Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीति'स्वामी प्रसाद मौर्या की शादीशुदा बेटी ने कर ली दूसरी शादी, छिपाई पहली शादी...

‘स्वामी प्रसाद मौर्या की शादीशुदा बेटी ने कर ली दूसरी शादी, छिपाई पहली शादी वाली बात’: ‘दामाद’ से मारपीट के मामले कोर्ट ने सपा सांसद को किया तलब, पत्रकार ने बयाँ किया दर्द

"तो भाजपा सांसद संघमित्रा मौर्या 2019 के अपने चुनावी हलफ़नामे में जब अपने विवाहित होने की जानकारी छुपाती है, और सिर्फ़ पिता का नाम देती हैं, उस वक़्त वो कथित तौर पर एक नहीं बल्कि 2-2 व्यक्तियों से वैवाहिक संबंध में बंधी हुई थीं।"

समाजवादी पार्टी के नेता स्वामी प्रसाद मौर्या की सांसद बेटी और उनके पूरे परिवार पर ‘दामाद’ से मारपीट और बिना तलाक के दूसरी शादी का आरोप है। उन पर लखनऊ के एक पत्रकार ने आरोप लगाया है कि उन्होंने खुद को चुनावी हलफनामे में अविवाहित दिखाया है, जबकि वो पहले से शादीशुदा थी और तलाक पर फैसला साल 2021 में आया था। संघमित्रा मौर्या पर आरोप लगाए हैं सुशांत गोल्फ सिटी के रहने वाले वादी दीपक कुमार स्वर्णकार ने, जो पेशे से पत्रकार बताए जा रहे हैं।

दीपक कुमार स्वर्णकार ने कोर्ट में बताया है कि संघमित्रा मौर्य ने न सिर्फ उन्हें धोखे में रखा, बल्कि चुनावी हलफनामे में भी उन्होंने बातों को छिपाया। इन गंभीर आरोपों में बिना तलाक लिए धोखाधड़ी करके दूसरी शादी करने वाली स्वामी प्रसाद मौर्य की पुत्री संघमित्रा के साथ ही मारपीट, गाली-गलौज, जान-माल की धमकी व साजिश रचने के आरोपों में स्वामी प्रसाद मौर्य, उनकी पत्नी व बेटे के खिलाफ कोर्ट में अपील की, जिसके बाद उन सभी को बतौर आरोपित कोर्ट में तलब किया गया है।

दीपक कुमार के वकील रोहित त्रिपाठी ने एएनआई से बातचीत में कहा, “2019 में उनकी शादी संघमित्रा से हुई थी। उन्होंने दावा किया कि संघमित्रा ने अपने पिछले पति से तलाक नहीं लिया था और अपनी पिछली शादी को छुपाया था। बाद में पता चला कि मुकदमा अभी भी लंबित था। जब संघमित्रा 2021 में सांसद बनीं तो उन्होंने मेरे वादी को घर से बाहर निकाल दिया। स्वामी प्रसाद मौर्य और कुछ लोगों ने उन्हें मारा और गालियां दीं।”

कौन हैं संघमित्रा और दीपक की क्या है कहानी?

दीपक स्वर्णकार का कहना है कि वो 2016 से संघमित्रा मौर्य के साथ लिव इन रिलेशनशिप में था। संघमित्रा ने बताया था कि उनका पहली शादी से तलाक हो चुका है. जिसके बाद साल 2019 में दीपक और संघमित्रा ने घर पर ही शादी कर ली थी, लेकिन 2019 के लोकसभा चुनाव में संघमित्रा ने चुनाव आयोग को दिए हलफनामे में खुद को अविवाहित बताया। बाद में पता चला कि संघमित्रा का 2021 में तलाक हुआ था।

उनकी पहली शादी लखनऊ के मशहूर डॉक्टर डॉ नवल किशोर शाक्य से प्रेम विवाह के तौर पर हुई थी। दोनों एक साथ एमबीबीएस की पढ़ाई करते थे। दोनों ने साल 2010 में शादी कर ली थी। हालाँकि साल 2012 से ही दोनों में अलगाव की खबरें आने लगी। दोनों का एक बच्चा भी है। संघमित्रा मौर्य ने 21 दिसंबर 2017 को लखनऊ में तलाक के लिए दायर किया और उन्हें 19 जनवरी 2021 को तलाक दे दिया गया। अब दीपक का कहना है कि संघमित्रा ने पहले तलाक की झूठी कहानी उनके साथ शेयर की थी और साल 2016 से ही उनके साथ लिव इन में रह रही थी। सांसद बनने के बाद उसने दीपक को घर से निकाल दिया।

सोशल मीडिया पर हंगामा

अवरिल द्विवेदी नाम के एक्स यूजर ने अपनी पोस्ट में लिखा है, “बाप तो नेवला था ही बेटी नागि% निकली। लखनऊ के दीपक कुमार स्वर्णकार नाम के युवक की अर्जी पर MP-MLA कोर्ट ने स्वामी प्रसाद की बेटी संघमित्रा मौर्य को धोखाधड़ी और स्वामी प्रसाद मौर्य समेत 5 को मारपीट धमकाने की धारा में 6 जनवरी को कोर्ट में तलब किया है। दीपक का आरोप है कि उसने संघमित्रा से शादी की थी और संघमित्रा ने बगैर उससे तलाक लिए दूसरा विवाह किया। उसने ये भी दावा किया कि संघमित्रा ने अपने चुनावी हलफनामे में खुद को अविवाहित बताया जो कि झूठ है। उसका आरोप है कि संघमित्रा के पिता स्वामी प्रसाद समेत अन्य ने उसके साथ मारपीट भी की।”

दीपक शुक्ला नाम के एक्स यूजर ने लिखा, “बधाई हो मौर्या जी, दामाद हुआ है।”

अनुपम मिश्रा नाम के यूजर लिखते हैं, “तो भाजपा सांसद संघमित्रा मौर्या 2019 के अपने चुनावी हलफ़नामे में जब अपने विवाहित होने की जानकारी छुपाती है, और सिर्फ़ पिता का नाम देती हैं, उस वक़्त वो कथित तौर पर एक नहीं बल्कि 2-2 व्यक्तियों से वैवाहिक संबंध में बंधी हुई थीं। उनके पहले पति डॉक्टर नवल किशोर शाक्य से तब तक उनका तलाक़ नहीं हुआ था और दीपक कुमार स्वर्णकार नामक पत्रकार ने लखनऊ की MP/MLA कोर्ट में सबूतों के साथ दावा किया है कि संघमित्रा ने उनसे 2019 में ही शादी कर ली थी। दिलचस्प बात ये है कि संगमित्रा से चुनाव हारे बदायूँ से सपा के पूर्व सांसद धर्मेंद्र यादव ने इस मामले को लेकर 2020 में इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका भी दायर की थी जो कि बाद में उन्होंने ‘बदली हुई राजनीतिक परिस्थितियों के मद्देनज़र’ वापस ले ली थी।”

मनोज शर्मा नाम के यूजर ने अपनी पोस्ट में लिखा, “लखनऊ के दीपक कुमार स्वर्णकार नाम के युवक की अर्जी पर एमपी-एमएलए कोर्ट ने स्वामी प्रसाद की बेटी संघमित्रा मौर्य को धोखाधड़ी और स्वामी प्रसाद मौर्य समेत 5 को मारपीट धमकाने की धारा में 6 जनवरी को कोर्ट में तलब किया है। दीपक का आरोप है कि उसने संघमित्रा से शादी की थी और संघमित्रा ने बगैर उससे तलाक लिए दूसरा विवाह किया। उसने ये भी दावा किया कि संघमित्रा ने अपने चुनावी हलफनामे में खुद को अविवाहित बताया जो कि झूठ है। उसका आरोप है कि संघमित्रा के पिता स्वामी प्रसाद समेत अन्य ने उसके साथ मारपीट भी की।”

इस मामले में अब एमपी-एमएलए कोर्ट के विशेष एसीजेएम अम्बरीश श्रीवास्तव ने आरोपियों को कोर्ट में पेश होने का आदेश देते हुए सुनवाई के लिए छह जनवरी 2024 की तारीख तय की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

स्वाति मालीवाल पर AAP का यूटर्न: पहले पार्टी ने कहा कि केजरीवाल के पीए विभव ने की बदतमीजी, अब महिला सांसद के आरोप को...

कल तक स्वाति मालीवाल के साथ खड़ा रहने का दावा करने वाली आम आदमी पार्टी ने अब यू टर्न ले लिया है और विभव कुमार के बचाव में खड़ी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -