Thursday, April 18, 2024
Homeराजनीति'जिहाद हमारे ऊपर फर्ज, हम करेंगे': जमीयत वाले मदनी बोले- योगी सरकार में दबे...

‘जिहाद हमारे ऊपर फर्ज, हम करेंगे’: जमीयत वाले मदनी बोले- योगी सरकार में दबे हुए महसूस कर रहे मुस्लिम

उन्होंने यह भी दावा किया कि मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने के लिए मुसलमानों की बात की जाती है। हर बात को सांप्रदायिक रंग दिया जाता है।

उत्तर प्रदेश में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं। इसी कड़ी में राज्य का चुनावी मूड भाँपने को विभिन्न मीडिया संस्थान कार्यक्रमों का आयोजन कर रहे हैं। ऐसा ही एक कार्यक्रम इंडिया टीवी की ओर से उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में बुधवार (29 सितंबर 2021) को आयोजित किया गया। इस दौरान जमीयत उलेमा-ए-हिंद के अध्यक्ष मौलाना महमूद मदनी ने प्रदेश की योगी सरकार पर जमकर हमला बोला।

इंडिया टीवी के ‘चुनाव मंच’ कार्यक्रम में मदनी ने कहा, “योगी सरकार में मुसलमान दबा हुआ महसूस कर रहा है। मुसलमानों को शारीरिक और मानसिक​ रूप से प्रताड़ित किया जा रहा है। मुसलमानों को इस दौर से निकालने की जिम्मेदारी सरकार की है।” उन्होंने यह भी दावा किया कि मुद्दों से जनता का ध्यान हटाने के लिए मुसलमानों की बात की जाती है। हर बात को सांप्रदायिक रंग दिया जाता है। उन्होंने कहा कि जो मुसलमानों के साथ होने का दावा करते हैं, वे भी मुसलमानों के साथ नहीं हैं। साथ ही दोहराया कि हिंदुस्तान में मुसलमानों को अपनी वफादारी साबित करने की जरूरत नहीं।

जमीयत उलेमा-ए-हिंद ने ‘जिहाद’ का भी बचाव किया। उन्होंने कहा कि जिहाद मुस्लिमों के ऊपर फर्ज है। वे इससे इनकार नहीं कर सकते। उन्होंने कहा, “हम जिहाद करेंगे। जिहाद हमारी जिम्मेदारी है।” मदनी ने कहा कि अगर मीडिया साथ दे तो लोगों को जिहाद का सही मकसद समझाया सकता है।

उन्होंने कहा कि मुसलमानों की सबसे बड़ी कमजोरी है कि वे लाइक माइंडेड लोगों को अपने साथ जोड़ने में असफल हो रहे हैं। इसके अलावा उनका खुद का भी नजरिया ऐसा है, जिसकी वजह से वे आपस में बँट जाते हैं। बाहर वालों को ताकत भी इसी रवैए की वजह से मिलती है। तालिबान को लेकर मदनी ने कहा, “अगर तालिबान किसी जगह आए हैं तो इस पर भारत को और भारत के लोगों को ऐतराज करने का हक है। लेकिन आप एक बार उसको देखिए तो कि क्या हो रहा है, मुसलमानों से यह सवाल करेंगे?”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सुरक्षा परिषद का स्थायी सदस्य बने भारत: एलन मस्क की डिमांड को अमेरिका का समर्थन, कहा- UNSC में सुधार जरूरी

एलन मस्क द्वारा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में भारत की स्थायी सदस्यता की दावेदारी का समर्थन करने के बाद अमेरिका ने इसका समर्थन किया है।

BJP ने बनाया कैंडिडेट तो मुस्लिमों के लिए ‘गद्दार’ हो गए प्रोफेसर अब्दुल सलाम, बोले- मस्जिद में दुर्व्यव्हार से मेरा दिल टूट गया

डॉ अब्दुल सलाम कहते हैं कि ईद के दिन मदीन मस्जिद में वह नमाज के लिए गए थे, लेकिन वहाँ उन्हें ईद की मुबारकबाद की जगह गद्दार सुनने को मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe