Friday, July 30, 2021
Homeराजनीति'सचिन पायलट बहनोई इसलिए छोड़े गए': बोले उमर अब्दुल्ला- भूपेश बघेल को मेरे वकील...

‘सचिन पायलट बहनोई इसलिए छोड़े गए’: बोले उमर अब्दुल्ला- भूपेश बघेल को मेरे वकील जवाब देंगे

"मैं इस तरह के झूठे दुर्भावनापूर्ण और झूठे आरोप से तंग आ गया हूँ कि सचिन पायलट जो भी कर रहे हैं वह किसी न किसी तरह से इस साल की शुरुआत में मेरे या मेरे पिता की रिहाई से जुड़ा था। अब बहुत हो गया है। भूपेश बघेल मेरे वकील आपको जवाब देंगे।"

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और उनकी पार्टी नेशनल कॉन्फ्रेंस ने छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के बयान पर कड़ी आपत्ति जताई है। बघेल ने राजस्थान के राजनीतिक हालात पर टिप्पणी करते हुए उमर अब्दुल्ला की रिहाई को सचिन पायलट के साथ उनकी रिश्तेदारी से जोड़ा था।

बता दें कि सचिन पायलट, उमर अब्दुल्ला के बहनोई और फारूक अब्दुल्ला के दामाद हैं। उमर अब्दुल्ला ने कहा है कि राजस्थान में जारी खींचतान में उन्हें और उनके पिता फारूक अब्दुल्ला को जबरन घसीटा जा रहा है।

द हिंदू को दिए इंटरव्यू में भूपेश बघेल ने कहा था, “जहाँ तक सचिन पायलट का सवाल है, ऐसा नहीं है कि मैं राजस्थान की घटनाओं पर बारीकी से नज़र रख रहा हूँ, लेकिन यह उत्सुकता पैदा करता है कि उमर अब्दुल्ला को क्यों छोड़ा गया। उन्हें और महबूबा मुफ्ती को कानून के एक ही सेक्शन्स के तहत हिरासत में लिया गया था। वे अभी भी अंदर हैं और उमर अब्दुल्ला बाहर। क्या इसलिए कि सचिन पायलट उमर अब्दुल्ला के बहनोई हैं?”

नेशनल कॉन्फ्रेंस ने बघेल की टिप्पणी पर कड़ी आपत्ति दर्ज की है। पार्टी ने एक बयान में कहा कि वह ऐसे सभी गलत, दुर्भावनापूर्ण, झूठे और राजनीतिक रूप से प्रेरित बयानों को खारिज करता है जो सुविधाजनक राजनीतिक स्थिति से दिए जा रहे हैं।

नेशनल कॉफ्रेंस की ओर से जारी आधिकारिक बयान में कहा गया है कि अंग्रेजी अखबार द हिन्दू में 20 जुलाई को छपे छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल के इंटरव्यू में उन्होंने गलत तरीके से कहा है कि नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला की रिहाई किसी न किसी रूप से सचिन पायलट और राजस्थान की वर्तमान राजनीतिक उठा-पठक से जुड़ी हुई है। पार्टी ने इस संदर्भ में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की धमकी भी दी है।

उमर अब्दुल्ला ने भी बघेल के इंटरव्यू पर टिप्पणी करते हुए कहा, “मैं इस तरह के झूठे दुर्भावनापूर्ण और झूठे आरोप से तंग आ गया हूँ कि सचिन पायलट जो भी कर रहे हैं वह किसी न किसी तरह से इस साल की शुरुआत में मेरे या मेरे पिता की रिहाई से जुड़ा था। अब बहुत हो गया है। भूपेश बघेल मेरे वकील आपको जवाब देंगे।”

अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट में राहुल गाँधी, कॉन्ग्रेस पार्टी और रणदीप सुरजेवाला को भी टैग किया है। गौरतलब है कि सचिन पायलट ने सारा पायलट से शादी की है, जो उमर अब्दुल्ला की बहन और फारूक अब्दुल्ला की बेटी है। सारा के परिवार ने शादी का विरोध किया था, क्योंकि सचिन पायलट हिंदू हैं।

सचिन और सारा की शादी के लगभग 16 साल हो गए हैं और उनके दो बच्चे आरन और विहान हैं। हाल में सचिन पायलट ने जिस तरह के तेवर दिखाए हैं उससे राजस्थान की कॉन्ग्रेस सरकार पर खतरा मॅंडरा रहा है। इसके बाद पार्टी ने उन्हें उप मुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष के पद से हटा दिया था। वर्तमान में कानूनी लड़ाई चल रही है। सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने को लेकर स्पीकर की ओर से दिए गए नोटिस को हाई कोर्ट में चुनौती दे रखी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मनमोहन सिंह ने की थी मनमर्जी, मुसलमान स्पेशल क्लास नहीं’: सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को चुनौती

सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को लागू करने को चुनौती दी गई है। याचिका 'सनातन वैदिक धर्म' नामक संगठन के छह अनुयायियों ने दायर की है।

‘2 से अधिक बच्चे तो छीन लें आरक्षण और वोटिंग का अधिकार’: UP के जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्ष में 97% लोग

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश विधि आयोग को मिले सुझाव में से ज्यादातर में सख्त कानून का समर्थन किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe