Sunday, May 29, 2022
Homeराजनीतिमाइक से अजान के विरोध में मनसे ने लाउडस्पीकर पर बजाना शुरू किया हनुमान...

माइक से अजान के विरोध में मनसे ने लाउडस्पीकर पर बजाना शुरू किया हनुमान चालीसा, राज ठाकरे को लेकर ओवैसी का ‘फतवा’

गुड़ी पाड़वा मेले में राज ठाकरे द्वारा अजान पर निशाना साधने पर AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने औरंगाबाद में मनसे अध्यक्ष को लेकर 'फतवा' जारी किया है।

मुंबई के घाटकोपर में ‘महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे)’ के कार्यालय में रविवार (3 अप्रैल, 2022) को पार्टी के कार्यकर्ताओं ने लाउडस्पीकर पर जोर-जोर से हनुमान चालीसा बजाना शुरू कर दिया है। समाचार एजेंसी एएनआई (ANI) ने घाटकोपर स्थित मनसे के कार्यालय का वीडियो शेयर किया है। वीडियो में पेड़ पर बाँधे गए दो लाउडस्पीकर दिखाई दे रहे हैं, जिनमें हनुमान चालीसा बज रहा है। इस दौरान कार्यालय के पास भारी संख्या में लोग इकट्ठे हो गए।

बताया जा रहा है कि ये सभी मनसे के समर्थक हैं। वहीं, कुछ लोग अपने हाथ में मनसे (MNS) का झंडा लिए हुए दिख रहे हैं। दरअसल, मनसे प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray) ने शनिवार (2 अप्रैल, 2022) को महाराष्ट्र सरकार को चेतावनी दी थी कि लाउडस्पीकर हटाओ वरना मस्जिद के सामने लाउडस्पीकर लगा दूँगा और हनुमान चालीसा बजाया जाएगा।

वहीं, गुड़ी पाड़वा मेले में राज ठाकरे द्वारा अजान पर निशाना साधने पर AIMIM के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने औरंगाबाद में मनसे अध्यक्ष को लेकर ‘फतवा’ जारी किया है। एमआईएम के सांसद इम्तियाज जलील ने बताया कि असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर कोई बयान नहीं देने का आदेश दिया है। स्थानीय मीडिया के मुताबि​क, एमआईएम सांसद इम्तियाज जलील ने एक निजी समाचार चैनल को बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे के किसी भी बयान का जवाब नहीं देने के लिए औरंगाबाद से ‘फतवा’ जारी किया है।

बता दें कि महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे ने गुड़ी पाड़वा (हिन्दु नववर्ष) के मौके पर शिवाजी पार्क में आयोजित एक रैली में कहा था कि मस्जिदों में लाउडस्पीकर इतनी तेज आवाज में क्यों बजाए जाते हैं? अगर इसे नहीं रोका गया तो मस्जिदों के बाहर स्पीकर पर अधिक तेज आवाज में हनुमान चालीसा बजाया जाएगा।

उन्होंने चेतावनी देने के बाद यह भी कहा था, “मैं प्रार्थना या किसी विशेष धर्म के खिलाफ नहीं हूँ। हर धर्म को प्रार्थना करने का अधिकार है, लेकिन मुझे अपने धर्म पर गर्व है। इसलिए इस बात का ख्याल जरूर रखना चाहिए कि आपकी किसी चीज से दूसरों को परेशानी न हो।” इसके साथ ही उन्होंने मुंबई और महाराष्ट्र के अन्य स्थानों की बदलती जनसांख्यिकी (Demography) पर बात करते हुए आरोप लगाया था कि पाकिस्तान और बांग्लादेश से बहुत सारे मुस्लिम इन जगहों पर आकर बस गए हैं और अगर पुलिस मुंबई की झुग्गी-झोपड़ियों में मदरसों की ठीक से जाँच करेगी, तो उन्हें बहुत कुछ पता चलेगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe