Friday, May 24, 2024
Homeराजनीतिनूपुर शर्मा की जुबान काटने पर ₹1 करोड़ का ऐलान: सूरत में सड़क पर...

नूपुर शर्मा की जुबान काटने पर ₹1 करोड़ का ऐलान: सूरत में सड़क पर बिछाए पोस्टर, फोटो पर क्रॉस और जूते के निशान

"नूपुर शर्मा ने नबी का अपमान किया है, जिससे करोड़ों मुस्लिम समुदाय के लोग आहत हुए हैं।"

पैगंबर मोहम्मद पर भाजपा की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा द्वारा की गई विवादित टिप्पणी के मामले में रोज नया बवाल सामने आ रहा है। जहाँ अब इस विवाद में कूदते हुए भीम सेना ने नूपुर शर्मा की जुबान काटने पर ईनाम का ऐलान किया है। वहीं सूरत की सड़कों पर भी नूपुर शर्मा के ऐसे पैम्फलेट फेंके हुए मिले जिन पर उनके चेहरे पर जूतों और क्रॉस के निशान बनाए गए हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, भीम सेना चीफ नवाब सतपाल तंवर ने बुधवार (8 जून, 2022) को नूपुर शर्मा की जीभ काटकर लाने वाले को एक करोड़ रुपए का इनाम देने की घोषणा की है। यही नहीं भीम सेना ने कानपुर में हुई हिंसा में मुस्लिम दंगाइयों का बचाव करते हुए नूपुर शर्मा को ही घटना का मास्टरमाइंड होने का आरोप लगाया है।

रिपोर्ट के अनुसार, भीम सेना के संस्थापक और राष्ट्रीय अध्यक्ष सतपाल तंवर ने आरोप लगाते हुए कहा, “नूपुर शर्मा ने नबी का अपमान किया है, जिससे करोड़ों मुस्लिम समुदाय के लोग आहत हुए हैं।” यही नहीं इस मामले में सीधा मोदी पर आरोप लगते हुए भीम सेना के संस्थापक ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार जानबूझ कर नूपुर शर्मा को गिरफ्तार नहीं कर रही है।

सतपाल तंवर यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा, “नूपुर शर्मा जैसी नेता को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है। इसे तुरंत जेल भेजना चाहिए या देश निकाला दे देना चाहिए। नूपुर शर्मा द्वारा की गई इस आपत्तिजनक टिप्पणी से भारत पूरे दुनिया में बदनाम हो रहा है।”

वहीं तंवर ने कानपुर हिंसा के बाद ताबतोड़ होती पुलिस कार्रवाई से इतर योगी सरकार पर भी कानपुर दंगे की असली मास्टरमाइंड नूपुर शर्मा को बताते हुए आरोप लगाया कि योगी सरकार ने उसको आरोपित क्यों नहीं बनाया।

बता दें कि नूपुर शर्मा के जो पैम्फलेट सूरत की जिलानी ब्रिज की सड़क पर लगाए और फेंके गए हैं। उन पर नूपुर के चेहरे पर जूतों के निशान भी बने हैं। इनमें नूपुर की गिरफ्तारी की माँग की गई है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिज पर इस तरह के पैम्फलेट क्यों और किसने लगाए हैं, फिलहाल इसका खुलासा अभी नहीं हुआ है। इस मामले में भी पुलिस आरोपितों का पता लगा रही है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों नूपुर शर्मा ने टाइम्स नाउ की एक टीवी डिबेट के दौरान पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी। तब से ही शर्मा को कई कट्टरपंथी धमकी भी दे रहे हैं। वहीं नूपुर शर्मा पर बढ़े खतरे के मद्देनजर दिल्ली पुलिस ने उन्हें सुरक्षा प्रदान की है।

बता दें कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार (5 जून, 2022) को राष्ट्रीय प्रवक्ता नूपुर शर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था, वहीं दिल्ली इकाई के मीडिया प्रमुख नवीन कुमार जिंदल को पार्टी से निष्कासित कर दिया था। यहाँ यह भी उल्लेखनीय है कि बीजेपी ने अपने दोनों प्रवक्ताओं के खिलाफ यह कार्रवाई ऐसे समय में की है, जब उनके बयानों को लेकर सोशल मीडिया से लेकर विदेशों में भी विवाद खड़ा हो गया था और इस्लामिक देशों ने भारत को इसी मुद्दे पर घेरने की कोशिश की थी।

वहीं इस मुद्दे पर सोशल मीडिया से लेकर मीडिया में मचे बवाल के बाद बीजेपी ने अपने दोनों प्रवक्ताओं पर जहाँ एक्शन लिया था वहीं सोशल मीडिया पर तभी से नुपुर शर्मा को उनके सच बोलने की वजह से अपार जनसमर्थन भी मिल रहा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बाबरी का पक्षकार राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा समारोह में आ गया, लेकिन कॉन्ग्रेस ने बहिष्कार किया’: बोले PM मोदी – इन्होंने भारतीयों पर मढ़ा...

प्रधानमंत्री ने स्पष्ट ऐलान किया कि अब यह देश न आँख झुकाकर बात करेगा और न ही आँख उठाकर बात करेगा, यह देश अब आँख मिलाकर बात करेगा।

कॉन्ग्रेस नेता को ED से राहत, खालिस्तानियों को जमानत… जानिए कौन हैं हिन्दुओं पर हमले के 18 इस्लामी आरोपितों को छोड़ने वाले HC जज...

नवंबर 2023 में जब राजस्थान में विधानसभा चुनाव को लेकर सरगर्मी चरम पर थी, जब जस्टिस फरजंद अली ने कॉन्ग्रेस उम्मीदवार मेवाराम जैन को ED से राहत दी थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -