Sunday, January 23, 2022
Homeराजनीतिएक-दूसरे को ही पीट रहे रहे कॉन्ग्रेसी: कर्नाटक में अध्यक्ष शिवकुमार ने मारा थप्पड़,...

एक-दूसरे को ही पीट रहे रहे कॉन्ग्रेसी: कर्नाटक में अध्यक्ष शिवकुमार ने मारा थप्पड़, राजस्थान में भी हाथापाई

यह पहली बार नहीं है जब शिवकुमार ने अपना आपा खोया हो। इसके पहले भी वो अपने समर्थकों को ही सेल्फी लेने के लिए थप्पड़ मार चुके हैं।

कर्नाटक कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष डीके शिवकुमार का एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। इसमें वह अपनी ही पार्टी के एक कार्यकर्ता को थप्पड़ मारते दिख रहे हैं। शिवकुमार का कहना है कि Covid-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन होने पर उन्हें गुस्सा आया था। लेकिन सोशल मीडिया पर लोग इसे कॉन्ग्रेसी नेता का अहंकार बता रहे हैं।

घटना मांड्या की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री मादेगौड़ा के स्वास्थ्य की जानकारी लेने के लिए शिवकुमार मांड्या गए हुए थे। वायरल वीडियो में एक व्यक्ति उनके साथ चलता और उनके कंधे पर हाथ रखने की कोशिश करता दिख रहा है। इससे नाराज होकर शिवकुमार उस व्यक्ति को थप्पड़ मार देते हैं।

वीडियो वायरल होने पर शिवकुमार ने सफाई देते हुए कहा कि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न होने के कारण उन्हें गुस्सा आ गया था। जब शिवकुमार को यह पता चला कि उनका वीडियो मीडिया के पास है तो उन्होंने वीडियो डिलीट करने की माँग भी की।

हालाँकि यह पहली बार नहीं है जब कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता शिवकुमार ने अपना आपा खोया हो। इसके पहले भी वो अपने समर्थकों को ही सेल्फी लेने के लिए थप्पड़ मार चुके हैं। 2018 में कॉन्ग्रेस के चुनाव प्रचार के दौरान बेल्लारी में उन्होंने एक आदमी को थप्पड़ मार दिया था, क्योंकि वह उनके साथ सेल्फी लेना चाहता था।

राजस्थान में भी कॉन्ग्रेसियों के आपस में उलझने और हाथापाई का मामला सामने आया है। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार राजसमंद में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदेश स्तरीय विरोध प्रदर्शन को लेकर बैठक बुलाई गई थी। इसी दौरान युवा कॉन्ग्रेस जिला उपाध्यक्ष दिलीप जोशी ने पार्टी पर कार्यकर्ताओं की अनदेखी का आरोप लगाया। इसके कारण विवाद इतना बढ़ गया कि हाथापाई की नौबत आ गई। राजसमंद के पार्टी प्रभारी पुष्पेंद्र भारद्वाज ने दिलीप जोशी को बाहर निकालने के आदेश दिए और उनके साथ धक्का-मुक्की की गई।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

30+ FIR, मुख़्तार अंसारी से गैंगवार, पलट जाते थे गवाह: कभी दाऊद का करीबी था MLC बृजेश सिंह, योगी राज में काट रहा जेल

बृजेश के आपराधिक जीवन की शुरुआत अपने पिता की मौत का बदला लेने से हुई थी। 1984 में हुई इस घटना के बाद उसने 6-7 लोगों को लगातार दो साल में मारा था।

‘नसरूल अंकल ने अपनी सू-सू मेरी सू-सू में डाला’: 4 साल की बच्ची की आपबीती, पुलिस पर पीड़ित परिवार की पिटाई के आरोप

नसरूल पर दिल्ली में 4 साल की लड़की से रेप का आरोप। पीड़ित परिवार का कहना है कि पुलिस ने उन्हें पीटा। गीता कॉलोनी का मामला। ग्राउंड रिपोर्ट।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
152,899FollowersFollow
413,000SubscribersSubscribe