Sunday, August 1, 2021
Homeराजनीतिएक और राज्य से कॉन्ग्रेस साफ! पुडुचेरी में विधायकों के इस्तीफे देने का सिलसिला...

एक और राज्य से कॉन्ग्रेस साफ! पुडुचेरी में विधायकों के इस्तीफे देने का सिलसिला जारी: संख्या पहुँची 11, विपक्ष के पास 14

कॉन्ग्रेस से इस्तीफा देने वाले विधायक लक्ष्मीनारायण ने कहा - नारायणस्वामी सरकार बहुमत खो चुकी है। मैं तो पार्टी की सदस्यता से भी इस्तीफा दे चुका हूँ।

पुडुचेरी में चल रहे सियासी घमासान के बीच आज (फरवरी 22, 2021) शाम को शक्ति परीक्षण होना है। इस बीच कॉन्ग्रेस से इस्तीफा देने वाले विधायक लक्ष्मीनारायण और डीएमके विधायक वेंकटेशन ने सत्ताधारी पार्टी की चिंता बढ़ा दी है। दोनों विधायकों के इस्तीफे के बाद सदन में सत्ताधारी पार्टी की संख्या फिलहाल 11 है जबकि विपक्ष के पास 14 विधायक हो गए हैं। 

रिपोर्ट्स के अनुसार, लक्ष्मीनारायण और वेंकटेशन ने अपना इस्तीफा अलग-अलग विधानसभा स्पीकर वीपी शिवकोलुंधु को सौंपा है। लक्ष्मीनारायण ने तो मीडिया से बात करते हुए यह भी कहा कि ये नारायणस्वामी सरकार बहुमत खो चुकी है। उन्होंने बताया कि वह भी पार्टी सदस्यता से इस्तीफा दे चुके हैं। 

बाद में वेंकटेशन ने भी मीडिया से बात की। उन्होंने बताया कि वह सिर्फ़ विधायक पद को छोड़ रहे हैं डीएमके से उन्होंने इस्तीफा नहीं दिया है। वह बताते हैं, “…मैं अपने विधानसभा क्षेत्र में लोगों की जरूरतों को पूरा नहीं कर पा रहा था क्योंकि एमएलए लोकल एरिया डेवलपमेंट फंड के तहत कोई फंड मुहैया नहीं कराया जा रहा था।”

गौरतलब है कि इससे पहले चार कॉन्ग्रेस नेता पार्टी का साथ छोड़ा था। इनमें से दो ने भाजपा भी ज्वाइन की थी। जिनके नाम ए नमस्सिवम (A Namassivayam) और ई थेप्पनथन (E Theeppainthan) हैं। सत्ताधारी पार्टी के बहुमत खोने के बाद  भाजपा के इंचार्ज निर्मल कुमार सुराणा ने कहा था कि अन्य दो कॉन्ग्रेस विधायक- मल्लदी कृष्ण राव और ए जॉन कुमार भी जे पी नड्डा के नेतृत्व वाली भाजपा में शामिल होंगे।

उन्होंने पीटीआई को बताया था, “वह दोनों (कॉन्ग्रेस से इस्तीफा देने वाले नेता) भाजपा से जुड़ने वाले हैं। वह हमारे शीर्ष नेतृत्व से बात कर रहे हैं।”

बीजेपी नेता का मानना है कि कॉन्ग्रेस सदन में शत प्रतिशत विश्वास मत खोने वाली है। इसके अतिरिक्त उन्होंने यह भी दावा किया कि तीन अन्य विधायक भी कॉन्ग्रेस से इस्तीफा देने वाले हैं। हालाँकि नाम पूछे जाने पर उन्होंने कुछ भी बताने से मना किया था और आश्वस्त करते हुए कहा था, “मैं अभी नहीं बता सकता। वह (तीनों विधायक) नारायणस्वामी सरकार से नाखुश हैं और इस्तीफा देना चाहते हैं। ये बात 100 प्रतिशत पक्की है कि वह इस्तीफा देंगे।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तानी मंत्री फवाद चौधरी चीन को भूले, Covid के लिए भारत को ठहराया जिम्मेदार, कहा- विश्व ‘इंडियन कोरोना’ से परेशान

पाकिस्तान के मंत्री फवाद चौधरी ने कहा कि दुनिया कोरोना महामारी पर जीत हासिल करने की कगार पर थी, लेकिन भारत ने दुनिया को संकट में डाल दिया।

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,314FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe