Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र में BJP नेता पर जानलेवा हमला, FIR भी दर्ज नहीं: पुलिस के सामने...

महाराष्ट्र में BJP नेता पर जानलेवा हमला, FIR भी दर्ज नहीं: पुलिस के सामने शिवसेना के गुंडों ने की मारने की कोशिश

सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा ने सीएम उद्धव ठाकरे के निजी आवास मातोश्री के बाहर शनिवार को हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद शिवसेना के कार्यकर्ता उनके आवास के सामने पहुँचकर हंगामा कर दिया था। बाद में पुलिस ने पति-पत्नी को हिरासत में लिया था।

महाराष्ट्र में भाजपा नेता किरीट सोमैया (Maharashtra BJP Leader Kirit Somaiya) पर शिवसेना (Shiv Sena) कार्यकर्ताओं ने शनिवार (23 अप्रैल 2022) को हमला कर घायल कर दिया है। सोमैया सांसद नवनीत राणा (Navneet Rana) और उनके पति विधायक रवि राणा (Ravi Rana) से मुलाकात करने खार थाना गए थे। इसके बाद उनकी कार पर पथराव कर दिया गया। हमले के बाद सोमैया देर रात बाद बांद्रा पुलिस स्टेशन शिकायत दर्ज पहुँचे, लेकिन उनका आरोप है कि पुलिस ने उनकी शिकायत दर्ज नहीं की।

किरीट सोमैया का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें उनकी कार का शीशा टूटा हुआ दिख रहा है और उनके चेहरे से खून की टपक कर रहा है। सोमैया ने ट्वीट कर इस हमले की जानकारी दी है। उन्होंने कहा, “शिवसेना के गुंडों ने खार थाने पर भारी पथराव किया। मेरी गाड़ी के शीशे टूटे और मैं घायल हो गया हूँ।”

इसके बाद बाद उन्होंने ट्वीट किया, “सीएम उद्धव ठाकरे के गुंडा लोगों को पुलिस ने खार पुलिस स्टेशन पर एकजुट होने दिया। मैं बाहर निकला तब गुंडा लोगों ने पत्थरबाजी की। कार की खिड़की के शीशे मेरी तरफ के टूट गए और मुझे भी पत्थर लगे। पुलिस की निगरानी में ये हमला हुआ।”

सोमैया ने कहा कि यह तीसरी बार उद्धव ठाकरे के गुंडों ने उन्हें मारने की कोशिश की है। सबसे पहले वासिम, फिर पुणे अब पुलिस स्टेशन (खार मुंबई) में। उन्होंने कहा कि खार थाने परिसर में 50 पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में शिवसेना के 100 गुंडों ने उन्हें मारने के लिए पथराव किया। उन्होंने पुलिस पर भी सवाल उठाया और कहा कि पुलिस ने उन्हें थाने में जमा होने दिया और एफआईआर भी दर्ज नहीं कर रही है।

इस हमले को लेकर उद्धव ठाकरे की हर तरफ आलोचना हो रही है। भाजपा नेता पर हमले के बाद राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कार्रवाई की माँग की है। उन्होंने ट्वीट कर कहा, “मुंबई और महाराष्ट्र में कानून और व्यवस्था पूरी तरह चरमरा चुकी है। खार पुलिस स्टेशन के ठीक सामने किरीट सोमैया के कार पर हमला हुआ है, जबकि पुलिस वहाँ मौजूद थी। यह बिल्कुल अस्वीकार्य है!”

फडणवीस ने कहा, “किरीट सोमैया पर हमले को लेकर मैं आज गृह सचिव और गृहमंत्री से बात करूँगा और राजनीतिक कार्यकर्ता के रूप में काम करने वाली पुलिस के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए एक पत्र भी लिखूँगा।” उन्होंने कहा कि सोमैया ने हमले की संभावना के बारे में खार पुलिस को पहले ही सूचित कर दिया था और Z+ सुरक्षा की माँग की थी, लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। इसके बजाय, पुलिस ने शिवसेना के गुंडों को राज्य सरकार के दबाव में हमला करने की अनुमति दी।

वहीं, पुलिस की लापरवाही को डीसीपी मंजूनाथ शिंगे ने नकार दिया है। उन्होंने कहा कि सोमैया की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर लिया गया है और इस मामले की निष्पक्ष जाँच की जाएगी।

उधर हमले के बाद भी किरीट सोमैया ने कहा कि वे फिर नवनीत राणा और रवि राणा से मिलने के लिए जाएँगे। उन्होंने उद्धव ठाकरे को चुनौती देते हुए कहा कि उन्हें रोक कर दिखाएँ। उन्होंने कहा कि जो नवनीत राणा का विरोध कर रहे हैं, वे शिवसैनिक नहीं, गुंडे हैं। इस सरकार का अंत आ गया है।

बता दें कि सांसद नवनीत राणा और उनके पति रवि राणा ने सीएम उद्धव ठाकरे के निजी आवास मातोश्री के बाहर शनिवार (23 अप्रैल 2022) को हनुमान चालीसा का पाठ करने की घोषणा की थी। इस घोषणा के बाद शिवसेना के कार्यकर्ता और प्रियंका चतुर्वेदी जैसी बड़ी नेता उनके आवास के सामने पहुँचकर हंगामा कर दिया था। उनके घर में घुसने की कोशिश की और धमकी दी। बाद में पुलिस ने पति-पत्नी को हिरासत में लिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किताब से बहती नदी, शरीर से उड़ते फूल और खून बना दूध… नालंदा की तबाही का दोष हिन्दुओं को देने वाले वामपंथी इतिहासकारों का...

बख्तियार खिजली को क्लीन-चिट देने के लिए और बौद्धों को सनातन से अलग दिखाने के लिए वामपंथी इतिहासकारों ने नालंदा विश्वविद्यालय को तबाह किए जाने का दोष हिन्दुओं पर ही मढ़ दिया। इसके लिए उन्होंने तिब्बत की एक किताब का सहारा लिया, जो इस घटना के 500 साल बाद लिखी गई थी और जिसमें चमत्कार भरे पड़े थे।

कनाडा का आतंकी प्रेम देख भारत ने याद दिलाया कनिष्क ब्लास्ट, 23 जून को पीड़ितों को दी जाएगी श्रद्धांजलि: जानिए कैसे गई थी 329...

भारत ने एयर इंडिया के विमान कनिष्क को बम से उड़ाने की बरसी याद दिलाते हुए कनाडा में वर्षों से पल रहे आतंकवाद को निशाने पर लिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -