Thursday, July 29, 2021
Homeराजनीतिमॉब लिंचिंग के लिए BJP, RSS नहीं, कॉन्ग्रेस ज़िम्मेदार: मौलाना सुहैब क़ासमी

मॉब लिंचिंग के लिए BJP, RSS नहीं, कॉन्ग्रेस ज़िम्मेदार: मौलाना सुहैब क़ासमी

जमात-ए-उलेमा हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी से लिंचिंग से जुड़े हर उस मामले में सवाल पूछे जाने चाहिए जो उसके शासनकाल के दौरान घटित हुईं थीं।

इस्लामिक मदरसा जमात-ए-उलेमा हिंद ने देश भर में मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं के लिए कॉन्ग्रेस पार्टी को ज़िम्मेदार ठहराया है।

जमात-ए-उलेमा हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना सुहैब क़ासमी ने आज (13 जुलाई 2019) गुवाहाटी में एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि मॉब लिंचिंग की घटनाओं के लिए भाजपा या राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) नहीं, बल्कि कॉन्ग्रेस ज़िम्मेदार है

क़ासमी ने खुले तौर पर यह कहा कि देश के अलग-अलग हिस्सों में होने वाली हिंसा के लिए कॉन्ग्रेस ज़िम्मेदार है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी से लिंचिंग से जुड़े हर उस मामले में सवाल पूछे जाने चाहिए जो उसके शासनकाल के दौरान घटित हुईं थीं।

हाल ही में सूरत नगर निगम (एसएमसी) के एक कॉन्ग्रेस पार्षद असलम साइकिलवाला को पुलिस ने गुजरात के सूरत शहर के अठवा लाइन्स इलाक़े में हुई एक भगदड़ की घटना में हिरासत में लिया था। इस घटना में झारखंड में तबरेज़ अंसारी की कथित रूप से हत्या के ख़िलाफ़ रैली निकाल रहे प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर जमकर पथराव किया था। साइकिलवाला के ख़िलाफ़ आईपीसी की धारा 307 के तहत मामला दर्ज किया गया था।

तबरेज़ अंसारी की मौत के विरोध में एक हिंसक भीड़ द्वारा बस में आग लगाने की कोशिश के बाद एक अन्य कॉन्ग्रेसी नेता शमशेर आलम का नाम भी रांची की पुलिस ने FIR में दर्ज किया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘पूरे देश में खेला होबे’: सभी विपक्षियों से मिलकर ममता बनर्जी का ऐलान, 2024 को बताया- ‘मोदी बनाम पूरे देश का चुनाव’

टीएमसी प्रमुख ममता बनर्जी ने विपक्ष एकजुटता पर बात करते हुए कहा, "हम 'सच्चे दिन' देखना चाहते हैं, 'अच्छे दिन' काफी देख लिए।"

कराहते केरल में बकरीद के बाद विकराल कोरोना लेकिन लिबरलों की लिस्ट में न ईद हुई सुपर स्प्रेडर, न फेल हुआ P विजयन मॉडल!

काँवड़ यात्रा के लिए जल लेने वालों की गिरफ्तारी न्यायालय के आदेश के प्रति उत्तराखंड सरकार के जिम्मेदारी पूर्ण आचरण को दर्शाती है। प्रश्न यह है कि हम ऐसे जिम्मेदारी पूर्ण आचरण की अपेक्षा केरल सरकार से किस सदी में कर सकते हैं?

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,735FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe