Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीति'माँ-बहनों का सोना लेकर घुसपैठियों में बाँटना चाहती है कॉन्ग्रेस, अर्बन नक्सलियों के चंगुल...

‘माँ-बहनों का सोना लेकर घुसपैठियों में बाँटना चाहती है कॉन्ग्रेस, अर्बन नक्सलियों के चंगुल में पार्टी’: PM मोदी ने याद दिलाया ‘देश की संपत्ति पर पहला हक़ मुस्लिमों का’ वाला बयान

पीएम मोदी ने लोगों से सवाल पूछा, कि क्या सरकार को आपकी संपत्ति लेने का अधिकार है? 'मंगलसूत्र' सोने की कीमत का मुद्दा नहीं है, उनके जीवन के सपनों से यह जुड़ा हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार (21 अप्रैल 2024) को राजस्थान के बांसवाड़ा में जनसभा को संबोधित किया और कॉन्ग्रेस पर तीखा हमला बोला। पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस पर अब वामपंथियों और अर्बन नक्सलियों का कब्जा हो चुका है। वो उसके चंगुल में फंस गई है। पीएम मोदी ने कॉन्ग्रेस पर माओवाद अपनाने का आरोप लगाते हुए कहा कि कॉन्ग्रेस अब माँ-बहनों का सोना लेकर ‘घुसपैठियों को बाँटना’ चाहती है। पीएम ने कहा कि कॉन्ग्रेस ने ये बातें अपनी घोषणापत्र में की है। प्रधानमंत्री मोदी ने कॉन्ग्रेस पार्टी पर आदिवासियों के कल्याण की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया।

बांसवाड़ा में भाजपा प्रत्याशी महेंद्रजीत मालवीय के समर्थन में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “कॉन्ग्रेस अब वामपंथियों और अर्बन नक्सलियों के चंगुल में फँस गई है। कॉन्ग्रेस ने अपने मैनिफेस्टो में जो कहा है वह गंभीर और चिंताजनक है। यह माओवाद की सोच को धरती पर उतारने की कोशिश है। उन्होंने कहा है कि अगर कॉन्ग्रेस की सरकार बनी तो हर एक की संपत्ति का सर्वे किया जाएगा। हर व्यक्ति की जाँच की जाएगी। हमारी बहनों के पास कितना सोना है, इसकी जाँच की जाएगी। सरकारी कर्मचारियों के पास कितना पैसा है इसकी जाँच की जाएगी। उन्होंने यह भी कहा कि हमारी बहनों के पास जो गोल्ड है उसे समान रूप से वितरित किया जाएगा। क्या सरकार को आपकी संपत्ति लेने का अधिकार है? ‘मंगलसूत्र’ सोने की कीमत का मुद्दा नहीं है, उनके जीवन के सपनों से यह जुड़ा हुआ है।”

पीएम मोदी ने आगे कहा, “वो (कॉन्ग्रेस) सबकुछ ले लेंगे और सबको विपतरित कर देंगे। और पहले जब उनकी सरकार (मनमोहन सिंह सरकार) थी तो कहा था कि देश की संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। इसका मतलब ये संपत्ति इक्ट्ठा करके किसको बाटेंगे? जिनके ज्यादा बच्चे होंगे उनको बांटेंगे। घुसपैठियों को बाँटेगें…. क्या आपके कमाई का पैसा घुसपैठियों को दिए जाएँगे। आपको मंजूर है ये…ये कॉन्ग्रेस का मेनिफेस्टो कह रहा है। माताओं-बहने के सोने का हिसाब लेंगे और फिर उस संपत्ति को बाँट देंगे। और उनको बांटेंगे, जिनको मनमोहन सिंह की सरकार ने कहा था कि संपत्ति पर पहला अधिकार मुसलमानों का है। भाइयों बहनों ये अर्बन नक्सल की सोच, मेरी माँ-बहनों ये आपका मंगलसूत्र भी बचने नहीं देंगे, ये यहाँ तक जाएँगे।”

पीएम मोदी ने रैली के दौरान सवालिया लहजे में पूछा कि ‘आदिवासी समाज में क्षमता नहीं थी क्या? .. जरा सोचिए कॉन्ग्रेस की क्या मानसिकता है। 2014 में आपने इस सेवक को आर्शीवाद दिया। आज इस देश की पहली नागरिक, देश की राष्ट्रपति, आदिवासी समाज की एक बेटी हैं। यही असली भागीदारी है।” पीएम मोदी ने कहा कि यही बाबा साहब (आंबेडकर) की ‘स्पिरिट’ है।

उन्होंने आगे कहा, “पूरी दुनिया ने इसकी तारीफ की लेकिन कॉन्ग्रेस और विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ का विरोध किया। इससे पहले उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस ने हमेशा दलितों, आदिवासियों, अल्पसंख्यकों को डराया।”

पीएम मोदी ने कहा, ”आज भी ये कभी लोकतंत्र, संविधान, आरक्षण को लेकर भाँति-भाँति का झूठ फैला रहे है। भांति-भांति का डर दिखा रहे है लेकिन कॉन्ग्रेस को पता नहीं है यह भारत हर प्रकार से डर से बाहर निकल चुका है और इसलिये इनका झूठ नहीं चल पा रहा है।” PM ने कहा, ”आज देखिये देशभर में जिन-जिन राज्यों में आदिवासी आबादी अधिक है वहां कॉन्ग्रेस या तो सत्ता से बाहर है या फिर तीसरे चौथे नंबर पर है। कॉन्ग्रेस के विरूद्ध यह आदिवासी समाज का आक्रोश है। इस आक्रोश के ठोस कारण हैं।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मी लॉर्ड! भीड़ का चेहरा भी होता है, मजहब भी होता है… यदि यह सच नहीं तो ‘अल्लाह-हू-अकबर’ के नारों के साथ ‘काफिरों’ पर...

राजस्थान हाईकोर्ट के जज फरजंद अली 18 मुस्लिमों को जमानत दे देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि चारभुजा नाथ की यात्रा पर इस्लामी मजहबी स्थल के सामने हमला करने वालों का कोई मजहब नहीं था।

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -