Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीतिअपने 'लव जिहादी' लीडर पर कार्रवाई कर सकती है CPM: केरल में ईसाई महिला...

अपने ‘लव जिहादी’ लीडर पर कार्रवाई कर सकती है CPM: केरल में ईसाई महिला से मुस्लिम नेता की शादी पर विवाद

"अगर वे प्यार में थे, तो शेजिन को पार्टी को सूचित करना चाहिए था। उन्होंने पार्टी इकाई या संगठन में किसी से बात नहीं की। यह आरोप कि सीपीएम ने दोनों की मदद की थी, सच नहीं है।"

केरल में एक वामपंथी नेता और ईसाई महिला की शादी पर विवाद खड़ा हो गया है। मामले के तूल पकड़ने के बाद राज्य की सत्ताधारी भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) इस नेता पर कार्रवाई करने को लेकर विचार कर रही है। रिपोर्टों के अनुसार ईसाई महिला के रिश्तेदारों ने केरल के कोझीकोड की सीपीआई (एम) इकाई के नेता और DYFI कन्नोथ क्षेत्र के सचिव शेजिन पर ‘लव जिहाद’ का आरोप लगाया है। इसके बाद पार्टी ने इस मुस्लिम नेता के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की बात कही है।

शेजिन कोडनचेरी के रहने वाले हैं। उन पर थेयापारा की रहने वाली ज्योत्सना मैरी जोसेफ को भगा ले जाने और फिर शादी करने का आरोप है। ज्योत्सना मैरी जोसेफ सऊदी अरब में नर्स का काम करती थी। बताया जाता है यह कपल सात महीने से रिलेशनशिप में था। जानकारी के मुताबिक ज्योत्सना की किसी और के साथ शादी फिक्स हो गई थी। वह सगाई से दो हफ्ते पहले अपने घर केरल आई थी। लेकिन शेजिन से शादी करने के लिए उसने अपना घर छोड़ दिया।

इसके बाद ज्योत्सना के माता-पिता ने कोडनचेरी पुलिस में बेटी के लापता होने की शिकायत दर्ज कराई। जब पुलिस ने माकपा नेता के खिलाफ कार्रवाई नहीं की तो परिजन और स्थानीय लोगों ने थाने तक मार्च निकाला। रिश्तेदारों और स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि यह शादी ‘लव जिहाद’ है। हालाँकि ज्योत्सना का कहना है कि उसने अपनी मर्जी से शादी की है। लेकिन, उसके परिवार का आरोप है कि दबाव के कारण ज्योत्सना ऐसा कह रही है। इस बीच, शेजिन और ज्योत्सना मंगलवार (12 अप्रैल, 2022) को थमारसेरी कोर्ट में पेश हुए। कोर्ट ने उन्हें साथ रहने की इजाजत दे दी।

स्थानीय लोगों और रिश्तेदारों द्वारा सीपीआई (एम) पर शेजिन का साथ देने का आरोप लगाने के बाद पार्टी की कोझीकोड इकाई कार्रवाई करने पर विचार कर रही है। शेजिन को पार्टी से निलंबित किया जा सकता है।

सीपीआई (एम) के जिला सचिवालय के सदस्य जॉर्ज एम थॉमस ने बताया कि पार्टी शेजिन के खिलाफ कार्रवाई की तैयारी में है, क्योंकि उन्होंने क्षेत्र में मुस्लिमों और ईसाइयों के बीच सांप्रदायिक सद्भाव में बाधा पैदा करने की कोशिश की। उन्होंने आगे कहा, “अगर वे प्यार में थे, तो शेजिन को पार्टी को सूचित करना चाहिए था। उन्होंने पार्टी इकाई या संगठन में किसी से बात नहीं की। यह आरोप कि सीपीएम ने दोनों की मदद की थी, सच नहीं है।” पार्टी ने दावा किया कि इस शादी ने कम्युनिस्ट पार्टी के मुख्य मतदान क्षेत्र में दो समुदायों के बीच कलह पैदा कर दिया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -