Thursday, May 30, 2024
Homeराजनीतिहेमंत सोरेन की पत्नी ने फर्जीवाड़ा कर खरीदी आदिवासियों की जमीन, डमी कंपनी बना...

हेमंत सोरेन की पत्नी ने फर्जीवाड़ा कर खरीदी आदिवासियों की जमीन, डमी कंपनी बना कर खपाया जा रहा कालाधन: पूर्व CM रघुवर दास का बड़ा खुलासा

बीजेपी नेता रघुवरदास ने इस मामले में कहा है कि वो इसको लेकर राज्यपाल से मिलकर बात करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने सीएम सोरेन को खुले मंच पर बहस की चुनौती दी है।

खनिज पट्टा के मामले में घिरे झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन पर गुरुवार (12 मई 2022) को निशाना साधते हुए राज्य के पूर्व सीएम और बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवरदास ने 2009 के एक केस को लेकर हमला किया है। सीएम हेमंत सोरेन की पत्नी पर रघुवर दास ने आदिवासियों की सैकड़ों एकड़ जमीनों को फर्जीवाड़ा करके खरीदने का आरोप लगाया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, बीजेपी के प्रदेश कार्यालय में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीजेपी के वरिष्ठ नेता ने आरोप लगाया कि हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना सोरेन ने झारखंड राज्य के कई जिलों में खुद को उसी संबंधित थाने का निवासी बताते हुए सैकड़ों एकड़ जमीनों को खरीदा। हेमंत सोरेन के मुताबिक, हेमंत सोरेन की पत्नी कल्पना मुर्मु सोरेन ओडिशा राज्य की आदिवासी वर्ग से आती हैं। उन्होंने साल 2009 में राँची के महत्वपूर्ण माने जाने वाले इलाके अरगोड़ा में कल्पना सोरेन ने 13 कट्टा, 14 छटाक और 17 कट्ठा व 8 छटाक आदिवासियों की जमीन को खरीदा था।

मनी लॉन्ड्रिंग की आशंका

पूर्व सीएम रघुवर दास ने कल्पना सोरेन पर वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाया है। उनका कहना है कि उनके द्वारा 13 कट्ठा 14 छटाक जमीन को लेकर मामले हैं। रघुवर दास कहते हैं कि जिस वक्त इस जमीन को खरीदा गया था तो उस वक्त इसका सरकारी मूल्य 34 लाख 93 हजार रुपए दिखाया गया है, लेकिन इसको बेचने की कीमत केवल 4,16,000 रुपए बताई गई थी। जबकि, दूसरी डीड 17 कट्ठा 8 छटाक को लेकर है। क्रय के क्रम में 5,25,000 रुपए बताया गया है।

बीजेपी नेता ने दावा किया कि इस रेट से ये जाहिर होता है कि विक्रेता को वास्तविक विक्रय मूल्य जो कि 78 लाख 93 हजार रुपए था, उसकी जगह ये केवल 941250 का ही भुगतान किया गया। ऐसे में यह सरकारी नियम के खिलाफ और मनी लॉन्ड्रिंग का केस लगता है।

बीजेपी नेता रघुवरदास ने इस मामले में कहा है कि वो इसको लेकर राज्यपाल से मिलकर बात करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने सीएम सोरेन को खुले मंच पर बहस की चुनौती दी है। रघुवरदास ने कल्पना सोरेन के साथ ही उनकी साली सरला मुर्मू पर भी आरोप लगाया है।

सीएनटी एक्ट के उल्लंघन का आरोप

रघुवर दास ने कल्पना सोरेन पर सीएनटी एक्ट के उल्लंघन का आरोप लगाते हुए बताया कि तत्कालीन भाजपा सरकार ने सीएनटी एक्ट के उल्लंघन के मामले में कार्रवाई करने का आदेश भी दिया था। लेकिन 2019 में जब सोरेन सीएम बने तो उन्होंने अपनी पॉवर का इस्तेमाल करते हुए इस मामले को अपने फेवर में बदल दिया। साल 2020 में लाइवस्टॉक फर्म का भी गठन किया गया था, जिसकी निदेशक कल्पना सोरेन हैं, इसमें उनकी 93 फीसदी से अधिक की हिस्सेदारी हैं। वहीं हेमंत सोरेन की साली सरला मुर्मू 6.6 प्रतिशत की हिस्सेदार हैं।

उक्त कंपनी को ही राँची के इंडस्ट्रियल एरिया में जमीन दी गई थी। इसके अलावा सरला मु्र्मू दो अन्य कंपनियों (शेल कंपनी होने का शक है) की निदेशक हैं। शक है कि इन दो कंपनियों के जरिए काले धन को खपाया जा रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो पुराना फोन आप यूज नहीं करते उसके बारे में मुझे बताइए… कहीं अपनी ‘दुकानदारी’ में आपकी गर्दन न नपवा दे न्यूजलॉन्ड्री वाला ‘झबरा’

अभिनंदन सेखरी ने बताया है कि वह फोन यहाँ बेघर लोगों को देने जा रहा है। ऐसे में फोन देने वाले को नहीं पता होगा कि फोन किसके पास जा रहा है।

कौन हैं पुणे के रईसजादे को बेल देने वाले एलएन दावड़े, अब मीडिया से रहे भाग: जिसने 2 को कुचल कर मार डाला उसे...

पुणे पोर्श कार के आरोपित को बेल देने वाले डॉक्टर एल एन दावड़े की एक वीडियो सामने आई है इसमें वो मीडिया से भाग रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -