Tuesday, February 7, 2023
Homeराजनीतिराजस्थान में झुंझुनू के DM उमर दीन खान ने दीपावली पर लगा दिया था...

राजस्थान में झुंझुनू के DM उमर दीन खान ने दीपावली पर लगा दिया था धारा 144, भारी विरोध के बाद बदलना पड़ा अपना ही आदेश

"झुँझनु के ज़िलाधीश उमरदीन खान का तुग़लकी फ़रमान, दीपावली के त्योहार पर धारा 144 लगा कर धार्मिक ऑडियो चलाने से ले कर जयकारा लगाने तक पर प्रतिबंध... खान साब को यह सब ईद और बारबफ़ात पर याद नहीं आया?"

राजस्थान के झुंझनू जिले में दीपावली पर धारा 144 लागू करने के आदेश को आख़िरकार संशोधित करना पड़ा है। संशोधन की जानकारी झुंझनू पुलिस ने अपने आधिकारिक हैंडल से जारी की है। 28 अक्टूबर 2021 को जिलाधिकारी झुंझनू द्वारा दिए गए आदेश का भारी विरोध हो रहा था। यह संशोधन जनभावना को देखते हुए लिया गया, ऐसा माना जा रहा है।

source- Rajasthan police

इस संबंध में पहला आदेश जारी होने के दो दिन बाद 30 अक्टूबर 2021 को जारी किए गए अपने नए आदेश में DM झुंझनू IAS उमर दीन खान ने बदलाव किए हैं। नए आदेश में पेट्रोल पंप, गैस गोदाम के साथ धर्मस्थलों और अस्पतालों के पास पटाखे फोड़ने की अनुमति नहीं है। इसी के साथ सभी को सुप्रीम कोर्ट के निर्देश का पालन करने को कहा गया है। नए आदेश में बंदूक आदि का प्रयोग वर्जित होगा। इसी के साथ धारदार हथियारों पर भी प्रतिबंध लगाया गया है।

इस से पहले 28 अक्टूबर 2021 (गुरुवार) को झुंझनू जिले में दीपावली त्यौहार के चलते धारा 144 लागू करने के आदेश जारी किए गए थे। इस बात की जानकारी झुंझनू पुलिस ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से भी प्रकाशित की थी। ट्वीट में यह भी बताया गया था कि आदेश जिलाधिकारी झुंझनू उमर दीन खान द्वारा दिया गया है। जिलाधिकारी झुंझनू IAS उमर दीन खान राजस्थान कैडर के 2008 बैच के अधिकारी हैं। इस से पहले वो राजस्थान परिवहन में एक्सक्यूटिव डायरेक्टर ट्रैफिक थे।

कुछ ही समय में 28 अक्टूबर 2021 का आदेश सोशल मीडिया पर वायरल हो गया था। इसी के साथ इस पर भारी विरोध भी होने लगा था। राजस्थान में अजमेर के डिप्टी मेयर नीरज जैन ने इस पर कड़ी आपत्ति दर्ज करवाई थी। उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा – “झुँझनु के ज़िलाधीश उमरदीन खान का तुग़लकी फ़रमान, दीपावली के त्योहार पर धारा 144 लगा कर धार्मिक ऑडियो चलाने से ले कर जयकारा लगाने तक पर प्रतिबंध!! ऐसा तो मुग़ल शासन में भी कभी नहीं हुआ जैसा आदेश दीपावली पर गहलोत सरकार के शासन में हुआ है! खान साब को यह सब ईद और बारबफ़ात पर याद नहीं आया?”

सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने भी इस आदेश का विरोध किया था। उन्होंने राजस्थान के हालात मुगल काल से भी बुरे बताए थे।

उन्होंने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था – “झुंझुनू, राजस्थान के DM उमर दीन खान ने 1- 6 नवंबर को दीपावली पर जिले में धारा 144 लगाई, धार्मिक गाने-नारे पर रोक। राजस्थान में मुगल राज से बुरी स्थिति।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आफताब ने श्रद्धा की हड्डियों को पीस कर बनाया पाउडर, जला डाला चेहरा, डस्टबिन में डाल दी थी आँतें, ₹2000 की ब्रीफकेस में पैक...

आफताब ने पुलिस को यह भी बताया है कि उसने जिस दिन श्रद्धा की हत्या की थी। उसी दिन श्रद्धा के अकांउट से अपने अकाउंट में 54000 रुपए भेजे थे।

‘मैं रामचरितमानस को नहीं मानती, तुलसीदास कोई संत नहीं’: सपा MLA को तुलसीदास के ग्रन्थ से दिक्कत, कहा – हिम्मत है तो मेरी ताड़ना...

सपा विधायक पल्लवी पटेल ने कहा है कि वह रामचरितमानस को नहीं मानती हैं और इसमें शूद्र शब्द हटाने के लिए आंदोलन करेंगी। उनके लिए तुलसीदास संत नहीं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
244,281FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe