Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीतितेलंगाना में PM मोदी का स्वागत नहीं करेंगे सीएम KCR, 5वीं बार प्रोटोकॉल का...

तेलंगाना में PM मोदी का स्वागत नहीं करेंगे सीएम KCR, 5वीं बार प्रोटोकॉल का उल्लंघन: आधिकारिक निमंत्रण न देने का लगाया है आरोप, BJP बोली- ‘वो जलते हैं’

इस साल जून में जब पीएम मोदी भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के लिए हैदराबाद गए थे, उस वक्त भी के चंद्रशेखर राव ने उनका स्वागत नहीं किया। उस समय TRS के नेताओं ने कहा था कि मोदी का यह दौरा पूरी तरह से राजनीतिक है और प्रोटोकॉल का पालन करने की आवश्यकता नहीं है।

दक्षिण भारत के दो दिवसीय यात्रा पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज तेलंगाना पहुँचेंगे। कहा जा रहा है कि इस दौरान वहाँ के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव (KCR) उनका स्वागत नहीं करेंगे। ये पाँचवीं बार हो रहा है, जब KCR प्रधानमंत्री की अगवानी ना करके प्रोटोकॉल को तोड़ रहे हैं। प्रोटोकॉल के तहत जब प्रधानमंत्री किसी राज्य में जाते हैं तो वहाँ का मुख्यमंत्री उन्हें लेने पहुँचता है।

सीएम KCR के बजाए पार्टी के विधायक तलसानी श्रीनिवास यादव प्रधानमंत्री को रिसीव करने जाएँगे। बता दें कि दो दिन पहले ही तेलंगाना की सत्ताधारी TRS ने केंद्र की सत्ताधारी भाजपा पर आरोप लगाया था कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम में उन्हें औपचारिक निमंत्रण नहीं भेजा गया था। इसके बदले उन्हें कार्यक्रम में भाग लेने के लिए कहा गया था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तेलंगाना में रामागुंडम फर्टिलाइजर्स एंड केमिकल्स लिमिटेड (RFCL) का उद्घाटन करने वाले हैं। इसमें भाग लेने के लिए केसीआर को भी निमंत्रण भेजा गया था। RFCL के सीईओ ने खुद कहा है कि उन्होंने निमंत्रण पत्र अपने हाथों से राज्य के मुख्य सचिव को सौंपा है। इसके साथ ही मंत्रालय ने निमंत्रण पत्र की कॉपी भी ट्विटर पर साझा की थी।

तेलंगाना पहुँचने के बाद प्रधानमंत्री एक जनसभा को संबोधित करेंगे। उसके बाद RFCL का उद्धाटन करेंगे। इसके बाद वे 990 करोड़ रुपए की लागत से बने 5.10 किलोमीटर लंबी भद्राचलम रोड-सत्तुपल्ली नई रेलवे लाइन को राष्ट्र को समर्पित करेंगे। इसके साथ ही पीएम 2,268 करोड़ रुपए की लागत वाली कई सड़क परियोजनाओं की आधारशिला भी रखेंगे।

निमंत्रण नहीं मिलने का आरोप लगाकर केसीआर प्रधानमंत्री का ना तो बेगमपेट हवाईअड्डे पर पीएम मोदी की अगवानी करेंगे और न ही RFCL के आधिकारिक कार्यक्रम में शामिल होंगे। केसीआर प्रधानमंत्री की अगवानी और उनके साथ कार्यक्रमों में मंच साझा करने से बचते रहे हैं।

नवंबर 2020 जब पीएम मोदी ने भारत बायोटेक का दौरा किया था तो केसीआर ने उस वक्त भी निमंत्रण देने की बात कहकर उनकी अगवानी नहीं की थी। जब पीएम मोदी चिन्ना जीयर आश्रम में स्टैच्यू ऑफ इक्वेलिटी का अनावरण करने और ICRISAT की 50वीं वर्षगाँठ में भाग लेने गए थे, तब भी सीएम केसीआर ने उनसे मुलाकात नहीं की थी।

इसी तरह मई 2022 में ISB के एक कार्यक्रम में भाग लेने पहुँचे पीएम मोदी का केसीआर ने स्वागत नहीं किया था। इस दौरान बेगमपेट हवाईअड्डे पर भाजपा कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने केसीआर और उनकी पार्टी TRS पर तीखा हमला किया था।

इस साल जून में जब पीएम मोदी भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में शामिल होने के लिए हैदराबाद गए थे, उस वक्त भी के चंद्रशेखर राव ने उनका स्वागत नहीं किया। उस समय TRS के नेताओं ने कहा था कि मोदी का यह दौरा पूरी तरह से राजनीतिक है और प्रोटोकॉल का पालन करने की आवश्यकता नहीं है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लाइसेंस राज में कुछ घरानों का ही चलता था सिक्का, 2014 के बाद देश ने भरी उड़ान: गौतम अडानी ने PM मोदी को दिया...

गौतम अडानी ने कहा कि देश की अर्थव्यवस्था ने 10 वर्षों में टेकऑफ किया है और इसका सबसे बड़ा कारण सही तरीके से मोदी सरकार का चलना रहा है।

राबिया की अम्मी ने ज़हीर-सोनाक्षी की शादी के बहाने ‘लव जिहाद’ को किया व्हाइटवॉश: खुद देती रहती हैं दुनिया भर के ओपिनियन, दूसरों की...

स्वरा भास्कर इजरायल पर ओपिनियन दे सकती हैं, लेकिन वो कहती हैं कि भारत में लोगों को ओपिनियन देने की बीमारी है। ज़हीर-सोनाक्षी की शादी और शत्रुघ्न सिन्हा की नाराज़गी के बीच 'लव जिहाद' को फर्जी बताने का प्रयास।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -