Friday, July 23, 2021
Homeराजनीतिमहाराष्ट्र के पूर्व CM और ठाकरे सरकार के मंत्री अशोक चव्हाण कोरोना पॉजिटिव, राज्य...

महाराष्ट्र के पूर्व CM और ठाकरे सरकार के मंत्री अशोक चव्हाण कोरोना पॉजिटिव, राज्य के दूसरे मंत्री वायरस के शिकार

ड्राइवर के संपर्क में आने से अशोक चव्हाण में संक्रमण फैला है। पूर्व मुख्यमंत्री चव्हाण अक्सर मुंबई और मराठवाड़ा के बीच लगातार यात्रा करते रहे। टेस्ट पॉजिटिव मिलने के फौरन बाद उन्‍हें इलाज के लिए नांदेड से मुंबई लाया गया है।

महाराष्ट्र में आए दिन कोरोना पॉजिटिव के मामले तेज़ी से बढ़ते नज़र आ रहें है। अब महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मंत्रिमंडल में पीडब्ल्यूडी मिनिस्टर, अशोक चव्हाण 24 मई 2020 यानी रविवार को कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं।

सूत्रों के अनुसार, ड्राइवर के संपर्क में आने से उनमें संक्रमण फैला है। पूर्व मुख्यमंत्री चव्हाण अक्सर मुंबई और मराठवाड़ा के बीच लगातार यात्रा करते रहे। टेस्ट पॉजिटिव मिलने के फौरन बाद उन्‍हें इलाज के लिए नांदेड से मुंबई लाया गया है।

अशोक चव्हाण के कोरोना वायरस से पॉजिटिव होने पर कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेता अर्जुन मोढवाडिया ने ट्वीट कर उनके स्वस्थ होने की कामना की है।

उद्धव सरकार के ये दूसरे मंत्री हैं, जो कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। इससे पहले मंत्री जितेंद्र अव्हाड़ कोरोना संक्रमित पाए गए थे और उनके साथ 14 निजी स्टाफ भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे।

बता दें कि कोरोना वायरस के लक्षणों के बारे में जानने के बावजूद महाराष्ट्र के हाउसिंग मंत्री और एनसीपी नेता जितेंद्र आव्हाड ने इसे छिपाया था। उन्होंने ख़ुद इसका खुलासा किया है। कोरोना के शुरुआती लक्षण सामने आने के बावजूद जितेंद्र आव्हाड अपने विधानसभा क्षेत्र मुम्ब्रा में फ़ूड डिस्ट्रीब्यूशन प्रोग्राम में हिस्सा लेते रहे। जितेन्द्र आव्हाड ने बताया कि उन्होंने सोचा था कि उन्हें कुछ नहीं होगा। उन्होंने एक बड़ी भीड़ जुटा कर फ़ूड पैकेट्स बाँटना जारी रखा था। अब उन्होंने कहा कि उन्हें इसका पछतावा है और ऐसा नहीं करना चाहिए था।

दरअसल आव्हाड एक पुलिस अधिकारी के संपर्क में आए थे, जो बाद में कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। इस अधिकारी ने मुंब्रा क्षेत्र में तबलीगी जमात के सदस्यों को पकड़ने के लिए एक अभियान चलाया था। इसके तहत 13 बांग्लादेशी और 8 मलेशियाई नागरिकों को पकड़ा गया था।

इतना ही नहीं पुलिस अधिकारी के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद मुंब्रा पुलिस स्टेशन के 90 प्रतिशत से अधिक कर्मचारियों को होम क्वारंटाइन किया गया था।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस के फैलते संक्रमण की वजह से महाराष्ट्र की हालात काफ़ी खराब है। रविवार (24 मई, 2020) को महाराष्ट्र में कोरोना के मरीजों की संख्या 50 हजार के पार पहुँच गई। राज्य में कुल संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 50,231 तक पहुँच गई। वहीं मरने वालों का आंकड़ा बढ़कर 1635 हो गया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर की हुई ज्ञानवापी मस्जिद की 1700 फीट जमीन

काशी विश्‍वनाथ मंदिर प्रशासन और ज्ञानवापी मस्जिद पक्ष की ओर से पहले ही इस मामले पर सहमति बातचीत के दौरान बनी थी।

‘कौन है स्वरा भास्कर’: 15 अगस्त से पहले द वायर के दफ्तर में पुलिस, सिद्धार्थ वरदराजन ने आरफा और पेगासस से जोड़ दिया

इससे पहले द वायर की फर्जी खबरों को लेकर कश्मीर पुलिस ने उनको 'कारण बताओ नोटिस' जारी किया था। उन पर मीडिया ट्रॉयल में शामिल होने का भी आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
110,891FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe