Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिअफरीदी बेइज्जत होने का मौका खोजते रहते हैं, उन्हें KG tutorials की ज़रूरत: गौतम...

अफरीदी बेइज्जत होने का मौका खोजते रहते हैं, उन्हें KG tutorials की ज़रूरत: गौतम गंभीर

बीजेपी सांसद ने अफरीदी पर तंज़ कसते हुए कहा कि अफरीदी 'गंभीर' (mature) होने से लगातार इंकार कर रहे हैं। अतः गौतम उनके लिए KG क्लास के tutorials ऑनलाइन मंगवा रहे हैं।

पूर्वी दिल्ली से भाजपा सांसद और टीम इण्डिया के विस्फोटक ओपनर रह चुके गौतम गंभीर ने पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी की ऑनलाइन चुटकी लेते हुए कहा कि अफरीदी खुद ही खुद को शर्मिंदा करने का तरीका ढूँढ़ लेते हैं। आईपीएल फ्रेंचाइज़ी केकेआर के कप्तान रह चुके सलामी बल्लेबाज़ ने यह ट्वीट अफरीदी के उस बयान के जवाब में किया, जिसमें अफरीदी ने हिंदुस्तान-पाकिस्तान की नियंत्रण रेखा (LOC) पर जाने का ऐलान किया था।

अफरीदी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट शेयर करते हुए गंभीर ने लिखा है, “दोस्तो, इस फोटो में शाहिद अफरीदी खुद शाहिद अफरीदी से पूछ रहे हैं कि उन्हें शाहिद अफरीदी को अगली बार शर्मिंदा करने के लिए क्या करना चाहिए जिससे कि यह साबित हो सके कि शाहिद अफरीदी ने परिपक्व होने से इनकार कर दिया है।” 

साथ ही अफरीदी पर तंज़ कसते हुए कहा कि अफरीदी ‘गंभीर’ (mature) होने से लगातार इंकार कर रहे हैं। अतः गौतम उनके लिए KG क्लास के tutorials ऑनलाइन मंगवा रहे हैं।

गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर के मुद्दे पर हर मोर्चे पर मुँह की खाने के बाद अब पाकिस्तान ने मैदान में उतारा है बूढ़े हो चुके पूर्व क्रिकेटरों को, जो लोगों को सोशल मीडिया पर बरगला रहे हैं। उन्हीं में से एक अफरीदी भी हैं।

शाहिद अफरीदी ने दावा किया है कि वे शुक्रवार (30 अगस्त) को दोपहर 12 बजे मजार-ए-कैद में मौजूद रहेंगे। पाकिस्तान उस घंटे को “कश्मीर का घंटा” (Kashmir Hour) के रूप में मना रहा है। उन्होंने अन्य लोगों से भी शामिल होने की अपील की। साथ ही उन्होंने जल्दी ही LOC पर जाने का भी ऐलान किया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुस्लिम फल विक्रेताओं एवं काँवड़ियों वाले विवाद में ‘थूक’ व ‘हलाल’ के अलावा एक और पहलू: समझिए सच्चर कमिटी की रिपोर्ट और असंगठित क्षेत्र...

काँवड़ियों के पास ये विकल्प क्यों नहीं होना चाहिए, अगर वो सिर्फ हिन्दू विक्रेताओं से ही सामान खरीदना चाहते हैं तो? मुस्लिम भी तो लेते हैं हलाल?

पुरी के जगन्नाथ मंदिर का 46 साल बाद खुला रत्न भंडार: 7 अलमारी-संदूकों में भरे मिले सोने-चाँदी, जानिए कहाँ से आए इतने रत्न एवं...

ओडिशा के पुरी स्थित महाप्रभु जगन्नाथ मंदिर के भीतरी रत्न भंडार में रखा खजाना गुरुवार (18 जुलाई) को महाराजा गजपति की निगरानी में निकाल गया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -