Friday, April 12, 2024
Homeराजनीतिशाह फैसल ने कहा 'कश्मीर भभक उठेगा' और शुरू हो गई पत्थरबाजी: रायटर्स के...

शाह फैसल ने कहा ‘कश्मीर भभक उठेगा’ और शुरू हो गई पत्थरबाजी: रायटर्स के पत्रकार का दावा

देवज्योत घोषाल ने जम्मू-कश्मीर को लेकर लम्बा-चौड़ा थ्रेड लिखते हुए पाकिस्तानी राग अलापा है। दावा किया है कि कश्मीर में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं है। एक चिंगारी की ज़रूरत है और आग लग जाएगी।

जम्मू-कश्मीर पर प्रोपेगंडा फैलाने वाले अंतररष्ट्रीय न्यूज़ पोर्टलों में सिर्फ़ बीबीसी और अल जज़ीरा ही शामिल नहीं है बल्कि रायटर्स भी इसमें बढ़-चढ़ कर हिस्सा ले रहा है। जम्मू-कश्मीर पर कई विवादित ख़बरें प्रकाशित होने के बाद सरकार ने बीबीसी और अलजज़ीरा से सबूत के रूप में वीडियो माँगे, लेकिन वे अभी तक इसे पेश करने में अक्षम रहे हैं। ट्विटर पर रायटर्स के एक पत्रकार ने जम्मू-कश्मीर को लेकर लम्बा-चौड़ा थ्रेड लिखते हुए पाकिस्तानी राग अलापा है।

इस थ्रेड में पत्रकार देवज्योत घोषाल ने दावा किया है कि कश्मीर में सबकुछ ठीक-ठाक नहीं है और राज्य पूरी तरह लॉकडाउन के शिकंजे में है। उन्होंने दावा किया है कि कश्मीर में एक चिंगारी की ज़रूरत भर है और आग लग जाएगी। राज्य में हालत सामान्य न होने का दावा करते हुए घोषाल ने शाह फ़ैसल के बारे में भी चौंकाने वाला दावा किया है। घोषाल ने लिखा कि अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त किए जाने के बाद वह श्रीनगर के दौरे पर गए।

रायटर्स के पत्रकार घोषाल के अनुसार, उन्होंने इस दौरान आईएएस से नेता बने शाह फैसल से बात की। पत्रकार ने जम्मू-कश्मीर में ‘संचार व्यवस्था पूरी तरह ठप्प’ होने का दावा करते हुए लिखा है कि सैटेलाइट टीवी चालू थे और कई लोगों को सरकार के निर्णय की ख़बर मिल चुकी थी। घोषाल से बातचीत में शाह फैसल ने कहा कि सुरक्षा कम होते ही कश्मीर के भभक उठने की संभावना है, क्योंकि लोग ख़ुद को छला महसूस कर रहे हैं। घोषाल ने दावा किया है कि इसके बाद पत्थरबाजी शुरू हो गई।

पत्रकार घोषाल ने लिखा कि कश्मीरी इस फैसले को लेकर गुस्सा में हैं और हताश हैं। इसके साथ ही उन्होंने पाकिस्तान के एजेंडे को भी खुल कर आगे बढ़ाया है। उन्होंने पाकिस्तान के कई नेताओं व पत्रकारों के सुर में सुर मिलाते हुए लिखा कि मोदी द्वारा देश को सम्बोधित किए जाने के अगले दिन श्रीनगर के ऊपर एक फाइटर जेट मँडरा रहा था। हालाँकि, अभी तक इस सम्बन्ध में कोई भी आधिकारिक बयान नहीं आया है। जम्मू-कश्मीर पर घोषाल के दावों से यह सवाल उठना लाजिमी है कि क्या अनजाने में ही उन्होंने शाह फैसल की पोल खोल दी है?

रायटर्स के पत्रकार की फैसल से बात होती है और वो धमकी देते हैं कि सुरक्षा में ढील होते ही लोगों का गुस्सा भभक कर सामने आएगा और फिर पत्थरबाजी शुरू हो जाती है, ऐसा ख़ुद पत्रकार ने दावा किया है। तो क्या शाह फैसल की धमकी और पत्थरबाजी के बीच कुछ सम्बन्ध है? शाह फैसल पहले भी धमकी देते रहे हैं। उनके हाल के बयान पर गौर करें तो पता चलता है कि उन्होंने ख़ुद को अलगाववादी घोषित कर दिया है। आईएएस अधिकारी से नेता बने शाह फैसल ने कहा कि आज जम्मू-कश्मीर में या तो आप कठपुतली हैं या फिर अलगाववादी। एक अन्य बयान में उन्होंने जम्मू-कश्मीर के लोगों को भड़काने की कोशिश करते हुए कहा कि वे तब तक ईद नहीं मनाएँगे जब तक बेइज्जती का बदला नहीं ले लेते।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बबुआ, माफी मत माँगना चाहे सिर कट जाए’: माँ की ‘आखिरी सीख’ ने बनाया आज का राजनाथ, कॉन्ग्रेसी राज में अंतिम संस्कार तक में...

केंद्रीय रक्षा मंत्री की अपनी माँ से आखिरी मुलाकात तब हुई थी जब उन्हें जेल ले जाया जा रहा था। माँ ने उनसे कहा था वो किसी कीमत पर माफी न माँगे।

जहाँ से निर्दलीय लड़ रहे रवींद्र सिंह भाटी के सोशल मीडिया में चर्चे, वह जमीन ‘मोदी मोदी’ के नारों से गूँज उठा: बाड़मेर में...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राजस्थान के सीमावर्ती क्षेत्र बाड़मेर में एक रैली की और कॉन्ग्रेस पर इस क्षेत्र को नजरअंदाज करने का आरोप लगाया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe