Thursday, May 23, 2024
Homeराजनीति'मुझे गिरफ्तार कर कट्टरपंथियों को दिया रमजान का तोहफा': केरल के CM पर बरसे...

‘मुझे गिरफ्तार कर कट्टरपंथियों को दिया रमजान का तोहफा’: केरल के CM पर बरसे पीसी जॉर्ज, कहा था- मुस्लिम होटलों में हिंदुओं को नपुंसक बनाने की देते हैं दवा

हिंदू महासम्मेलन के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के बाद पीसी जॉर्ज को रविवार तड़के कोट्टायम जिले के एराट्टुपेटा स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया था।

केरल के वरिष्ठ नेता और पूर्व विधायक पीसी जॉर्ज (PC George) को तिरुवनंतपुरम की एक अदालत ने जमानत दे दी है। जॉर्ज को मुस्लिमों के खिलाफ उनकी कथित विवादास्पद टिप्पणी के लिए रविवार (1 मई 2022) को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जमानत मिलने के बाद उन्होंने मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Pinarayi Vijayan) पर निशाना साधा। उन्होंने कहा उन्हें गिरफ्तार कर मुख्यमंत्री ने कट्टरपंथी मुस्लिम समूहों को रमजान का तोहफा दिया है। जमानत मिलने के बाद जॉर्ज ने मीडियाकर्मियों से बात करते हुए यह दोहराया कि वे अब भी अपनी हर बात पर कायम हैं।

जॉर्ज ने पत्रकारों से कहा, “मैं एक बात बहुत स्पष्ट रूप से कहना चाहता हूँ कि मैं अपनी कही गई हर बात पर अब भी कायम हूँ। अगर मैंने कभी कुछ गलत कहा है, तो अपने शब्दों को वापस लेने और माफी माँगने से कभी भी हिचकिचाया नहीं हूँ। मेरा भाषण हिंदू महासम्मेलन के आयोजन स्थल पर था। मैंने वहाँ यह कहा था कि मुझे मुस्लिम कट्टरपंथियों के वोटों की जरूरत नहीं है, मुझे ऐसे किसी शख्स के वोट की जरूरत नहीं है, जो भारत से प्यार नहीं करता। फिर चाहे वह ईसाई हो, मुस्लिम हो या हिंदू हो। ऐसा कहने पर मैं एक सांप्रदायिक व्यक्ति कैसे बन सकता हूँ? मेरी गिरफ्तारी आतंकवादी मुस्लिमों के लिए रमजान पर पिनाराई विजयन का तोहफा है।”

जॉर्ज ने अदालत के बाहर मौजूद संवाददाताओं को यह भी बताया कि उन्हें मजिस्ट्रेट ने निर्देश दिया ​है कि वह इस मामले की जाँच में कोई हस्तक्षेप नहीं करेंगे। साथ ही गवाहों को प्रभावित, अभद्र भाषा का प्रयोग और किसी भी प्रकार के विवाद से दूर रहने के लिए कहा है।

उल्लेखनीय है कि तिरुवनंतपुरम में अनंतपुरी हिंदू महासम्मेलन के दौरान कथित भड़काऊ भाषण देने के बाद पीसी जॉर्ज को रविवार तड़के कोट्टायम जिले के एराट्टुपेटा स्थित उनके आवास से गिरफ्तार किया गया था। मुस्लिम लीग और माकपा ने जॉर्ज के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के. सुरेंद्रन ने भी पीसी जॉर्ज की गिरफ्तारी का विरोध किया था और कहा था कि यह अभिव्यक्ति की आजादी के अधिकार पर अंकुश लगाने के लिए पिनराई विजयन सरकार द्वारा अपनाई गई नीति का हिस्सा है।

क्या है पूरा मामला

जॉर्ज 29 अप्रैल को अनंतपुरी हिंदू महासम्मेलन में मुस्लिम समुदाय के खिलाफ जमकर बरसे थे। उन्होंने यहाँ लोगों को संबोधित करते हुए कहा था कि मुस्लिमों के रेस्टोरेंट में हिंदुओं को नपंसुक बनाने की कोशिश की जा रही है। मुस्लिमों के रेस्टोरेंट में दूसरे धर्म के लोगों के लिए संदिग्ध ड्रॉप का उपयोग किया जाता है, जो नपुंसकता का कारण बनती है। ऐसे रेस्टोरेंट का बहिष्कार किया जाना चाहिए। वह यही नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा, “मुस्लिम दूसरे धर्म के लोगों को नपुंसक बनाकर देश पर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। हिन्दू और ईसाई महिलाएँ बच्चे नहीं करना चाहती हैं, जबकि मुस्लिम समाज अपनी आबादी बढ़ा रहा है। मैं यही कहूँगा कि हिंदू और ईसाई धर्म की महिलाओं को कम से कम चार बच्चे पैदा करने चाहिए। जब ​​भी मैं किसी शादी में जाता हूँ, तो नवविवाहित जोड़े को यही बताता हूँ।” जॉर्ज के इस बयान के बाद द मुस्लिम यूथ लीग के राज्य महासचिव पीके फिरोस ने अगले दिन यानी 30 अप्रैल को मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और डीजीपी अनिल कांत के पास मुस्लिम समुदाय का अपमान करने को लेकर उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी।

बता दें कि पीसी जॉर्ज केरल कॉन्ग्रेस के पूर्व नेता भी रह चुके हैं। 70 वर्षीय पीसी जॉर्ज ने 33 वर्षों तक राज्य विधानसभा में पुंजर निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया था। जॉर्ज ने केरल कॉन्ग्रेस छोड़ने के बाद केरल जनपक्षम सेक्युलर पार्टी का गठन किया था। वह 2021 के चुनाव में अपने ही गढ़ पुंजर से विधानसभा चुनाव हार गए थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘प्यार से माँगते तो जान दे देती, अब किसी कीमत पर नहीं दूँगी इस्तीफा’: स्वाति मालीवाल ने राज्यसभा सीट छोड़ने से किया इनकार

आम आदमी पार्टी की राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल ने अब किसी भी हाल में राज्यसभा से इस्तीफा देने से इनकार कर दिया है।

‘टेबल पर लगा सिर, पैर पकड़कर नीचे घसीटा’: विभव कुमार ने CM केजरीवाल के घर में कैसे पीटा, स्वाति मालीवाल ने अब कैमरे पर...

स्वाति मालीवाल ने बताया कि जब उन्होंने विभव कुमार को धक्का देने की कोशिश की तो उन्होंने उनका पैर पकड़ लिया और नीचे घसीट दिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -