Thursday, September 29, 2022
Homeराजनीति'मैं तो क्या कोई और भी अनुच्छेद 370 वापस नहीं दिला सकता' : J&K...

‘मैं तो क्या कोई और भी अनुच्छेद 370 वापस नहीं दिला सकता’ : J&K में गुलाम नबी आजाद ने दिया स्पष्ट बयान, कॉन्ग्रेस को कहा- वो झूठे वादे करते हैं

गुलाम नबी आजाद ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, "आजाद जानते हैं कि क्या-क्या किया जा सकता है और क्या-क्या नहीं। मैं या कॉन्ग्रेस पार्टी या तीन क्षेत्रीय दल आपको अनुच्छेद 370 वापस नहीं दे सकते न ही ममता बनर्जी, न ही डीएमके और न ही शरद पवार।"

कॉन्ग्रेस के पूर्व नेता गुलाम नबी आजाद ने जम्मू कश्मीर की राजनीति में बिगुल बजाना शुरू कर दिया है। इसी सिलसिले में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने आर्टिकल 370 को लेकर बड़ा बयान दिया है।

गुलाब नबी आजाद ने कहा, “मैं तो क्या कोई भी आर्टिकल 370 को वापस नहीं दिला सकता है।” इसके अलावा, उन्होंने 10 दिन के अंदर अपनी राजनीतिक पार्टी का ऐलान करने की बात भी कही है।

दरअसल, गुलाम नबी आजाद रविवार (11 सितंबर 2022) को उत्तरी कश्मीर के बारामूला में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने अपने राजनीतिक इरादे स्पष्ट करते हुए कहा,

“आजाद जानते हैं कि क्या-क्या किया जा सकता है और क्या-क्या नहीं। मैं या कॉन्ग्रेस पार्टी या तीन क्षेत्रीय दल आपको अनुच्छेद 370 वापस नहीं दे सकते न ही ममता बनर्जी, न ही डीएमके और न ही शरद पवार।”

इस जनसभा में उन्होंने यह भी कहा,

“कुछ लोग कह रहे हैं कि मैं अनुच्छेद 370 के बारे में बात नहीं करता हूँ। मैं उन्हें बताना चाहता हूँ कि आजाद चुनावी फायदे के लिए लोगों को बेवकूफ नहीं बनाते हैं। अनुच्छेद 370 को बहाल करने के लिए लोकसभा में लगभग 350 वोटों की आवश्यकता होगी, जबकि राज्यसभा में 175 वोटों की आवश्यकता होगी। यह एक संख्या है जो किसी भी राजनीतिक दल के पास नहीं है या कभी भी मिलने की संभावना नहीं है। कॉन्ग्रेस 50 से कम सीटों पर सिमट गई है और अगर वे अनुच्छेद 370 को बहाल करने की बात करते हैं, तो वे झूठे वादे कर रहे हैं।”

आजाद ने कॉन्ग्रेस के आरोपों पर पलटवार करते हुए कहा,

“कुछ लोगों ने मुझ पर गृह मंत्री द्वारा लाए गए अनुच्छेद 370 को समाप्त करने के प्रस्ताव के पक्ष में मतदान करने का आरोप लगाया है। मैंने निरस्त करने के खिलाफ मतदान किया है और ये लोग जिन्हें संसद के कामकाज के बारे में कोई जानकारी नहीं है। वे कह रहे हैं कि मैंने अनुच्छेद 370 के खिलाफ मतदान किया था।”

इस जनसभा में गुलाम नबी आजाद ने यह भी कहा है कि वो 10 दिन के अंदर ही अपनी नई राजनीतिक पार्टी का ऐलान कर देंगे, जिसकी विचारधारा ‘आजाद’ होगी। उन्होंने कहा है कि उनकी पार्टी का एजेंडा जम्मू कश्मीर को फिर से राज्य का दर्जा दिलाना रहेगा। साथ ही उनकी पार्टी यहाँ के लोगों को रोजगार और जमीन अधिकार दिलाने के लिए संघर्ष करती रहेगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘सरकारी अधिकारी से लेकर PHD होल्डर, लाइब्रेरियन से लेकर तकनीशियन तक’: PFI में शामिल थे कई नामी लोग; ट्विटर ने अकॉउंट बंद किया, वेबसाइट...

प्रतिबंधित PFI के शीर्ष पदों को पूर्व सरकारी कर्मचारी, लाइब्रेरियन और पीएचडी होल्डर संभाल रहे थे। अब इसके सोशल मीडिया अकॉउंट बंद हो गए हैं।

दीपक त्यागी की सिर कटी लाश, हत्या पशुओं की गर्दन काटने वाले छूरे से: ‘दूसरे समुदाय की लड़की से प्रेम’ एंगल को जाँच रही...

मेरठ में दीपक त्यागी की गला काट कर हत्या। मृतक का दूसरे समुदाय की एक लड़की (हेयर ड्रेसर की बेटी) से प्रेम प्रसंग चल रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,030FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe