Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'जो भारत के सैनिकों को रेपिस्ट बताता है, उसका बढ़िया इलाज कर दिया है':...

‘जो भारत के सैनिकों को रेपिस्ट बताता है, उसका बढ़िया इलाज कर दिया है’: कन्हैया कुमार को दिल्ली में पड़े थप्पड़, कभी बिहार में भी हर दूसरे दिन पड़े थे अंडे-मोबिल

सीपीआई में रहते हुए कन्हैया कुमार ने 2020 में जब बिहार में 'जन-गण-मन यात्रा' निकाली थी तब भी उन्हें इसी तरह के विरोध का सामना करना पड़ा था। जगह​-जगह उनके काफिले पर हमला हुआ था। लोग काफिले पर अंडा, स्याही, जला हुआ मोबिल और पत्थर तक फेंक रहे थे।

JNU छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार CPI छोड़ कॉन्ग्रेस में आ गए। बिहार की धरती छोड़ दिल्ली में राजनीति करने लगे। लेकिन उनके दिन नहीं बदले हैं। दिल्ली की नॉर्थ-ईस्ट सीट से लोकसभा चुनाव लड़ रहे कन्हैया कुमार को चुनाव प्रचार के दौरान एक युवक ने थप्पड़ जड़ दिए।

17 मई 2024 की इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार माला पहनाने के बहाने आए युवक ने कन्हैया को थप्पड़ मारे और स्याही फेंकी। इसके बाद कन्हैया कुमार के समर्थकों ने युवक को पकड़कर उसकी पिटाई कर दी। घटना उस्मानपुर थाना क्षेत्र के करतार नगर की है। आप की एक महिला पार्षद ने इस घटना को लेकर पुलिस से शिकायत की है।

कॉन्ग्रेस उम्मीदवार कन्हैया कुमार को आम आदमी पार्टी (AAP) का भी समर्थन हासिल है। उनका मुकाबला बीजेपी के मनोज तिवारी से है जो 2014 से इस सीट का लगातार प्रतिनिधित्व कर रहे हैं।

मीडिया रिपोर्टों के अनुसार कन्हैया कुमार पर हमला करने वाले युवक की पहचान दक्ष चौधरी के तौर पर सामने आई है। सोशल मीडिया में उसका भी एक वीडियो वायरल है। वीडियो में युवक कन्हैया कुमार को सबक सिखा देने की बात कर रहा है।

वीडियो में आरोपित युवक कहता है, “जिस कन्हैया कुमार ने नारे लगाए थे भारत तेरे टुकड़े होंगे, अफजल हम शर्मिंदा हैं तेरे कातिल जिंदा हैं, उसको हम दोनों ने चाँटे मारकर जवाब दिया है। भारत के टुकड़े कोई नहीं कर सकता, जब तक हमारे जैसे सनातनी जिंदा हैं।” वीडियो में आरोपित के साथ दिख रहा एक अन्य युवक कहता है, “उसे (कन्हैया कुमार) दिल्ली में नहीं घुसने देंगे जो भारत के सैनिकों को रेपिस्ट बताता है।” इसके बाद दक्ष चौधरी फिर कहता है, “बहुत बढ़िया इलाज कर दिया जो कहा था वो कर दिया है।” वीडियो में दोनों युवक को भारत माता की जय, इंडियन आर्मी जिंदाबाद, गोमाता की जय और जय श्री राम के नारे लगाते भी सुना जा सकता है।

गौरतलब है कि सीपीआई में रहते हुए कन्हैया कुमार ने 2020 में जब बिहार में ‘जन-गण-मन यात्रा’ निकाली थी तब भी उन्हें इसी तरह के विरोध का सामना करना पड़ा था। जगह​-जगह उनके काफिले पर हमला हुआ था। लोग काफिले पर अंडा, स्याही, जला हुआ मोबिल और पत्थर तक फेंक रहे थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा में ‘परंपरा’ की बातें, खुद की सत्ता वाले राज्यों में दोनों हाथों में लड्डू: डिप्टी स्पीकर पद पर हल्ला कर रहा I.N.D.I. गठबंधन,...

कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस ने अपने ही नेता को डिप्टी स्पीकर बना रखा है विधानसभा में। तमिलनाडु में DMK, झारखंड में JMM, केरल में लेफ्ट और पश्चिम बंगाल में TMC ने भी यही किया है। दिल्ली और पंजाब में AAP भी यही कर रही है। लोकसभा में यही I.N.D.I. गठबंधन वाले 'परंपरा' और 'परिपाटी' की बातें करते नहीं थक रहे।

शराब घोटाले में जेल में ही बंद रहेंगे दिल्ली के CM केजरीवाल, हाई कोर्ट ने जमानत पर लगाई रोक: निचली अदालत के फैसले पर...

हाई कोर्ट ने कहा कि निचली अदालत ने मामले के पूरे कागजों पर जोर नहीं दिया जो कि पूरी तरह से अनुचित है और दिखाता है कि अदालत ने मामले के सबूतों पर पूरा दिमाग नहीं लगाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -