Thursday, August 5, 2021
Homeराजनीति'कॉन्ग्रेस का काला हाथ वामपंथियों के लिए गोरा कैसे हो गया?': कोलकाता में PM...

‘कॉन्ग्रेस का काला हाथ वामपंथियों के लिए गोरा कैसे हो गया?’: कोलकाता में PM मोदी ने कहा – घुसपैठ रुकेगा, निवेश बढ़ेगा

"दीदी, जब आपने स्कूटी सँभाली, तो सभी प्रार्थना कर रहे थे कि आप सकुशल रहें! अच्छा हुआ आप गिरी नहीं, नहीं तो जिस राज्य में वो स्कूटी बनी है, उस राज्य को ही अपना दुश्मन बना लेतीं।"

कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पश्चिम बंगाल में अपनी पहली चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया। उससे पहले वरिष्ठ अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती भाजपा में औपचारिक रूप से शामिल हुए और कहा कि एक गुमनाम गली में जन्मा लड़का आज इस मंच पर है, ये सपना नहीं तो क्या है। भाजपा प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि जो CPI(M) वाले नकारात्मक ट्वीट कर रहे हैं, वो एक बार रैली में आकर भीड़ को देख लें।

इस दौरान विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने अपने राजनीतिक जीवन सैकड़ों रैलियों को संबोधित किया, लेकिन इतने विशाल जनसमूह का आशीर्वाद मिलने का दृश्य उन्हें आज देखने को मिला है। पीएम ने कहा कि उन्होंने हेलीकॉप्टर से ही देख लिया था कि भीड़ अंदर ही नहीं, बाहर भी है। उन्होंने याद दिलाया कि बंगाल की धरती ने आजादी आंदोलन में योगदान दिया और ज्ञान-विज्ञान को आगे बढ़ाया।

उन्होंने डॉक्टर श्याम प्रसाद मुखर्जी के बलिदान को भी याद किया। उन्होंने कहा कि बंगाल में राज कर रहे लोगों ने यहाँ की बहन-बेटियों के साथ अत्याचार किया है और इस धरती को अपमानित किया है। उन्होंने कहा कि लाखों लोगों का यहाँ आना भाजपा के प्रति उनका प्रेम दिखाता है। इस दौरान उन्होंने मिथुन चक्रवर्ती और उनके जीवन की सफलता व संघर्ष की भी बात की। उन्होंने कहा कि बंगाल ने परिवर्तन के लिए ही ममता दीदी पर भरोसा किया था, लेकिन दीदी और उनके कैडर ने ये भरोसा तोड़ दिया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि इस बार के विधानसभा चुनाव में एक तरफ TMC है, लेफ्ट-कॉन्ग्रेस है, उनका बंगाल विरोधी रवैया है, और दूसरी तरफ खुद बंगाल की जनता कमर कस कर खड़ी हो गई है। उन्होंने बंगाल में बड़े परिवर्तन की बात करते हुए अच्छे इन्फ्रस्टरक्चर और गरीबों को आगे बढ़ने का मौका देने की बात की। साथ ही उत्तर बंगाल, सीमांचल और जंगलमहल सहित सभी क्षेत्रों के बराबर विकास का वादा किया। ममता बनर्जी पर तंज कसते हुए PM मोदी ने कहा:

“दीदी, आप बंगाल की ही नहीं आप तो भारत की बेटी हैं! कुछ दिन पहले जब आपने स्कूटी सँभाली, तो सभी प्रार्थना कर रहे थे कि आप सकुशल रहें! अच्छा हुआ आप गिरी नहीं, नहीं तो जिस राज्य में वो स्कूटी बनी है, उस राज्य को ही अपना दुश्मन बना लेतीं।”

प्रधानमंत्री ने ‘सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास’ का नारा देते हुए कहा घुसपैठ को रोकने की बात की। उन्होंने कहा कि आज जब भारत अपनी स्वतंत्रता के 75वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है, बंगाल नई ऊर्जा व संकल्प के साथ आगे बढ़ेगा। उन्होंने बंगाल के विकास के लिए अगले 25 वर्षों को महत्वपूर्ण बताते हुए इस विधानसभा चुनाव को उसका पहला पड़ाव करार दिया। उन्होंने कहा कि जनता बंगाल में सरकार बनाने नहीं, बंगाल को बनाने के लिए वोट दे।

पीएम मोदी ने कहा कि 2047 में आज़ादी के 100 वर्ष पूरे होने के मौके पर बंगाल देश को आगे ले जाने वाला राज्य बनेगा। उन्होंने कोलकाता को ‘सिटी ऑफ जॉय’ बताते हुए कहा कि कोलकाता की संस्कृति को सुरक्षित रखते हुए यहाँ का विकास होगा। उन्होंने बंगाल को विश्वास दिलाया कि उनकी सरकार पल-पल राज्य के लोगों के सपनों के लिए जिएँगे। उन्होंने कहा कि यहाँ के नौजवानों के लिए, किसानों, उद्यमियों, यहाँ की बहनों-बेटियों के विकास के लिए वो 24 घंटे दिन रात मेहनत से काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि कमीशनबाजी की वजह से कोलकाता एयरपोर्ट के कई काम पूरे नहीं हुए हैं, भाजपा सरकार ऐसे सभी रुके हुए कार्यों को पूरा करेगी। उन्होंने कहा कि कुछ लोगों को तो लगता होगा कि शायद आज 2 मई आ गई है। साथ ही भाजपा सरकार में गरीबों को पक्के घर देने का वादा किया। उन्होंने शहरों के इंफ्रास्ट्रक्चर को आधुनिक बना कर पढ़ाई, कमाई और दवाई की व्यवस्था का वादा करते हुए उद्योगों में निवेश को प्रोत्साहित करने की भी बात कही।

उन्होंने कहा कि इसका लाभ किसानों से लेकर मछुआरों को भी मिलेगा। उन्होंने तकनीकी और मेडिकल की पढ़ाई बांग्ला भाषा में कराने की बात करते हुए कहा कि गरीब का बच्चा अंग्रेजी नहीं जानता है, फिर भी वो डॉक्टर और इंजीनियर बन पाएगा। पीएम मोदी ने भाजपा के लक्ष्य की बात करते हुए कहा कि पार्टी यहाँ की राजनीति को विकास केंद्रित बनाना चाहती है क्योंकि काफी साल बर्बाद हो चुके हैं।

उन्होंने जनता को ये भी याद रखने की सलाह दी कि उनके साथ कई वर्षों तक छल किया गया। उन्होंने याद दिलाया कि कॉन्ग्रेस आज़ादी के नाम पर सत्ता में आई और वामपंथियों ने उसके बाद कॉन्ग्रेस के खिलाफ नारा लगा कर सत्ता चलाई और आज वो दोनों साथ हैं। वामपंथियों ने तब “कांग्रेसेर कालो हाथ, भेंगे दाओ, गुड़िये दाओ!” के नारे लगाए थे और उसे तोड़ने की बातें करते थे, आज ये हाथ गोरा कैसे हो गया और उसी हाथ को क्यों थाम लिया?

उन्होंने कहा कि इसके बाद ममता बनर्जी परिवर्तन का नारा लेकर आईं लेकिन स्कूलों, अस्पतालों और जमीन पर कोई परिवर्तन नहीं आया। उन्होंने कहा कि आज बंगाल में ‘माँ, माटी और मनुष्य’ की स्थिति लोग भलीभाँति जानते हैं क्योंकि घर में घुस कर हमले होते हैं। उन्होंने हाल ही में 80 साल की बूढ़ी माँ पर हमले की बात करते हुए TMC के ‘क्रूर चेहरे’ की बात की। उन्होंने कहा कि शायद ही बंगाल में कोई माँ है, जो इनकी करतूतों के कारण रोई न हो।

कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में पीएम मोदी का सम्बोधन

उन्होंने कहा कि यहाँ के लोग अपनों को नौकरी के लिए पलायन करते हुए और इलाज के अभाव में दम तोड़ते हुए देख रहे हैं। उन्होंने ‘भ्रष्टाचार – अब नहीं, अब नहीं’ और ‘कट मनी – अब नहीं, अब नहीं’, ‘बेरोजगारी, हिंसा, सिंडिकेट, तुष्टिकरण – अब नहीं, अब नहीं’ के नारे भी लगवाए।

इससे पहले शुभेंदु अधिकारी ने भाजपा के पितृ-पुरुष श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा था कि उनके योगदान के बिना हमारा भारत एक इस्लामी मुल्क बन गया होता। उन्होंने कहा कि अगर मुखर्जी नहीं होते तो हम बांग्लादेश में रह रहे होते। बेहला के मुचिपारा में आयोजित रैली में उन्होंने ये बातें कहीं। उन्होंने लोगों को चेताया था कि अगर TMC तीसरी बार सत्ता में आ जाती है तो वो बंगाल को कश्मीर बना देगी।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जब मनमोहन सिंह PM थे, कॉन्ग्रेस+ की सरकार थी… तब हॉकी टीम के खिलाड़ियों को जूते तक नसीब नहीं थे

एक दशक पहले जब मनमोहन सिंह के नेतृत्व में कॉन्ग्रेस नीत यूपीए की सरकार चल रही थी, तब हॉकी टीम के कप्तान ने बताया था कि खिलाड़ियों को जूते भी नसीब नहीं हैं।

UP के ‘मुंगेरीलाल’, दिन में देख रहे ख्वाब: अखिलेश के 400 विधायक जीतेंगे, प्रियंका गाँधी बनेंगी CM, बीजेपी को कैंडिडेट भी नहीं मिलेंगे

तिवारी ने बताया कि फिलहाल समाजवादी पार्टी या किसी अन्य राजनैतिक दल से गठबंधन की कोई बात नहीं चल रही है लेकिन प्रियंका ने कहा था कि कॉन्ग्रेस का लक्ष्य 2022 में भाजपा को हराना है और इसके लिए कॉन्ग्रेस हर तरह का राजनीतिक गठबंधन करने को तैयार है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,091FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe