Saturday, May 21, 2022
Homeराजनीतिप्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में भी सरकारी के बराबर ही फीस: PM मोदी का बड़ा...

प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में भी सरकारी के बराबर ही फीस: PM मोदी का बड़ा ऐलान, कहा – देश में 8500 ‘जन औषधि केंद्र’, 800 दवाओं के दाम हुए कम

"आज देश में साढ़े आठ हजार से ज्यादा जन-औषधि केंद्र खुले हैं। हमारी सरकार ने कैंसर, टीबी, डायबिटीज, हृदयरोग जैसी बीमारियों के इलाज के लिए जरूरी 800 से ज्यादा दवाइयों की कीमत को भी नियंत्रित किया है।"

रूस से युद्ध के कारण यूक्रेन से लौटने वाले मेडिकल छात्रों को लेकर एक नई चर्चा ने जन्म ले लिया है, जिसमें भारत में मेडिकल कॉलेजों और वहाँ के भारी फीस को लेकर बातें की जा रही हैं। इसी बीच ‘जन औषधि दिवस’ पर सम्बोधन देते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बड़ा ऐलान किया है। दरअसल, मोदी सरकार ने तय किया है कि प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में आधी सीटों पर सरकारी मेडिकल कॉलेज के बराबर ही फीस लगेगी।

प्रधानमंत्री ने बताया कि कुछ दिन पहले ही सरकार ने ये बड़ा फैसला लिया है, जिसका बड़ा लाभ गरीब और मध्यम वर्ग के बच्चों को मिलेगा। बता दें कि मोदी सरकार ने बड़ी संख्या में मेडिकल सीटों का इजाफा किया है, लेकिन इसके बावजूद प्राइवेट मेडिकल कॉलेजों में भारी फीस के कारण लोग कजाखस्तान से लेकर यूक्रेन तक जाते रहे हैं। हाल ही में यूक्रेन से हजारों छात्रों को भारत सरकार वापस लेकर आई है, जो वहाँ युद्ध में फँस गए थे।

पीएम मोदी ने कहा कि जन-औषधि केंद्र तन को औषधि देते हैं, मन की चिंता को कम करने वाली भी औषधि हैं और धन को बचाकर जन-जन को राहत देने वाले केंद्र भी हैं। उन्होंने कहा कि दवा का पर्चा हाथ में आने के बाद लोगों के मन में जो आशंका होती थी कि, पता नहीं कितना पैसा दवा खरीदने में खर्च होगा, वो चिंता कम हुई है। उन्होंने जानकारी दी कि आज देश में साढ़े आठ हजार से ज्यादा जन-औषधि केंद्र खुले हैं। ये केंद्र अब केवल सरकारी स्टोर नहीं, बल्कि सामान्य मानवी के लिए समाधान केंद्र बन रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, “हमारी सरकार ने कैंसर, टीबी, डायबिटीज, हृदयरोग जैसी बीमारियों के इलाज के लिए जरूरी 800 से ज्यादा दवाइयों की कीमत को भी नियंत्रित किया है। सरकार ने ये भी सुनिश्चित किया है कि स्टंट लगाने और ‘Knee Implant’ की कीमत भी नियंत्रित रहे।” बता दें कि कोरोना संक्रमण आपदा आने के बाद स्वास्थ्य क्षेत्र को लेकर बहस तेज़ हो गई है। सरकार भी अगले किसी आपदा से निपटने के लिए पहले से ही तैयारी में है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

उद्धव का मंत्री, पवार का खास: अदालत ने भी माना ‘डी गैंग’ से नवाब मलिक के संबंध, ED ने चार्जशीट में बताया- मुंबई ब्लास्ट...

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने गंभीर आरोपों में गिरफ्तारी के बावजूद अपने जिस मंत्री नवाब मलिक को हटाने से इनकार किया था, उनके डी गैंग से लिंक होने की बात अदालत ने भी मानी है।

अब कहाँ गायब हो गया ज्ञानवापी ढाँचे में दिखा शिवलिंग? पूर्व महंत ने तस्वीरों से खोले राज़, हनुमान मूर्ति और कमल के फूल भी...

काशी विश्वनाथ मंदिर के पूर्व महंत डॉ कुलपति तिवारी ने ज्ञानवापी विवादित ढाँचे और शिवलिंग को लेकर पुरानी तस्वीरें दिखाते हुए बड़ा दावा किया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
187,690FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe