Monday, May 16, 2022
Homeराजनीति'हमारे ग्रंथों में जल संरक्षण का संदेश': PM मोदी ने 'मालधार' और 'हलमा' का...

‘हमारे ग्रंथों में जल संरक्षण का संदेश’: PM मोदी ने ‘मालधार’ और ‘हलमा’ का दिया उदाहरण, कहा- म्यूजियम जाकर अपना इतिहास जानें

पीएम मोदी ने लोगों से कैशलेश लेनदेन और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने की अपील की। उन्होंने कहा कि UPI और अन्य डिजिटल भुगतान प्रक्रिया से गाँव से शहर तक लोगों को सहूलियत हो रही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज 24 अप्रैल 2022 (रविवार) को देशवासियों से मन की बात कर रहे हैं। इस दौरान आज़ादी के अमृत महोत्सव की चर्चा करते हुए उन्होंने इसे जन आंदोलन का रूप बताया। पीएम मोदी ने इतिहास को लेकर लोगों में बढ़ती दिलचस्पी की तरफ इशारा करते हुए युवाओं को म्यूजियम जाने के लिए प्रोत्साहित किया।

पानी बचाने पर जोर

मन की बात में पीएम मोदी ने जल संरक्षण पर जोर दिया। उन्होंने कहा, “हमारे धर्मग्रंथ और पूर्वजों ने भी हमें पानी बचाने का संदेश दिया है। कई संस्कृतियाँ और जनजातियाँ भी जल संरक्षण का काम करती आई हैं।” इस दौरान उन्होंने हड़प्पा सभ्यता के साथ मालधार और हलमा जनजाति के जल संरक्षण में योगदान को भी बताया।

कैशलेश लेनदेन को बढ़ावा

पीएम मोदी ने लोगों से कैशलेश लेनदेन और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा देने की अपील की। उन्होंने कहा कि UPI और अन्य डिजिटल भुगतान प्रक्रिया से गाँव से शहर तक लोगों को सहूलियत हो रही है। इसी के साथ उन्होंने इसे सुरक्षित और सुविधाजनक बताते हुए फुटकर आदि के झंझट से मुक्त बताया। इस दौरान उन्होंने दिल्ली की 2 लड़कियों का भी जिक्र किया, जिन्होंने पूरे दिन नकद भुगतान न करने का संकल्प लिया था।

दिव्यांगों पर विशेष ध्यान

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिव्यांगों को प्रतिभावान बताया। मोदी ने दिव्यांगों की प्रतिभा को दुनिया के सामने लाने और उसे देश के विकास में प्रयोग करने की जरूरत बताई। इसके लिए उन्होंने सरकार द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं का भी जिक्र किया। इस काम में भी पीएम मोदी ने डिजिटल टेक्नोलॉजी को सहायक बताया है।

गणित में भारत वैदिक काल से अब तक के योगदान को गिनाया

पीएम मोदी ने गणित के क्षेत्र में भारत के वैदिक काल से अब तक के योगदान को बताया। इस दौरान उन्होंने आर्यभट्ट और भारती कृष्ण तीर्थ की चर्चा करते हुए वैदिक सूत्रों को आधुनिक गणित और विज्ञान का आधार बताया।

म्यूजिम जाकर इतिहास से जुड़ने की अपील

पीएम मोदी ने देशवासियों से म्यूजियम जाकर वहाँ अपने इतिहास से जुड़ने की अपील की। उनके मुताबिक, बहुत लोग अभी अपने इतिहास और उपलब्धियों के कई पहलुओं से परिचित नहीं हैं। इस दौरान उन्होंने रेल और पतंग म्यूजियम की भी चर्चा की। इसी के साथ मोदी ने आने वाले 18 मई को विश्व म्यूजियम दिवस के बारे में बताया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

योगी सरकार के कारण टूटा संगठन: BKU से निकलने के बाद टिकैत भाइयों के बयानों में फूट, एक ने मढ़ा BJP पर इल्जाम, दूसरा...

भारतीय किसान यूनियन में हुई फूट के मुद्दे पर राकेश टिकैत ने सरकार को दिया दोष, तो नरेश टिकैत ने किसी भी प्रकार की राजनीति होने से इंकार किया।

बॉलीवुड फिल्मों के फेल होने के पीछे कंगना ने स्टार किड्स को बताया जिम्मेदार, बोलीं- उबले अंडे जैसी शक्ल होती है इनकी, कौन देखेगा

कंगना रनौत ने एक बार फिर से स्टार किड्स को लेकर टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि स्टार किड्स दर्शकों से कनेक्ट नहीं कर पाते। उनके चेहरे उबले अंडे जैसे लगते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
185,988FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe