दिग्विजय के ‘ओसामा जी’ के बाद अब राहुल गाँधी का ‘मसूद अज़हर जी’, देखें वीडियो

स्मृति ईरानी ने राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गाँधी और पाकिस्तान के बीच एक चीज कॉमन है और वह है- आतंकवादियों के प्रति उनका प्रेम।

देश की सबसे पुरानी पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने आतंकी मसूद अज़हर को ‘मसूद अज़हर जी’ कह कर सम्बोधित किया है। दिल्ली में कॉन्ग्रेस के ‘मेरा बूथ, मेरा गौरव’ कार्यक्रम के दौरान सभा को सम्बोधित करते हुए राहुल गाँधी ने कहा कि पिछली भाजपा सरकार ने मसूद अज़हर को रिहा किया। कंधार विमान हाईजैक कांड की चर्चा करते हुए राहुल गाँधी ने कहा कि अजीत डोभाल ख़ुद ‘मसूद अज़हर जी’ को कंधार छोड़ने एयरक्राफ्ट से गए थे। राहुल गाँधी द्वारा एक आतंकी को सम्मान देने के कारण सोशल मीडिया पर लोगों ने उन्हें निशाना बनाया। केंद्रीय टेक्सटाइल मंत्री स्मृति ईरानी ने राहुल गाँधी पर तंज कसते हुए कहा कि राहुल गाँधी और पाकिस्तान के बीच एक चीज कॉमन है और वह है- आतंकवादियों के प्रति उनका प्रेम।

भारतीय जनता पार्टी ने भी राहुल को निशाना बनाते हुए पूछा कि आख़िर राहुल के मन में आतंकियों के प्रति इतना सम्मान क्यों है?

ट्विटर पर कई लोगों ने राहुल को उनके इस बयान के लिए आड़े हाथों लिया। बता दें कि मसूद अज़हर ही आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद का संस्थापक है, जिसने पुलवामा आतंकी हमले को अंजाम दिया था। इस हमले में 40 सीआरपीएफ जवान वीरगति को प्राप्त हो गए थे। इसके अलावा पठानकोट हमले सहित अन्य आतंकी हमलों में भी मसूद अज़हर का हाथ था। ऐसे में उसके लिए सम्मानसूचक शब्द का प्रयोग करना राहुल को चुनावी मौसम में भारी पड़ सकता है।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

इस से पहले कॉन्ग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह अलक़ायदा प्रमुख ओसामा बिन लादेन को ‘लादेन जी’ कह कर सम्बोधित कर चुके हैं। ओसामा बिन लादेन को दुनिया के सबसे खूँखार आतंकवादियों में से एक गिना जाता है। पाकिस्तान में छिपे ओसामा को अमेरिका ने मार गिराया था। इसके अलावा दिग्विजय सिंह मुंबई हमलों के साज़िशकर्ता आतंकी हाफिज सईद को ‘साहब’ कह कर भी सम्बोधित कर चुके हैं।

जैसा कि आप देख सकते हैं, एक ट्विटर यूजर ने कार्टून के माध्यम से राहुल गाँधी, पाकिस्तान और नवजोत सिद्धू पर निशाना साधा। राहुल गाँधी द्वारा भारत में ख़ून बहाने वाले पाकिस्तानी आतंकी को ‘जी’ कह कर पुकारने पर ट्विटर पर लोगों ने उनकी क्लास लगाई।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गौरी लंकेश, कमलेश तिवारी
गौरी लंकेश की हत्या के बाद पूरे राइट विंग को गाली देने वाले नहीं बता रहे कि कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मना रहे किस मज़हब के हैं, किसके समर्थक हैं? कमलेश तिवारी की हत्या से ख़ुश लोगों के प्रोफाइल क्यों नहीं खंगाले जा रहे?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,227फैंसलाइक करें
18,920फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: