Sunday, June 16, 2024
Homeराजनीतिकरोड़ों की मनी लॉन्ड्रिंग और 27 नकली कंपनियाँ: अनिल देशमुख के खिलाफ ED की...

करोड़ों की मनी लॉन्ड्रिंग और 27 नकली कंपनियाँ: अनिल देशमुख के खिलाफ ED की 7000 पन्नों की चार्जशीट, दोनों बेटों और सीए का भी नाम

चार्जशीट में आरोप है कि देशमुख और उनके परिवार ने 50 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग की है। प्रवर्तन निदेशालय ने देशमुख के अलावा उनके दो बेटों ऋषिकेश और सलिल देशमुख और देशमुख के सीए भाविक पंजनानी को भी इसमें आरोपित के तौर पर शामिल किया है।

राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी (NCP) के नेता और महाराष्ट्र (Maharashtra) के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil deshmukh) भ्रष्टाचार के मामले में लगातार फँसते जा रहे हैं। उनके खिलाफ जाँच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement directorate) ने बुधवार (29 दिसंबर 2021) को मनी लॉन्ड्रिंग और भ्रष्टाचार (Money laundering & Corruption) के मामले में सप्लीमेंट्री चार्जशीट स्पेशल PMLA कोर्ट में दायर कर दी है। ये चार्जशीट 7000 से अधिक पन्नों की है।

रिपोर्ट के मुताबिक, चार्जशीट में आरोप है कि देशमुख और उनके परिवार ने 50 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग की है। प्रवर्तन निदेशालय ने देशमुख के अलावा उनके दो बेटों ऋषिकेश और सलिल देशमुख और देशमुख के सीए भाविक पंजनानी को भी इसमें आरोपित के तौर पर शामिल किया है। हालाँकि, संदिग्ध लेनदेन के मामले में ईडी ने अभी तक सलिल और ऋषिकेश के बयानों को दर्ज नहीं किया है। इसके साथ ही ईडी ने आरोप पत्र में दावा किया है कि देशमुख परिवार 27 नकली कंपनियों को संचालित करता था।

ईडी ने चार्जशीट में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Param bir singh) और महाराष्ट्र के पूर्व चीफ सेक्रेटरी सीताराम कुंटे (Sitaram kunte) के भी बयानों को दर्ज किया है। इस मामले की छानबीन में ED को पता चला है कि देशमुख और उनके परिवार ने कई सारे सदिग्ध वित्तीय लेनदिन किए हैं, जिनके जबाव अभी तक नहीं मिल सके हैं।

शिवसेना (Shivsena) नेता अनिल परब (Anil Parab) भी शक के दायरे में

चार्जशीट में प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब (Anil Parab) की भूमिका पर भी सवाल खड़ा किया है। हालाँकि, इसमें बहुत कुछ तो ED ने नहीं कहा है, लेकिन शक जाहिर किया है कि 12 IPS अधिकारियों को अनिल देशमुख की सिफारिश के बाद मनचाही पोस्टिंग मिली है। अब इस बात की जाँच की जा रही है कि कहीं अनिल परब ने कुछ अधिकारियों के नाम की सिफारिश तो नहीं की?

नवंबर में गिरफ्तार किए गए थे अनिल देशमुख (Anil Deshmukh)

गौरतलब है कि 100 करोड़ रुपए से अधिक की वसूली के मामले में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम के बाद अप्रैल 2021 में CBI ने अनिल देशमुख के खिलाफ केस दर्ज किया था। इसके बाद ED ने भी उनके खिलाफ जाँच शुरू की थी। भ्रष्ट्राचार के मामले में देशमुख को 2 नवंबर 2021 को ईडी ने 12 घंटे तक पूछताछ करने के बाद गिरफ्तार कर लिया था। इस गिरफ्तारी से पहले जाँच एजेंसी ने अनिल देशमुख को पाँच बार पूछताछ के लिए बुलाया था, लेकिन उन्होंने इसे नजरअंदाज कर दिया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -