Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीति'डंके की चोट पर हो रहा सीमा पर निर्माण' : PM मोदी ने नॉर्थ-ईस्ट...

‘डंके की चोट पर हो रहा सीमा पर निर्माण’ : PM मोदी ने नॉर्थ-ईस्ट को दी ₹4350 करोड़ की सौगात, कहा- ये देश का आखिरी छोर नहीं, व्यापार का गेटवे है

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार आते ही नॉर्थ ईस्ट पर ध्यान दिया गया। पिछले 8 वर्ष में इस क्षेत्र में हवाईअड्डों की संख्या 9 से बढ़कर 16 हो गयी। उड़ानों की संख्या 900 से बढ़कर लगभग 1,900 हो गयी। क्षेत्र में 2014 के बाद से राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई 50 फीसदी तक बढ़ायी गयी है। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के कई राज्य रेलवे के मानचित्र पर आए हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) रविवार (18 दिसंबर 2022) को नॉर्थ-ईस्ट के मेघालय (Meghalaya) और त्रिपुरा (Tripura) के दौरे पर हैं। उन्होंने मेघालय की राजधानी शिलॉन्ग में नॉर्थ ईस्टर्न काउंसिल (NEC) के गोल्डन जुबली कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके बाद उन्होंने त्रिपुरा की राजधानी अगरतला में रोड शो किया। इस दौरान पीएम मे 4350 करोड़ रुपए से अधिक परियोजनाओं की सौगात दी।

शिलॉन्ग में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि स्पोर्ट्स को लेकर केंद्र सरकार लगातार काम कर रही है। देश की पहली स्पोर्ट्स यूनिवर्सिटी नॅार्थ ईस्ट में बनी है। उन्होंने कहा कि उत्तर-पूर्व में इस तरह के 19 प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है। उन्होंने कहा कि उत्तर-पूर्व में आधारभूत संरचना के विकास में 7 लाख करोड़ रुपए सरकार खर्च कर रही है।

AFSPA को लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि बीते 8 वर्षों में कई संगठनों ने हिंसा का रास्ता छोड़ा। इसलिए AFSPA की जरूरत न पड़े, इसके लिए राज्य सरकार स्थितियों को सुधार रही है। उन्होंने बताया कि बेहतर मोबाइल कनेक्टिविटी के लिए 6,000 मोबाइल टावर लगाए जा रहे हैं। इसके लिए 5,000 करोड़ रुपए खर्च किए जा रहे हैं।

पीएम मोदी ने कहा, “हमारे लिए नॉर्थ ईस्ट बॉर्डर एरिया आखिर छोर नहीं है, बल्कि यह दूसरे देशों से व्यापार का गेटवे है। आज डंके की चोट पर बॉर्डर पर नई सड़कें, नई रेल लाइन जो भी आवश्यक है, उसके निर्माण का काम तेजी से चल रहा है। जो सीमावर्ती गाँव पहले वीरान हुआ करते थे, उन्हें हम वाइब्रेंट विलेज बनाने में जुटे हैं।”

पीएम मोदी ने कहा कि केंद्र में भाजपा की सरकार आते ही नॉर्थ ईस्ट पर ध्यान दिया गया। पिछले 8 वर्ष में इस क्षेत्र में हवाईअड्डों की संख्या 9 से बढ़कर 16 हो गई। उड़ानों की संख्या 900 से बढ़कर लगभग 1,900 हो गई। क्षेत्र में 2014 के बाद से राष्ट्रीय राजमार्गों की लंबाई 50 फीसदी तक बढ़ाई गई है। उन्होंने कहा कि पूर्वोत्तर के कई राज्य रेलवे के मानचित्र पर आए हैं।

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी और प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के तहत लाभार्थियों के लिए ‘गृह प्रवेश’ कार्यक्रम शुरू किया। इसके तहत 3,400 करोड़ रुपए से अधिक की लागत से घरों को बनाया गया है। इस कार्यक्रम से 2 लाख परिवारों को लाभ होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि डबल इंजन की सरकार से पहले त्रिपुरा या नॉर्थ ईस्ट की दो बार चर्चा होती है। एक बार चुनाव के दौरान और दूसरी बार जब कोई हिंसक घटना होती थी तब। कॉन्ग्रेस पर वार करते हुए उन्होंने कहा कि पहले की सरकारों में डेवलपमेंट का डिवाइड की सोच थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -