Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीति'ड्रग्स फ्री असम' के लिए खुद CM सरमा ने सँभाली स्टीयरिंग, रोड रोलर से...

‘ड्रग्स फ्री असम’ के लिए खुद CM सरमा ने सँभाली स्टीयरिंग, रोड रोलर से जखीरे को कर दिया समतल: बताया- अब तक ₹2100 करोड़ के ड्रग्स हो चुके हैं जब्त

सीएम सरमा ने कहा, "हम नशामुक्त असम बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं जहाँ हमारे बच्चे नशीले पदार्थ के खतरे से सुरक्षित रहें और स्वस्थ जीवन जी सकें। नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ़ अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर, हम नशा मुक्त भारत के बड़े लक्ष्य के लिए खुद को फिर से प्रतिबद्ध करते हैं!"

असम मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने राज्य में ड्रग्स के इस्तेमाल के खिलाफ जंग छेड़ी हुई है। उन्होंने राज्य के बच्चों को इस बुरी लत से बचाने के लिए ड्रग फ्री असम का आह्वान किया। उन्होंने 26 जून को अंतराराष्ट्रीय स्तर पर मनाए जा रहे नशा निषेध दिवस पर अपना ट्वीट किया। साथ ही एक वीडियो लगाई जिसमें वो लाखों-करोड़ों की ड्रग्स को खुद रोड रोलर चलाकर कुचलते दिख रहे हैं।

हिमंता बिस्वा सरमा ने अपने ट्वीट में कहा, “असम ने ड्रग्स के खिलाफ जंग छेड़ रखी है। राज्य में नियमित अंतराल पर इस बुराई पर प्रहार किया जाता है। अब तक 2100 करोड़ से ज्यादा की ड्रग्स बरामद हो चुकी है। हम नशामुक्त असम बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं जहाँ हमारे बच्चे नशीले पदार्थ के खतरे से सुरक्षित रहें और स्वस्थ जीवन जी सकें। नशीली दवाओं के दुरुपयोग और अवैध तस्करी के खिलाफ़ अंतरराष्ट्रीय दिवस पर, हम नशा मुक्त भारत के बड़े लक्ष्य के लिए खुद को फिर से प्रतिबद्ध करते हैं!”

इसके अलावा अपने एक ट्वीट में उन्होंने जानकारी दी कि एसटीएफ असम द्वारा चलाए गए एक सफल अभियान में 900 ग्राम हेरोइन जब्त की गई जिसकी कीमत 4.5 करोड़ रुपए है। इस मामले में एक आरोपित को भी गिरफ्तार किया गया है।

गौरतलब है कि असम में इस समय नशीली दवाओं के खिलाफ हिमंता सरकार ने अभियान को तेज किया हुआ। ऐसे में जगह-जगह से नशीली दवाओं की जब्ती और तस्करों की गिरफ्तारी हुई है। एक हफ्ता पहले असम पुलिस ने शिवसागर और कार्वी आंगलोंग जैसे जिलों से 48 करोड़ रुपए की ड्रग्स को जब्त किया था। मामले में तीन आरोपित गिरफ्तार हुए थे। उससे पहले सिलचर में 210 करोड़ कीमत की 21 किलो हेरोइन जब्त की गई थी। वहीं असम के कछार में दो अलग अलग अभियानों में 9.5 करोड़ की ड्रग्स बरामद की गई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जगन्नाथ मंदिर के ‘रत्न भंडार’ और ‘भीतरा कक्ष’ में क्या-क्या: RBI-ASI के लोगों के साथ सँपेरे भी तैनात, चाबियाँ खो जाने पर PM मोदी...

कहा जाता है कि इसकी चाबियाँ खो गई हैं, जिस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सवाल उठाया था। राज्य में भाजपा की पहली बार जीत हुई है, वर्षों से यहाँ BJD की सरकार थी।

मांस-मछली से मुक्त हुआ गुजरात का पालिताना, इस्लाम और ईसाइयत से भी पुराना है इस शहर का इतिहास: जैन मंदिर शहर के नाम से...

शत्रुंजय पहाड़ियों की यह पवित्रता और शीर्ष पर स्थित धार्मिक मंदिर, साथ ही जैन धर्म का मूल सिद्धांत अहिंसा है जो पालिताना में मांस की बिक्री और खपत पर प्रतिबंध लगाने की मांग का आधार बनता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -