Sunday, September 19, 2021
Homeराजनीति14000 फॉलोअर वाले को बना दिया गुजरात का CM: कॉन्ग्रेस की बेतुकी बात, भूल...

14000 फॉलोअर वाले को बना दिया गुजरात का CM: कॉन्ग्रेस की बेतुकी बात, भूल गई भूपेंद्र पटेल के हाथों 1.17 लाख की हार

"पूरे देश में 14000 लोगों की पसंद भूपेंद्र पटेल गुजरात के नए मुख्यमंत्री होंगे। यह नरेंद्र मोदी की तरफ से गुजरात की जनता के मुँह पर करारा तमाचा है।"

भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर हमला करने के लिए मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस एक बार फिर बेहद अजीबोगरीब और बेतुका तर्क लेकर सामने आई है। भूपेंद्र पटेल को गुजरात का नया मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद, मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने दावा किया कि यह गुजरात के नागरिकों के चेहरे पर एक तमाचा है, क्योंकि भूपेंद्र पटेल के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर पर अच्छे-खासे फॉलोवर्स नहीं हैं।

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस का ट्वीट (साभार: Twitter)

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा, “पूरे देश में 14000 लोगों की पसंद भूपेंद्र पटेल गुजरात के नए मुख्यमंत्री होंगे। यह नरेंद्र मोदी की तरफ से गुजरात की जनता के मुँह पर करारा तमाचा है।”

मध्य प्रदेश कॉन्ग्रेस के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर उसकी काफी खिल्ली उड़ाई गई। नेटिजन्स ने उनके काफी मजे लिए। एक यूजर ने टिप्पणी की कि कॉन्ग्रेस पार्टी की मध्य प्रदेश इकाई ने सबसे कम आईक्यू का विश्व रिकॉर्ड बनाया।

एक अन्य यूजर ने कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी का संयुक्त आईक्यू एक औसत व्यक्ति के आईक्यू से कम है। वे चाहते हैं कि सीएम का चयन ट्विटर फॉलोअर्स के आधार पर हों।

कुछ लोग इस नतीजे तक पहुँच गए कि ट्विटर हैंडल खुद राहुल गाँधी चलाते हैं।

कॉन्ग्रेस पार्टी के एक आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए गए इस हास्यास्पद ट्वीट का लोगों ने खूब मजाक बनाया। लोगों को यह समझ में नहीं आ रहा था कि वो इतनी बेवकूफी भरी बातें कैसे कर सकते हैं।

एक यूजर ने लिखा, “फेसबुक और सोशल मीडिया फॉलोवर्स से अगर नेता चुना जाता तो सलमान खान और दलाई लामा पीएम होते अपने देशों में।”

भूपेंद्र पटेल गुजरात के नए सीएम होंगे। गाँधीनगर में भाजपा विधायक दल की बैठक के बाद यह घोषणा की गई। भूपेंद्र पटेल गुजरात के घाटलोडिया विधानसभा क्षेत्र से निर्वाचित प्रतिनिधि हैं। उन्होंने कॉन्ग्रेस पार्टी के शशिकांत पटेल के खिलाफ 1,17,000 से अधिक मतों के अंतर से जीत हासिल की थी। उनसे पहले इस सीट का प्रतिनिधित्व यूपी की राज्यपाल और गुजरात की पूर्व सीएम आनंदीबेन पटेल किया करती थीं।

भूपेंद्र पटेल सोमवार (13 सितंबर, 2021) को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। भूपेंद्र पटेल 2017 में पहली बार ही विधायक बने थे। उससे पहले वो संगठन के लिए कार्य करते थे। भाजपा विधायक दल में उनके नाम पर सहमति बनी। उनका नाम चौंकाने वाला भी है, क्योंकि उनके नाम की मीडिया में चर्चा तक नहीं थी। लंबे समय से RSS से जुड़े रहे भूपेंद्र पटेल गुजरात की विजय रुपाणी सरकार में मंत्री भी थे। वो 2015-17 में ‘अहमदाबाद अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (AUDA)’ के अध्यक्ष भी रहे हैं। पटेल समुदाय में उनकी अच्छी पकड़ मानी जाती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सिख नरसंहार के बाद छोड़ दी थी कॉन्ग्रेस, ‘अकाली दल’ में भी रहे: भारत-पाक युद्ध की खबर सुन दोबारा सेना में गए थे ‘कैप्टेन’

11 मार्च, 2017 को जन्मदिन के दिन ही कैप्टेन अमरिंदर सिंह को पंजाब में बहुमत प्राप्त हुआ और राज्य में कॉन्ग्रेस के लिए सत्ता का सूखा ख़त्म हुआ।

अडानी समूह के हुए ‘The Quint’ के प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर, गौतम अडानी के भतीजे के अंतर्गत करेंगे काम

वामपंथी मीडिया पोर्टल 'The Quint' में बतौर प्रेजिडेंट और एडिटोरियल डायरेक्टर कार्यरत रहे संजय पुगलिया अब अडानी समूह का हिस्सा बन गए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,106FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe