Wednesday, September 22, 2021
HomeराजनीतिCM योगी को हराने के लिए अभी से घेराबंदी: ओवैसी कर रहे गठबंधन, AAP...

CM योगी को हराने के लिए अभी से घेराबंदी: ओवैसी कर रहे गठबंधन, AAP भी है मैदान में

हैदराबाद के नगर निगम चुनावों में भाजपा से करारी शिकस्त पाने के बाद AIMIM ने तय किया है कि वह यूपी की ओर कूच करेंगे। पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मीडिया से बात करते हुए यह घोषणा की।

उत्तर प्रदेश के अगले विधानसभा चुनावों में योगी सरकार को हराने के लिए रणनीति बननी अभी से शुरू हो गई है। हैदराबाद के नगर निगम चुनावों में भाजपा से करारी शिकस्त पाने के बाद AIMIM ने तय किया है कि वह यूपी की ओर कूच करेंगे। पार्टी के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने मीडिया से बात करते हुए यह घोषणा की। 

उन्होंने यूपी चुनावों के लिए बताया कि उनकी पार्टी सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी से गठबंधन कर रही है। उन्होंने बुधवार को पार्टी प्रमुख ओम प्रकाश राजभर से मिलकर मीडिया से भी बात की। गठबंधन के लिए आम आदमी पार्टी से बातचीत का सवाल पूछे जाने पर ओवैसी ने कहा, “हम दोनों (वह और ओम प्रकाश राजभर) आपके सामने बैठें हैं। हम साथ में खड़े हैं और हम उनके नेतृत्व में काम करेंगे।”

यहाँ उल्लेखनीय है कि आम आदमी पार्टी ने भी साल 2022 में होने वाले यूपी विधानसभा चुनावों में लड़ने का फैसला किया है। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने हाल में ऐलान करते हुए बताया था कि उनकी पार्टी उत्तर प्रदेश में साल 2022 में होने वाला विधानसभा चुनाव लड़ेगी।

ओवैसी की नजर भी यूपी विधानसभा चुनावों में इसीलिए बनी हुई है क्योंकि यहाँ काफी मुस्लिम बाहुल्य सीटें है। यही कारण है कि उन्हें अपने विस्तार की संभावनाएँ नजर आ रही हैं। इससे पहले ओवैसी अपनी किस्मत बिहार चुनाव में आजमा चुके हैं। वहाँ पहली बार में AIMIM ने 5 सीटें जीती थी। इसके अलावा मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में ओवैसी की पार्टी का वोट शेयर भी बढ़ा हुआ देखा गया था।

इसी तरह हाल में हुए गोवा के जिला पंचायत चुनावों में आम आदमी पार्टी ने भी अपनी किस्मत आजमाई थी। हालाँकि, AAP का केवल 1 सीट से खाता खुल पाया था, बाकी बहुमत भाजपा को मिला था।

बात करें सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के प्रमुख ओम प्रकाश राजभर की तो उन्होंने पिछले चुनावों में भाजपा के साथ मिल कर चुनाव लड़ा था। लेकिन अब पार्टी से अलग होने के बाद वह अपनी राजनीति की जमीन बचाने के लिए ओवैसी से गठबंधन कर चुके हैं। उन्होंने जनभागीदारी संकल्प मोर्चा का गठन किया है। इसमें बाब सिंह कुशवाहा की जन अधिकार पार्टी, राष्ट्रीय उदय पार्टी, राष्ट्रीय उपेक्षित समाज पार्टी और जनक्रांति पार्टी शामिल है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को भूला देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती’: दादरी में CM योगी

सीएम ने कहा, "राजा मिहिर भोज नौंवी सदी के एक महान धर्मरक्षक थे। जो कौम अपने इतिहास व परंपराओं को विस्मृत कर देती है, वह अपने भूगोल की भी रक्षा नहीं कर पाती।''

‘साड़ी स्मार्ट ड्रेस नहीं’- दिल्ली के अकीला रेस्टोरेंट ने महिला को रोका: ‘ओछी मानसिकता’ पर भड़के लोग, वीडियो वायरल

अकीला रेस्टोरेंट के स्टाफ ने महिला से कहा कि चूँकि साड़ी स्मार्ट आउटफिट नहीं है इसलिए वो उसे पहनने वाले लोगों को अंदर आने की अनुमति नहीं देते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,748FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe