Wednesday, June 19, 2024
Homeराजनीति'हरामी' महुआ मोइत्रा के करतूत: पुलिस पर उठाया हाथ, पत्रकार को Fuck, पुलवामा आतंकियों...

‘हरामी’ महुआ मोइत्रा के करतूत: पुलिस पर उठाया हाथ, पत्रकार को Fuck, पुलवामा आतंकियों का बचाव, जैन धर्म का अपमान

14 मार्च 2022 को महुआ मोइत्रा ने सदन में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 'ग्लैडिएटर' शब्द से सम्बोधित किया था। इसी बयान में उन्होंने आगे कहा था कि भाजपा के सदस्यों ने भारतीय संसद को ‘रोम का कोलोसियम’ बना डाला है।

तृणमूस कॉन्ग्रेस (TMC) की सांसद महुआ मोइत्रा ने मंगलवार (7 फरवरी, 2023) को लोकसभा की कार्यवाही के दौरान एक अन्य सांसद के लिए हर@मी शब्द का प्रयोग किया। सदन में अध्यक्ष के सामने ‘अडानी ग्रुप’ पर मुद्दा रखने के बाद उन्होंने इस शब्द का इस्तेमाल किया। इस मामले में काफी हंगामा हुआ। हालाँकि, महुआ मोइत्रा द्वारा ऐसे शब्द संसद या सड़क पर बोला जाना कोई नई बात नहीं। न सिर्फ गाली-गलौच बल्कि महुआ मोइत्रा तो कई बार सामने वाले से भिड़ भी चुकीं हैं। उनकी हरकतों के पीड़ित सिर्फ नेता ही नहीं बल्कि पुलिसकर्मी भी हैं।

महिला कॉन्स्टेबल पर उठाया था हाथ

सदन में हर@मी शब्द का प्रयोग करने वाली महुआ मोइत्रा अगस्त 2018 में असम में एक महिला पुलिसकर्मी को धक्का दे चुकीं हैं। तब महुआ असम में NCR का विरोध करने पहुँची थी। सिलचर एयरपोर्ट पर तैनात महिला पुलिसकर्मी ने महुआ को हाथ जोड़ कर समझाने की कोशिश की लेकिन उस मिन्नत का उन पर कोई असर नहीं पड़ा था। महुआ की हरकत से लेडी कांस्टेबल के हाथ पर चोट भी आई थी। इसी दौरान TMC के अन्य कार्यकर्ताओं के हंगामे से 1 अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हो गया था।

पत्रकार को दिखाई थी बीच वाली उंगली

यह मामला जनवरी 2015 का है। तब समाचार चैनल ‘टाइम्स नाउ’ पर महुआ मोइत्रा और अर्नब गोस्वामी में बहस चल रही थी। कुछ ही देर बाद एंकर अर्नब गोस्वामी के किसी सवाल पर महुआ ने अपना आपा खो दिया। उन्होंने ऑन एयर शो में अर्नब को बीच वाली उंगली दिखाई थी। हालाँकि, इस हरकत के बाद भी अर्नब ने शो को जारी रखा और बहस जारी रही।

गोमूत्र का मजाक

फरवरी 2022 में महुआ मोइत्रा ने गोमूत्र का मजाक उड़ाया था। तब उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, “आज शाम को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लोकसभा में बोलने जा रही हूँ। मैं सिर्फ इतना कहना चाहती हूँ कि बीजेपी की हेकलर टीम खुद को तैयार रख ले। गोमूत्र के शॉट्स भी पीकर आएँ।”

देश के लिए ‘सुसु पॉटी रिपब्लिक’ जैसे शब्द

मई 2021 में महुआ मोइत्रा ने भारत देश को ‘सुसु पॉटी रिपब्लिक’ लिखा था। तब उनके ट्वीट में लिखा था, “हमारे सुसु पॉटी रिपब्लिक में आपका स्वागत है। गोमूत्र पियो, गोबर छिड़को और शौचालय में कानून के शासन को फ्लश करो।” नेटीजेंस ने उनके इस ट्वीट का काफी विरोध किया था।

चित्र साभार- महुआ मोइत्रा ट्विटर स्क्रीनशॉट

भाजपा सांसद को बिहारी गुंडा

जुलाई 2021 में झारखंड से भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने महुआ मोइत्रा पर खुद को तीन बार ‘बिहारी गुंडा’ करने का आरोप लगाया था। दुबे ने ट्विटर पर मोइत्रा पर हिंदी भाषी लोगों और उत्तर भारतीयों के प्रति नफरत दिखाने का आरोप लगाया था। दुबे ने लिखा था, “तृणमूल कॉन्ग्रेस ने बिहारी गुंडा शब्द का इस्तेमाल करके बिहार के साथ-साथ पूरे हिंदी भाषी लोगों को गाली दी है।”

CJI पर अशोभनीय टिप्पणी

महुआ मोइत्रा ने 8 फरवरी 2021 को लोकसभा में चर्चा के दौरान सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस रंजन गोगोई पर अशोभनीय टिप्पणी की थी। तब उन्होंने न्यायपालिका को अपवित्र बताया था। महुआ ने आगे कहा था कि यौन शोषण के आरोप के बाद भी मुख्य न्यायाधीश ने इस्तीफा नहीं दिया। महुआ के अनुसार गंभीर आरोपों के बाद भी CJI रंजन गोगोई सुरक्षा ले कर घूमते रहे और बाद में राज्यसभा सदस्य बन गए। उन्होंने इसे भारत का दुर्भाग्य बताया था जिस पर सदन में काफी हंगामा हुआ था।

हालाँकि ये टिप्पणी लोकसभा से हटा दी गई थी उसके बावजूद महुआ मोइत्रा अपने बयान पर अड़ी रहीं और कहा कि सच को नहीं हटाया जा सकता है।

प्रधानमंत्री को ग्लैडिएटर कहा

14 मार्च 2022 को महुआ मोइत्रा ने सदन में बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘ग्लैडिएटर’ शब्द से सम्बोधित किया था। इसी बयान में उन्होंने आगे कहा था कि भाजपा के सदस्यों ने भारतीय संसद को ‘रोम का कोलोसियम’ बना डाला है।

पुलवामा के आतंकी को ‘लड़का’

जुलाई 2019 में महुआ मोइत्रा ने पुलवामा में आतंकी हमला कर के CRPF के 40 जवानों के बलिदान के आरोपित आतंकी को 20 साल का लड़का कहा था। हालाँकि अज्ञानतावश महुआ ने पुलवामा के हमले को बालाकोट का हमला बताया था और इसके लिए मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया था। तब महुआ ने कहा था कि ऐसा इसलिए हुआ क्योकि सरकार एयर कवर नहीं दे पाई थी।

जैन लड़कों को माँसाहारी बताया

फरवरी 2022 में गुजरात नगरपालिका में माँस की बिक्री बैन करने के मुद्दे पर महुआ मोइत्रा ने जैन समाज पर अभद्र टिप्पणी की थी। तब उन्होंने खाने-पीने और पहनने पर किसी भी प्रकार की पाबंदी का विरोध किया था। इस बयान में महुआ ने कहा था, “आप उस भारत से डरते हैं जहाँ एक जैन लड़का घर से छिपकर अहमदाबाद की सड़क पर ठेले से काठी कबाब खाता है।’ इस बयान पर जैन समाज ने आपत्ति जताई थी और महुआ से माफ़ी की माँग की थी। हालाँकि महुआ ने बाद में किसी भी प्रकार की माफ़ी नहीं माँगी और न ही अपने शब्द वापस लिए।

मीडिया को 2 पैसे वाला बताया

8 दिसम्बर 2020 को कोलकाता में TMC की एक मीटिंग में मौजूद मीडियाकर्मियों को महुआ मोइत्रा ने 2 पैसे वाला बताया था। तब महुआ ने मीटिंग में मौजूद मीडियाकर्मियों को बाहर निकालने का फरमान सुनाया था। महुआ ने अपनी ही पार्टी के कार्यकर्ताओं को आड़े हाथों लेते हुए उन्हें चेहरा चमकाने की शौक रखने वाला बता कर इस आदत से दूर रहने की हिदायत दी थी।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीपफेक वीडियो और ऑनलाइन फेक न्यूज़ पर लगेगी लगाम, ‘मोदी 3.0’ लेकर आ रहा ‘डिजिटल इंडिया बिल’: डेटा प्रोटेक्शन के बाद अब YouTube और...

अमित शाह का वीडियो वायरल कर दिया गया और दावा किया गया कि वो आरक्षण खत्म करने की बात कर रहे हैं। कई हस्तियाँ डीपफेक की शिकार बन चुकी हैं।

कश्मीर को अलग बताने वाली अरुंधति रॉय ने गुजरात दंगों को लेकर भी बोले थे झूठ: एहसान जाफरी की बेटियों से रेप और जिंदा...

साल 2002 के गुजरात दंगों को अरुंधति रॉय ने अपने लेख के जरिए कई तरह के झूठ और भ्रम फैलाने की कोशिश की थी। इसके लिए उन्हें माफी भी माँगनी पड़ी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -