Thursday, September 23, 2021
Homeराजनीतिसोमवार को शपथ लेंगे भूपेंद्र पटेल: RSS से रहा है लंबा नाता, पेशे से...

सोमवार को शपथ लेंगे भूपेंद्र पटेल: RSS से रहा है लंबा नाता, पेशे से सिविल इंजीनियर हैं गुजरात के नए CM

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी के मार्गदर्शन व भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व में प्रदेश की अनवरत विकास यात्रा को नई ऊर्जा व गति मिलेगी और गुजरात सुशासन व जनकल्याण में निरंतर अग्रणी बना रहेगा।

गुजरात में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सीआर पाटिल ने घोषणा की है कि भूपेंद्र पटेल सोमवार (13 सितंबर, 2021) को राज्य के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। उन्होंने ये भी बताया कि भूपेंद्र पटेल के साथ कोई और नेता शपथ नहीं लेगा, जिसका अर्थ है कि मुख्यमंत्री के अलावा गुजरात मंत्रिमंडल में कोई बदलाव नहीं होगा और नितिन पटेल भी उप-मुख्यमंत्री बने रहेंगे। सिर्फ विजय रुपाणी की ही छुट्टी हुई है।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने भूपेंद्र पटेल को बधाई देते हुए विश्वास जताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में वो पूरी निष्ठा व समर्पण भाव से गुजरात की विकास यात्रा और जनकल्याण के कार्यों को नई ऊर्जा व गति प्रदान करेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि पीएम मोदी के मार्गदर्शन व भूपेंद्र पटेल के नेतृत्व में प्रदेश की अनवरत विकास यात्रा को नई ऊर्जा व गति मिलेगी और गुजरात सुशासन व जनकल्याण में निरंतर अग्रणी बना रहेगा।

गुजरात में भाजपा ने भूपेंद्र पटेल के नाम पर अगले मुख्यमंत्री के रूप में मुहर लगा दी है। वो विजय रुपाणी की जगह लेंगे, जिन्होंने इस्तीफा दे दिया था। भूपेंद्र पटेल राज्य के 17वें मुख्यमंत्री होंगे। उनके नाम की आधिकारिक घोषणा होनी अभी बाकी है। राजधानी गाँधीनगर में भाजपा दफ्तर ‘कमलम्’ में नेताओं की बैठक के बाद ये फैसला लिया गया। पर्यवेक्षक के रूप में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर व प्रह्लाद जोशी को दिल्ली भेजा गया था।

भूपेंद्र पटेल पाटीदार समुदाय से आते हैं, जिसकी राज्य में अच्छी-खासी जनसंख्या है। सिविल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर चुके 59 वर्षीय भूपेंद्र पटेल अहमदाबाद के घाटलोडीया विधानसभा क्षेत्र से विधायक हैं। 2017 में उन्होंने लगभग 1.17 लाख वोट से कॉन्ग्रेस के अपने नजदीकी उम्मीदवार को हराया था। ये वही विधानसभा क्षेत्र है, जिसका प्रतिनिधित्व पूर्व मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल किया करती थीं। आनंदीबेन पटेल फ़िलहाल उत्तर प्रदेश की राज्यपाल हैं।

भूपेंद्र पटेल 2017 में पहली बार ही विधायक बने थे। उससे पहले वो संगठन के लिए कार्य करते थे। भाजपा विधायक दल में उनके नाम पर सहमति बनी। उनका नाम चौंकाने वाला भी है, क्योंकि उनके नाम की मीडिया में चर्चा तक नहीं थी। लंबे समय से RSS से जुड़े रहे भूपेंद्र पटेल गुजरात की विजय रुपाणी सरकार में मंत्री भी थे। वो 2015-17 में ‘अहमदाबाद अर्बन डेवलपमेंट अथॉरिटी (AUDA)’ के अध्यक्ष भी रहे हैं। पटेल समुदाय में उनकी अच्छी पकड़ मानी जाती है।

पूर्व मुख्यमंत्री रुपाणी ने कहा कि भूपेंद्र पटेल एक योग्य नेता हैं और उम्मीद है कि उनके नेतृत्व में भाजपा गुजरात का अगला विधानसभा चुनाव जीतेगी। वर्ष 1999-2000 में भूपेंद्र पटेल स्थायी समिति के अध्यक्ष और मेमनगर नगरपालिका के अध्यक्ष रहे थे। 2010-15 के दौरान वे थलतेज वार्ड से पार्षद रहे थे। पटेल पाटीदार संगठनों सरदार धाम और विश्व उमिया फाउंडेशन में ट्रस्टी भी हैं। 2008-10 में उन्होंने एएमसी के स्कूल बोर्ड के उपाध्यक्ष का पद संभाला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गुजरात के दुष्प्रचार में तल्लीन कॉन्ग्रेस क्या केरल पर पूछती है कोई सवाल, क्यों अंग विशेष में छिपा कर आता है सोना?

मुंद्रा पोर्ट पर ड्रग्स की बरामदगी को लेकर कॉन्ग्रेस पार्टी ने जो दुष्प्रचार किया, वह लगभग ढाई दशक से गुजरात के विरुद्ध चल रहे दुष्प्रचार का सबसे नया संस्करण है।

‘मुंबई डायरीज 26/11’: Amazon Prime पर इस्लामिक आतंकवाद को क्लीन चिट देने, हिन्दुओं को बुरा दिखाने का एक और प्रयास

26/11 हमले को Amazon Prime की वेब सीरीज में मु​सलमानों का महिमामंडन किया गया है। इसमें बताया गया है कि इस्लाम बुरा नहीं है। यह शांति और सहिष्णुता का धर्म है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,782FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe