Tuesday, June 25, 2024
Homeराजनीति'शपथ लेने के अगले दिन ही आएगा धमाधम काम': RBI की 90वीं वर्षगाँठ पर...

‘शपथ लेने के अगले दिन ही आएगा धमाधम काम’: RBI की 90वीं वर्षगाँठ पर PM ने जाहिर कर दिए ‘मोदी 3.0’ के इरादे, बोले – आपके पास 100 दिन

प्रधानमंत्री ने इस दौरान भारतीय रिजर्व बैंक की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक की पहचान आज विश्व में उसके पेशेवर रवैये और काम के प्रति समर्पण को लेकर होती है। उन्होंने कहा 90 साल पर पहुँचना एक महत्वपूर्ण पड़ाव है।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) से कहा है कि वह अपनी तैयारी करके रखें क्योंकि उनके तीसरी बार पीएम बनने के बाद RBI के पास काफी काम आने वाला है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने यह बात रिजर्व बैंक के 90 साल पूरे होने के उपलक्ष्य में मुंबई में आयोजित कार्यक्रम में कही।

पीएम मोदी ने रिजर्व बैंक के कर्मचारियों से कहा, “अभी मैं 100 दिन चुनाव में व्यस्त हूँ, आपको समय है, आपलोग सोच कर रखिए, क्योंकि शपथ लेने के अगले दिन ही धमाधम काम आने वाला है।” पीएम मोदी ने इस दौरान अपने तीसरी बार चुने जाने को लेकर विश्वास दिखाया।

प्रधानमंत्री ने इस दौरान भारतीय रिजर्व बैंक की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि रिजर्व बैंक की पहचान आज विश्व में उसके पेशेवर रवैये और काम के प्रति समर्पण को लेकर होती है। उन्होंने कहा 90 साल पर पहुँचना एक महत्वपूर्ण पड़ाव है।

रिजर्व बैंक द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में पीएम मोदी ने देश की आर्थिक स्थिति और देश के बैंकों में बीते वर्षों में आए बदलाव को लेकर भी बात की। उन्होंने कहा कि जब वह 2014 में रिजर्व बैंक की 80वीं वर्षगाँठ में शामिल हुए थे तब स्थिति पूरी तरह से अलग थी। उन्होंने कहा कि तब हर व्यक्ति भारत के बैंकिंग क्षेत्र को लेकर आशंकाओं से भरा हुआ था।

उन्होंने कहा कि बीते 10 वर्षों में काफी कुछ बदल गया है और देश का बैंकिंग मॉडल भी काफी मजबूत हो गया है। उन्होंने कहा कि अब बैंकिंग क्षेत्र मुनाफे में है और कर्ज की भी गति काफी तेज है। पीएम मोदी ने आँकड़े पेश करते हुए कहा कि 2014 में देश के बैंकों का नोंन परफोर्मिंग एसेट (NPA) लगभग 11% के आसपास था जबकि यह घट कर अब 3% हो गया है।

पीएम ने इस दौरान सरकारी बैकों को मजबूत करने के लिए उठाए गए क़दमों को भी बताया। उन्होंने कहा कि देश के सरकारी बैंकों को मजबूत करने के लिए उन्हें ₹3 लाख करोड़ की पूँजी उपलब्ध करवाई गई। बैंकिंग में प्रशासन को मजबूत किया गया।

रिज़र्व बैंक के इस कार्यक्रम में पीएम मोदी नें कहा कि पिच्च्ले 10 वर्षों में जितना विकास हुआ है वह केवल एक ट्रेलर है। देश को आगे ले जाने के लिए काफी कुछ करना अभी बाकी है। भारतीय रिजर्व बैंक के 90 वर्ष पूरे होने पर पीएम मोदी ने एक सिक्का भी जारी किया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘बड़ी संख्या में OBC ने दलितों से किया भेदभाव’: जिस वकील के दिमाग की उपज है राहुल गाँधी वाला ‘छोटा संविधान’, वो SC-ST आरक्षण...

अधिवक्ता गोपाल शंकरनारायणन SC-ST आरक्षण में क्रीमीलेयर लाने के पक्ष में हैं, क्योंकि उनका मानना है कि इस वर्ग का छोटा का अभिजात्य समूह जो वास्तव में पिछड़े व वंचित हैं उन तक लाभ नहीं पहुँचने दे रहा है।

क्या है भारत और बांग्लादेश के बीच का तीस्ता समझौता, क्यों अनदेखी का आरोप लगा रहीं ममता बनर्जी: जानिए केंद्र ने पश्चिम बंगाल की...

इससे पहले यूपीए सरकार के दौरान भारत और बांग्लादेश के बीच तीस्ता के पानी को लेकर लगभग सहमति बन गई थी। इसके अंतर्गत बांग्लादेश को तीस्ता का 37.5% पानी और भारत को 42.5% पानी दिसम्बर से मार्च के बीच मिलना था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -