Thursday, May 26, 2022
Homeराजनीतिखुलासा: राहुल गाँधी के बिज़नेस पार्टनर को कॉन्ग्रेस राज में मिला था डिफेंस ऑफसेट

खुलासा: राहुल गाँधी के बिज़नेस पार्टनर को कॉन्ग्रेस राज में मिला था डिफेंस ऑफसेट

2009 में राहुल गाँधी द्वारा दोनों कंपनियों को छोड़ने के बाद, भारत में Backops Private Limited (जिसमें प्रियंका गाँधी को तब निदेशक बताया गया) और Backops UK, कंपनियों को जल्द ही बंद कर दिया गया था।

इस चुनावी मौसम में राहुल गाँधी की कथित ब्रिटिश नागरिकता का मुद्दा तो उछल ही रहा है साथ में एक और खुलासा सामने आया है। राहुल गाँधी ने एक ब्रिटिश कंपनी, ‘बैकॉप्स’ के दस्तावेज़ों पर हस्ताक्षर किए थे, जिसमें ब्रिटिश नागरिक के रूप में 65% शेयर उनके थे। इस मामले में गृह मंत्रालय ने राहुल गाँधी को नोटिस भेजा था और उन्हें जवाब देने के लिए 15 दिन का समय दिया था।

इस ख़बर में अब एक नया मोड़ आया है जिसके मुताबिक़ 35% शेयरों की स्वामित्व वाली ब्रिटिश कंपनी बैकॉप्स में राहुल गाँधी के पूर्व साथी को कॉन्ग्रेस शासन के दौरान डिफेंस ऑफ़सेट का कॉन्ट्रेक्ट मिला था। इंडिया टुडे की ख़बर में यह खुलासा किया गया है कि उलरिक मैकनाइट (Ulrik Mcknight), की बैकॉप्स यूके में 35% हिस्सेदारी थी। इस कंपनी में 2003 से 2009 के बीच राहुल गाँधी का 65% इक्विटी का मालिकाना हक़ था। उलरिक मैकनाइट को यूपीए शासनकाल में 2011 में स्कॉर्पीन पनडुब्बियों का ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट मिला था।

रिपोर्ट में पाया गया कि 2009 में राहुल गाँधी द्वारा दोनों कम्पनियाँ छोड़ने के बाद, भारत में Backops Private Limited (जिसमें प्रियंका गाँधी को तब निदेशक बताया गया) और Backops UK, कंपनियों को जल्द ही बंद कर दिया गया था। स्कॉर्पीन पनडुब्बियों के निर्माण के लिए 2011 में फ्रेंच नेवल फर्म को कॉन्ग्रेस सरकार ने कॉन्ट्रैक्ट दिया था। कॉन्ग्रेस सरकार द्वारा कॉन्ट्रैक्ट दिए जाने के बाद, भारतीय फर्म फ्लैश फोर्ज को DCNS इंडिया के माध्यम से एक हिस्सेदार बनाया गया था

2011-12 में, फ्लैश फोर्ज ने यूके आधारित कंपनी ऑप्टिकल आर्मर का अधिग्रहण किया और मैकनाईट कंपनी के निदेशक के रूप में ऑप्टिकल आर्मर से जुड़ गया। 2012-13 में, मैकनाईट को ऑप्टिकल आर्मर कंपनी के 4% शेयर आवंटित किए गए थे।

2013 में, फ्लैश फोर्ज ने एक अन्य यूके आधारित कंपनी का अधिग्रहण किया, जिसका नाम Composit Resin Developments Limited था और उसी वर्ष, मैकनाईट ने फ्लैश फोर्ज लिमिटेड के दो निदेशकों के साथ एक अन्य कंपनी को भी शामिल कर लिया। 2015 में, वेबसाइट PGurus पर प्रकाशित लेख के अनुसार जो प्रोफेसर वैद्यनाथन के ब्लॉग पर पुन: पेश किया गया था, उसमें भी राहुल गाँधी के साथी मैकनाईट पर सवाल उठाए गए थे और कॉन्ग्रेस शासन के तहत एक प्रतिष्ठित रक्षा सौदे के रूप में स्वीकर भी किया।

लेख में निम्नलिखित आरोप लगाए गए थे:

  • राहुल गाँधी और उल्रिक आर मैककनाइट बैकॉप्स के निदेशक थे, जिसे उन्होंने 2009 में बंद कर दिया था।
  • फ्रांस की डीसीएनएस, स्कॉर्पीन पनडुब्बियों के निर्माता ने एक घोषणा की, जिसमें 20,000 करोड़ रुपए ($ 4.5 बिलियन) के सौदे के तहत भारत में 6 पनडुब्बियों की आपूर्ति करना था। यह घोषणा जून 2011 के समय में की गई थी।
  • Ulrik McKnight को 6 जून, 2012 को Optimal Armor Limited (OAL) में एक निदेशक के रूप में नियुक्त किया गया। उसका कहना है कि उसकी राष्ट्रीयता संयुक्त राज्य अमेरिका है और वो वहीं रहता है।
  • उलरिक मैक्नाइट 19 फरवरी, 2013 को कम्पोजिट रेजिन डेवलपमेंट्स (CRDL) लिमिटेड में निदेशक बन गया। उसने कहा कि वह आमतौर पर अमेरिका में रहता है जबकि उसकी राष्ट्रीयता स्वीडिश है।
  • दो भारतीय नागरिक, गौतम मक्कड़ और सुनील मेनन, जो भारतीय कंपनी फ्लैश फोर्ज प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक हैं, इन्हें एक ही समय में ऑप्टिमल आर्मर और कम्पोजिट राल डेवलपमेंट में निदेशक के रूप में भी नियुक्त किया गया।
  • फ्लैश फोर्ज ने 20 दिसंबर, 2013 को कम्पोजिट रेसिन में और 23 मार्च, 2012 को ऑप्टिमल आर्मर में हिस्सेदारी का अधिग्रहण किया।

ऑपइंडिया ने इस स्पष्टीकरण के बारे में एक ख़बर की थी और कॉन्ग्रेस द्वारा इस आरोप के बचाव में तर्क दिया गया कि राहुल गाँधी ने ब्रिटिश नागरिक के रूप में दस्तावेज़ो पर हस्ताक्षर किए थे। हमने पाया कि कॉन्ग्रेस के स्पष्टीकरण ने पहले से अधिक प्रश्नों को जन्म दिया।

हमने पाया कि उलरिक मैकनाइट पत्रकार और NYT स्तंभकार सोनिया फलेइरो के पति हैं। और फिर सोनिया फलेरो कौन है? वह एडुआर्डो फलेइरो की बेटी हैं, जो जीवन भर कॉन्ग्रेस की राजनीतिज्ञ रही हैं और यहाँ तक ​​कि 5 साल तक केंद्रीय मंत्री भी रही हैं। यहाँ कुछ भी अवैध नहीं है, लेकिन अब हम जानते हैं कि राहुल गाँधी उल्रिक मैक्नाइट से कैसे मिले होंगे।

जिस कंपनी के दस्तावेज़ कॉन्ग्रेस ने साझा किए थे (जहाँ राहुल गाँधी ने भारतीय नागरिक के रूप में हस्ताक्षर किए थे), ब्रिस्टल लीगल सर्विसेज लिमिटेड में पंजीकृत है। 6 लोअर पार्क रो, ब्रिस्टल बीएस 15BJ ये वो पता है जो Paul थॉमस पॉल रसेल से संपर्क साधने का भी पता है। यह Services Bourse Company Services नामक एक कंपनी का पता भी है जो कंपनियों को पंजीकृत करने में व्यक्तियों की मदद करती है। कंपनी 70 से अधिक अन्य कंपनियों के साथ अपना पता साझा करती है। थॉमस पॉल रसेल कौन है, इस पर शायद ही कुछ उपलब्ध हो। ऊपर वर्णित ब्रायन लवग्रोव ने भी अपना पता 6, लोअर पार्क रो, ब्रिस्टल के रूप में ही स्थापित किया।

कई अन्य प्रश्न थे जो कॉन्ग्रेस के स्पष्टीकरण के साथ उठाए गए थे और हमारी पूरी ख़बर यहाँ पढ़ी जा सकती है

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

केजरीवाल सरकार के स्टेडियम में खिलाड़ियों से VIP कुत्ता: बाहर निकाल दिए जाते हैं एथलीट, क्योंकि कुत्ते के साथ टहलते हैं IAS अफसर

मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि त्यागराज स्टेडियम शाम होते ही खाली करवा दिया जाता है क्योंकि दिल्ली के प्रधान सचिव (राजस्व) अपने कुत्ते के साथ वॉक करते हैं।

इमरान खान के ‘आजादी मार्च’ से पाकिस्तान में भड़की हिंसा, इस्लामाबाद में मेट्रो स्टेशन फूँका: आगजनी-पत्थरबाजी के बाद सेना की तैनाती

पाकिस्तान में गृहयुद्ध जैसे हालत बन गए हैं। पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के 'आजादी मार्च' में हिंसा की खबर है। सेना की तैनाती की गई है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,942FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe