कश्मीर नरसंहार वाला पैटर्न, उदयपुर में...

अमरावती में उमेश कोल्हे की हत्या में उनका 16 साल पुराना वेटेनरी डॉक्टर दोस्त यूसुफ खान भी शामिल था। उसी ने कोल्हे की पोस्ट को वायरल किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
202,752FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe