Tuesday, August 3, 2021
Homeराजनीति'गाँधीवादी हैं PM मोदी, हमेशा गरीबों की सोचते हैं' - तारीफ़ कर फँसे अब्दुल्लाकुट्टी,...

‘गाँधीवादी हैं PM मोदी, हमेशा गरीबों की सोचते हैं’ – तारीफ़ कर फँसे अब्दुल्लाकुट्टी, कॉन्ग्रेस लेगी एक्शन

अब्दुल्लाकुट्टी ने लिखा कि ताज़ा लोकसभा चुनाव में भाजपा की भारी जीत आम जनता के बीच पीएम मोदी की विकास योजनाओं की स्वीकार्यता का प्रतीक है। उन्होंने मोदी को लेकर मीडिया पर पक्षपाती होने का भी आरोप लगाया।

केरल के कन्नूर से सांसद रहे एपी अब्दुल्लाकुट्टी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की तारीफ़ की है। उन्होंने पीएम मोदी द्वारा किए जा रहे कार्यों की प्रशंसा में एक फेसबुक पोस्ट किया। इसके बाद नाराज़ कॉन्ग्रेस पार्टी ने उनसे स्पष्टीकरण माँगा है। अब्दुल्लाकुट्टी ने लिखा कि ताज़ा लोकसभा चुनाव में भाजपा की भारी जीत आम जनता के बीच पीएम मोदी की विकास योजनाओं की स्वीकार्यता का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी की सफलता का सबसे बड़ा राज उनकी गाँधीवादी विचारधारा है, जो उन्हें औरों से अलग बनाती है। इसके अलावा उन्होंने मोदी की स्वच्छ भारत योजना की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि इससे शहर, गाँव व कस्बों में साफ़-सफाई हुई है, कई टॉयलेट्स बने हैं और लोगों को खुले में शौच से मुक्ति मिली है।

अब्दुल्लाकुट्टी कन्नूर लोकसभा क्षेत्र से 2 बार जीत दर्ज कर चुके हैं। इसके अलावा वह कन्नूर विधानसभा क्षेत्र से विधायक भी रह चुके हैं। जानने वाली बात यह है कि कुछ वर्षों पहले तक सीपीएम में रहे अब्दुल्लाकुट्टी को पार्टी ने इसीलिए निकाल दिया था क्योंकि उस समय भी उन्होंने नरेन्द्र मोदी की प्रशंसा की थी। उन्हें 2009 में सीपीएम ने पार्टी का अनुशासन भंग करने का आरोप लगा कर निकाल दिया था। मोदी उस वक़्त गुजरात के मुख्यमंत्री थे। अब्दुल्लाकुट्टी ने मोदी को लेकर मीडिया पर पक्षपाती होने का भी आरोप लगाया। पूर्व सांसद ने कहा कि मीडिया व राजनीतिक विशेषज्ञों ने पक्षपाती रवैये से मोदी की जीत का विश्लेषण किया है।

2009 में गुजरात मॉडल की प्रशंसा करने वाले अब्दुल्लाकुट्टी ने अब कहा है कि राजनीतिक विश्लेषकों व नेताओं को पीएम मोदी की आलोचना करते वक़्त कुछ वास्तविकताएँ ध्यान में रखनी चाहिए। उन्होंने कहा कि मोदी ने 9.16 करोड़ परिवारों को टॉयलेट्स की सुविधा उपलब्ध कराई और 6 करोड़ परिवारों को एलपीजी गैस कनेक्शन भी दिए। गाँधीजी को याद करते हुए अब्दुल्लाकुट्टी ने बताया, “हमारे राष्ट्रपिता ने कहा था कि किसी भी योजना की रूपरेखा तैयार करने से पहले यह सोचना ज़रूरी है कि इससे सबसे ग़रीब व्यक्ति को क्या लाभ पहुँचेगा? मोदी ने इसे काफ़ी अच्छी तरह से वास्तविकता का रूप दिया है।

अब्दुल्लाकुट्टी ने स्मार्ट सिटी, बुलेट ट्रेन सहित मोदी की कई ड्रीम योजनाओं की तारीफ की। केरल कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष मुल्लापल्ली रामचंद्रन ने कहा कि उनके ख़िलाफ़ मज़बूत एक्शन लिया जाएगा और उन्हें नोटिस भेज दिया गया है। केरल में कॉन्ग्रेस के नव निर्वाचित सांसद के मुरलीधरन ने कहा कि किसी कॉन्ग्रेस के व्यक्ति द्वारा पीएम मोदी की प्रशंसा करना अस्वीकार्य है और ग़लत है। वरिष्ठ कॉन्ग्रेस नेता ने कहा इस मामले में कोई समझौता नहीं किया जा सकता। सीपीएम ने भी अब्दुल्लाकुट्टी के इस बयान पर तंज कसा है।

केरल यूथ कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष और नव निर्वाचित सांसद डीन कुरिआकोसे ने भी अब्दुल्लाकुट्टी के इस बयान का विरोध किया। कई नेताओं ने कहा कि अब्दुल्लाकुट्टी को कॉन्ग्रेस में लेकर आने वाले नेताओं को भी जवाब देना चाहिए। एक अन्य नव निर्वाचित सांसद राजमोहन उन्नीथन ने कहा कि अब्दुल्लाकुट्टी कभी भी पार्टी के प्रति वफादार नहीं रहे हैं और वो अपने लिए बेहतर मौके की तलाश में हैं। केरल में कॉन्ग्रेस की जीत के बावजूद इस तरह के बयान आना पीएम मोदी की पैन इंडिया लोकप्रियता को दर्शाता है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सागर धनखड़ मर्डर केस में सुशील कुमार मुख्य आरोपित: दिल्ली पुलिस ने 20 लोगों के खिलाफ फाइल की 170 पेज की चार्जशीट

दिल्ली पुलिस ने छत्रसाल स्टेडियम में पहलवान सागर धनखड़ हत्याकांड में चार्जशीट दाखिल की है। सुशील कुमार को मुख्य आरोपित बनाया गया है।

यूपी में मुहर्रम सर्कुलर की भाषा पर घमासान: भड़के शिया मौलाना कल्बे जव्वाद ने बहिष्कार का जारी किया फरमान

मौलाना कल्बे जव्वाद ने आरोप लगाया है कि सर्कुलर में गौहत्या, यौन संबंधी कई घटनाओं का भी जिक्र किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,696FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe