Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीति'मुसलमानों को अहसास होना चाहिए कि कर्नाटक में कॉन्ग्रेस की वजह से भाजपा सत्ता...

‘मुसलमानों को अहसास होना चाहिए कि कर्नाटक में कॉन्ग्रेस की वजह से भाजपा सत्ता में आई’: एचडी कुमारस्वामी

इस समय कर्नाटक में भाजपा की सरकार कॉन्ग्रेस की वजह से ही है। यहाँ पर अगर भाजपा सत्ता में आई है तो यह जद(एस) की वजह की वजह से नहीं, बल्कि कॉन्ग्रेस की वजह से आई है। यह बात मुस्लिम भाइयों को अच्छे से समझ लेनी चाहिए।

कर्नाटक के पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने एक बार फिर से कॉन्ग्रेस पर सवाल खड़े किए हैं। कभी कॉन्ग्रेस के समर्थन से मुख्यमंत्री बनने वाले कुमारस्वामी ने दावा किया कि देश की सबसे पुरानी पार्टी दोबारा सत्ता में कभी नहीं आएगी और भविष्य क्षेत्रीय पार्टियों का है। 

दरअसल, पार्टी कार्यालय जेपी भवन में उत्तरी कर्नाटक स्थित हनागल के स्थानीय नेता कादर शेख के नेतृत्व में राजनीतिक कार्यकर्ताओं के जद (एस) में शामिल होने के अवसर पर स्वागत कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इस स्वागत समारोह में एचडी कुमारस्वामी भी उपस्थित हुए थे। इस दौरान उन्होंने कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि मुसलमानों को ‘अहसास होना चाहिए’ कि राज्य की सत्ता में भाजपा, कॉन्ग्रेस की वजह से आई। इतना ही नहीं, उन्होंने यह भी कहा कि इस समय कर्नाटक में भाजपा की सरकार कॉन्ग्रेस की वजह से ही है। यहाँ पर अगर भाजपा सत्ता में आई है तो यह जद(एस) की वजह की वजह से नहीं, बल्कि कॉन्ग्रेस की वजह से आई है। यह बात मुस्लिम भाइयों को अच्छे से समझ लेनी चाहिए।

जद(एस) नेता ने आगे कहा, ‘‘कॉन्ग्रेस में अकेले सत्ता में आने की ताकत नहीं है। हमारे मुसलमान भाइयों को यह तथ्य समझने की जरूरत है, नहीं तो आपको झटके लगने जारी रहेंगे।’’ उन्होंने दावा किया कि वर्ष 2013 में कॉन्ग्रेस को बहुमत भाजपा के तीन टुकडे़- एक भाजपा और अन्य दो समूह मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा और मंत्री बी श्रीरामुलु- में बँटने की वजह से मिला। 

कुमारस्वामी ने कॉन्ग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि कहा कि यह हास्यास्पद है कि कॉन्ग्रेस के भीतर अगले चुनाव में जीत मिलने पर कौन मुख्यमंत्री बनेगा, इसको लेकर संघर्ष चल रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘कॉन्ग्रेस में आंतरिक लड़ाई चल रही है कि अगला मुख्यमंत्री कौन होगा जबकि चुनाव होने में अभी दो साल का समय है। वे सत्ता में आने को लेकर उतावले हैं और दो साल का भी इंतजार नहीं कर सकते। वे यह सोच कर अपनी सूट की सिलाई शुरू कर चुके हैं जैसे वे सत्ता में आ गए हैं।

कादर शेख का स्वागत करते हुए उन्होंने कहा कि हनागल के लोग जद (एस) में शामिल होना इस बात का संकेत है कि यह निर्वाचन क्षेत्र 2023 के विधानसभा चुनावों में उत्तरी कर्नाटक में जीत का ‘हमारा प्रवेश द्वार’ बन जाएगा। बता दें कि हनागल विधानसभा सीट 6 बार से बीजेपी विधायक और पूर्व मंत्री सीएम उदासी के निधन से खाली हुई है।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्नाटक में जद (एस) के लिए हर निर्वाचन क्षेत्र महत्वपूर्ण है और उनकी पार्टी का इरादा अपनी पहुँच का विस्तार करना और राज्य भर में अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए एक मजबूत क्षेत्रीय पार्टी बनने का है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मस्जिद के सामने जुलूस निकलेगा, बाजा भी बजेगा’: जानिए कैसे बाल गंगाधर तिलक ने मुस्लिम दंगाइयों को सिखाया था सबक

हिन्दू-मुस्लिम दंगे 19वीं शताब्दी के अंत तक महाराष्ट्र में एकदम आम हो गए थे। लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक इससे कैसे निपटे, आइए बताते हैं।

मानसिक-शारीरिक शोषण से धर्म परिवर्तन और निकाह गैर-कानूनी: हिन्दू युवती के अपहरण-निकाह मामले में इलाहाबाद HC

आरोपित जावेद अंसारी ने उत्तर प्रदेश में 'लव जिहाद' के खिलाफ बने कानून के तहत हो रही कार्रवाई को रोकने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट का रुख किया था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,352FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe