Tuesday, July 16, 2024
Homeराजनीति'जिनके दाऊद इब्राहिम से कनेक्शन, उनको शिवसेना कैसे दे सकती समर्थन': एकनाथ शिंदे ने...

‘जिनके दाऊद इब्राहिम से कनेक्शन, उनको शिवसेना कैसे दे सकती समर्थन’: एकनाथ शिंदे ने बताई बगावत की वजह, निशाने पर संजय राउत भी

शिंदे ने अपने ट्वीट में बाला साहब ठाकरे के सिद्धांतों की याद दिलाते हुए मुंबई बम विस्फोट और दाऊद से जुड़े लोगों को शिवसेना से मिल रहे समर्थन पर सवाल खड़े किए हैं। उन्होंने ये भी बताया कि शिवसेना में जो दो फाड़ हुई है उसका कारण भी यही है कि शिवसेना ने ऐसे लोगों को अपना समर्थन दिया।

महाराष्ट्र में चल रहे सियासी घमासान के बीच शिवसेना के बागी विधायक एकनाथ शिंदे ने एक बार फिर से उद्धव ठाकरे कर निशाना साधा है। 26 जून 2022 (रविवार) को किए गए एक ट्वीट में उन्होंने बाला साहब ठाकरे के सिद्धांतों की याद दिलाते हुए मुंबई बम विस्फोट और दाऊद से जुड़े लोगों को शिवसेना से मिल रहे समर्थन पर सवाल खड़े किए हैं। इसी के साथ एकनाथ शिंदे के मनसे प्रमुख राज ठाकरे से भी जानकारी आ रही है।

एकनाथ शिंदे ने अपने ट्वीट में लिखा, “मुंबई बम ब्लास्ट में निर्दोषों की हत्या करने वाले और दाऊद इब्राहिम से रिश्ता रखने वालों का हिन्दू हृदय सम्राट बाला साहेब ठाकरे की शिवसेना कैसे समर्थन कर सकती है ? हमने अपने कदम इसी की खिलाफत में उठाए हैं। अगर हमें मौत भी आती है तो कोई दिक्क्त नहीं है। अपने इस ट्वीट में एकनाथ शिंदे ने संजय राऊत को टैग भी किया है। साथ ही ##MiShivsainik (मैं शिवसैनिक) का हैशटैग भी दिया है। एकनाथ के इस ट्वीट को संजय राऊत द्वारा बागी विधायकों को दी जा रही मौत और हिंसा की धमकियों का जवाब माना जा रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एकनाथ शिंदे ने जहाँ उद्धव सरकार के विरोध में मोर्चा खोल रखा है। वहीं उनके भाई व मनसे प्रमुख राज ठाकरे से फोन पर बात की है। उन्होंने कूल्हे की सर्जरी करवा कर अस्पताल से रविवार (26 जून 2022) को घर लौटे राज ठाकरे का हालचाल पूछा। फिलहाल जानकारी के मुताबिक राज ठाकरे की तबियत में सुधार हो रहा है।

इस बीच महाराष्ट्र के संजय राऊत का विरोध हो रहा है। कई स्थानों पर राऊत के पुतले जलाए गए हैं। सोशल मीडिया पर भी उनके खिलाफ ट्रेंड चल रहे हैं। ठाणे में एकनाथ शिंदे समर्थकों ने ‘एकनाथ आगे बढ़ो, हम तुम्हारे साथ हैं’ और ‘संजय राऊत हाय-हाय’ का नारा लगाया। ठाणे में विरोध प्रदर्शन में कुछ लोग खुद को बाला साहब का शिवसैनिक बताते हुए शिवसेना में हुई फूट का जिम्मेदार संजय राऊत को बताते दिखाई दे रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -