Monday, December 6, 2021
Homeबड़ी ख़बरसंकट में कॉन्ग्रेस: ₹511 करोड़ का अवैध लेनदेन, विदेशी बैंकों में 80 कम्पनियों का...

संकट में कॉन्ग्रेस: ₹511 करोड़ का अवैध लेनदेन, विदेशी बैंकों में 80 कम्पनियों का काले धन – एक ‘बड़ा नेता’ शक के घेरे में

CBDT ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया है कि दिल्ली के तुग़लक़ रोड स्थित एक महत्वपूर्ण और बड़े नेता के घर से 20 करोड़ रुपए नक़द दिल्ली स्थित एक प्रमुख पार्टी के मुख्यालय में भेजा गया।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के क़रीबियों के यहाँ हुई छापेमारी में करोड़ों के अवैध लेनदेन का पता चला है। इसी बीच केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड (CBDT) ने सनसनीखेज खुलासा करते हुए बताया है कि दिल्ली के तुग़लक़ रोड स्थित एक महत्वपूर्ण और बड़े नेता के घर से 20 करोड़ रुपए नक़द दिल्ली स्थित एक प्रमुख पार्टी के मुख्यालय में भेजा गया। बता दें कि तुग़लक़ रोड में कई वरिष्ठ नेताओं के आवास हैं और एजेंसी के इस ख़ुलासे से बाद चर्चाएँ ज़ोर पकड़ रही हैं कि वो कौन सा नेता था। सीबीडीटी ने देर रात बयान ज़ारी कर जानकारी दी कि भरोसेमंद जानकारियाँ एवं बड़े स्तर पर अवैध धन की सूचना के बाद इनकम टैक्स विभाग ने दिल्ली, भोपाल और इंदौर में छापेमारी की।

इनकम टैक्स विभाग ने कहा कि मध्य प्रदेश में राजनीति और व्यापार से जुड़े कई लोगों के बीच अवैध धन के एक बड़े रैकेट का भी पता चला है। यह एक सुव्यवस्थित रैकेट है, जिसमें कई तरह के बड़े लोग शामिल हैं और इस रैकेट के पास 281 करोड़ रुपए के अवैध धन का पता चला है। इसके अलावा 14.6 करोड़ रुपए नकद भी बरामद किए गए हैं, जिसका कोई हिसाब-किताब नहीं है।

इसके अलावा दिल्ली में छापेमारी के दौरान एक बड़े नेता के क़रीबी के यहाँ से 230 करोड़ रुपए के अवैध लेन-देन का पता चला है। यहाँ से टैक्स हेवेन कहे जाने वाले देशों में 80 कंपनियों की मौजूदगी के सुबूत भी मिले हैं। दिल्ली के पॉश इलाक़ों में कई बेनामी और अवैध संपत्ति का भी पता लगा है। इनकम टैक्स विभाग चुनाव आयोग के भी संपर्क में है, ताकि दोषियों पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन का मामला चलाया जा सके। 242 करोड़ रुपए के फ़र्ज़ी हेरफेर का मामला भी सामने आया है।

वहीं सोमवार (अप्रैल 8, 2019) को भी मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के ओएसडी प्रवीण कक्कड़ के घर छापेमारी ज़ारी रही। उनसे इंदौर में दिन भर पूछताछ की गई। भोपाल में कक्कड़ के क़रीबी प्रतीक जोशी और अश्विनी शर्मा के यहाँ से आयकर विभाग पाँच बक्से लेकर रवाना हुई। इन बक्सों में उनके ठिकानों से ज़ब्त कैश और महत्वपूर्ण दस्तावेज हो सकते हैं, जिससे आगे और भी ख़ुलासा होने की उम्मीद है।

आयकर टीम के अधिकारियों के पास नोट गिनने की भी मशीन थी, जिससे ज़ब्त कैश को जल्दी-जल्दी गिना जा सके। एनजीओ और आर्म्स डीलिंग समेत कई धंधों में अच्छा-ख़ासा दखल रखने वाला अश्विन शर्मा कक्कड़ का क़रीबी बताया जा रहा है। उसके पास आठ क़ीमती कारें मिली हैं। कई बैंक खातों और लॉकर्स का पता चला है। फिलहाल उसका पासपोर्ट ज़ब्त कर लिया गया है और बैंक खातों व लॉकर्स की गहन जाँच ज़ारी है।

रविवार (अप्रैल 7, 2019) को कक्कड़ के इंदौर स्थित घर से 30 लाख रुपए की ज्वेलरी और 2 लाख रुपया कैश मिला था। उनसे रात भर पूछताछ की गई। वहीं उनकी पत्नी को आयकर विभाग आईडीबीआई बैंक लेकर गई, जहाँ बैंक खतों व लॉकर्स के सम्बन्ध में जानकारियाँ हासिल की गईं।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने चुनाव आयोग को पत्र लिखकर शिकायत की है कि राज्य में वर्तमान पुलिस महानिदेशक के रहते लोकसभा के निष्पक्ष चुनाव नहीं हो सकते। उन्होंने पुलिस महानिदेशक को हटाने की माँग करते हुए राज्य के लिए अलग स्पेशल ऑब्जर्वर की नियुक्ति की माँग की। साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) की अतिरिक्त टुकड़ियाँ तैनात की जाए। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी इस मामले का जिक्र करते हुए कॉन्ग्रेस को घेरा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मुस्लिम बाबरी विध्वंस को नहीं भूलेंगे, फिर से बनेगी मस्जिद’: केरल के स्कूल में बाँटा गया ‘मैं बाबरी हूँ’ का बैज

केरल के एक 'सेंट जॉर्ज स्कूल' की कुछ तस्वीरें भी सामने आई हैं, जिसमें एक SDPI कार्यकर्ता बच्चों की शर्ट पर बाबरी वाला बैज लगाता हुआ दिख रहा।

‘लड़ाई जीत ली, पर युद्ध जारी रहना चाहिए’: ISI सरगना और खालिस्तानी के साथ राकेश टिकैत का वीडियो कॉल, PM मोदी को कहा गया...

कथित किसान नेता राकेश टिकैत एक अंतरराष्ट्रीय वेबिनार का हिस्सा बने, जिसमें खालिस्तानी से लेकर ISI से जुड़े लोग भी शामिल हुए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
141,998FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe