Sunday, April 14, 2024
Homeराजनीतिहमारी सरकार का पहला फैसला रक्षकों को समर्पित: मोदी कैबिनेट

हमारी सरकार का पहला फैसला रक्षकों को समर्पित: मोदी कैबिनेट

मोदी कैबिनेट की पहली बैठक शुरू हो चुकी है। गृहमंत्री अमित शाह बैठक में पहुँच गए हैं। मुख्तार अब्बास नकवी और सदानंद गौड़ा भी बैठक में उपस्थित हैं। बैठक दिल्ली के साउथ ब्लॉक में शुरू हुई।

आखिरकार तीन महीने की चुनावी प्रक्रिया खत्म होने के बाद सरकार का गठन हो गया है। बृहस्पतिवार को नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री के रूप में शपथ ली और उनके साथ कुल 58 मंत्रियों ने शपथ ली है। इसमें कुल 25 कैबिनेट मंत्री हैं (PM समेत) जबकि 9 स्वतंत्र प्रभार, 24 राज्य मंत्री शामिल हैं।

पीएम नरेंद्र मोदी ने कार्यभार संभालने के बाद पहले फैसले के रूप में ‘पीएम स्कॉलरशिप स्कीम‘ में बड़े बदलाव को मंजूरी दी है। इसकी जानकारी नरेंद्र मोदी ने अपने ट्विटर हैंडल से दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार का पहला बड़ा फैसला लिया है। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा है, “हमारी सरकार का पहला फैसला भारत की रक्षा करने वालों को समर्पित है!” पहले फैसले में राष्ट्रीय रक्षा कोष के तहत प्रधानमंत्री छात्रवृत्ति योजना में बदलाव करते हुए पीएम मोदी ने आतंकी, माओवादी हमलों में बलिदान हुए जवानों के बच्चों की छात्रवृत्ति बढ़ाने का फैसला लिया।

लड़कों के लिए मासिक स्कॉलरशिप 25% बढ़ोत्तरी के साथ ₹2500 कर दी गई है जो कि पहले ₹2000 प्रति माह थी। वहीं, लड़कियों के लिए यह 33.33% बढाकर ₹3000 प्रति माह कर दी गई है, जो कि पहले ₹2250 प्रति माह थी। इस स्कॉलरशिप का दायरा पुलिसकर्मियों के लिए बढ़ा दिया गया है, जो कि किसी भी प्रकार की आतंकी और माओवादी गतिविधियों में बलिदान हुए थे। नई स्कॉलरशिप का कोटा राज्य पुलिस अधिकारियों के लिए 500/वर्ष कर दिया गया है। गृह मंत्रालय इन मामलों की निगरानी करेगा।

शपथ ग्रहण के साथ ही पीएम मोदी ने काम भी शुरू कर दिया है, इसके अलावा सभी मंत्रियों के कामकाज का बँटवारा भी हो गया है। मोदी कैबिनेट की पहली बैठक शुरू हो चुकी है। गृहमंत्री अमित शाह बैठक में पहुँच गए हैं। मुख्तार अब्बास नकवी और सदानंद गौड़ा भी बैठक में उपस्थित हैं। बैठक दिल्ली के साउथ ब्लॉक में शुरू हुई।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ये तो सिर्फ ट्रेलर है’: गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के भाई ने ली सलमान खान के घर के बाहर फायरिंग की जिम्मेदारी, CM शिंदे ने...

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान के घर के बाहर दो बाइकसवारों ने गोलीबारी की। इसकी जिम्मेदारी गैंगर्स्टर लॉरेंस बिश्नोई के भाई ने ली है।

पत्थरबाजी, उन्मादी नारे… ‘डोरमैट पर काबा प्रिंट है’ कह उतावली हुई मुस्लिम भीड़: यूपी पुलिस की सक्रियता से टली बड़ी वारदात, दुकानदार बोले –...

मुस्लिम बाहुल्य उतरौला बाजार में पुलिस की सक्रियता के चलते एक बड़ी अनहोनी टल गई। पुलिस 50-60 अज्ञात हमलावरों के खिलाफ FIR दर्ज कर के दबिश दे रही।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe