अंग्रेजी हम शर्मिंदा हैं: RaGa हुए वैश्विक स्तर पर जलील, ऑक्सफ़ोर्ड डिक्शनरी ने कहा ‘चल झूठे’

एक झूठ के बाद भी राहुल नहीं रुकते हैं और थोड़ी देर बाद वह एक तस्वीर के साथ नया ट्वीट करते हैं। इसमें मोदी की एडिटिड तस्वीर में वो एक वेबसाइट का यूआरएल (modilies.in) शेयर करते हैं। इस ट्वीट में वह लिखते हैं कि पीएम मोदी के झूठों की सबसे सटीक लिस्ट।

राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधने के लिए आज एक नया ‘बचकाना तरीका’ आजमाया। राहुल ने अपने ट्विटर अकॉउंट पर छेड़छाड़ की हुई एक तस्वीर को शेयर किया, जिसमें MODILIE शब्द का अर्थ सर्च करके दिखाया गया है। इस तस्वीर को शेयर करते हुए राहुल ने लिखा है कि ऑक्सफ़ोर्ड इंग्लिश डिक्शनरी में एक नया शब्द जोड़ा गया है, जिसका स्क्रीनशॉट नीचे हैं। इस तस्वीर में MODILIE शब्द का अलग-अलग संदर्भों में इस्तेमाल भी बताया गया है। तस्वीर में इस शब्द का एक अर्थ- बार-बार बदला सच; दूसरा अर्थ- ऐसा झूठ जो आदतन बोला जाता है और तीसरा अर्थ- लगातार झूठ… बताया गया है। इस स्क्रीनशॉट में अर्थों के साथ दाहिनी ओर कॉन्ग्रेस का विज्ञापन भी दिखाया जा रहा है।

हालाँकि जब आप इंटरनेट पर मौजूद किसी भी डिक्शनरी में इस शब्द को खोजेंगे तो आपको इसका कोई अर्थ नजर नहीं आएगा, जिससे आपको खुद पता चल जाएगा कि देश की सबसे बुजुर्ग पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी ने प्रधानमंत्री की छवि बिगाड़ने के लिए खुद के फॉलोवर्स को बरगलाने की कोशिश की है। हालाँकि ऑक्सफॉर्ड डिक्शनरी ने खुद राहुल गाँधी के इस ट्वीट पर रिप्लाई दिया और स्पष्ट किया उनकी डिक्शनरी में ऐसा कोई शब्द नहीं है और शेयर की गई तस्वीर एक झूठी तस्वीर है।

शर्म की बात ये है कि रोजाना अनाप-शनाप नए अंग्रेजी के शब्द लाकर मीडिया और नव-बुद्धिजीवियों पर अपना रौब जमाने वाले शशि थरूर जैसे ‘इंग्लिशाचार्य’ के कॉन्ग्रेस में रहते हुए इस युवा अध्यक्ष को यह ऐतिहासिक लानत मिली है।

अपने इस झूठ के बाद भी राहुल इतने पर नहीं रुकते हैं और थोड़ी देर बाद वह एक तस्वीर के साथ नया ट्वीट करते हैं। इसमें मोदी की एडिटिड तस्वीर में वो एक वेबसाइट का यूआरएल (modilies.in) शेयर करते हैं। इस ट्वीट में वह लिखते हैं कि पीएम मोदी के झूठों की सबसे सटीक लिस्ट। इस वेबसाइट में कई खबरें हैं, जिनमें दावा किया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कथित तौर पर कौन-कौन से झूठ बोले हैं।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

लेकिन, पड़ताल किए जाने पर मालूम चलता है कि इस वेबसाइट का डोमेन नाम modilies.in दिया गया है, जो D414400000006247637-IN डोमेन आईडी के नाम से रजिस्टर है। इसका रजिस्‍टर यूआरएल https://www.gandi.net/ है। 2018 में बनी इस वेबसाइट को पिछले महीने ही अपडेट किया गया है।

इसके अलावा यह वेबसाइट किसके नाम से रजिस्टर है इसकी जानकारी भी नहीं दी गई है। इस वेबसाइट को रजिस्‍टर कराने वाले व्यक्ति का न तो कॉन्टेक्ट नंबर उपलब्ध है और न ही उसका कोई पता लिखा है। जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक इसके एडमिन या संगठन के बारे में भी कोई भी जानकारी सामने नहीं आई है। जिसके कारण वेबसाइट के साथ राहुल की गंभीरता भी संदेह के घेरे में आती है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

कमलेश तिवारी
कमलेश तिवारी की हत्या के बाद एक आम हिन्दू की तरह, आपकी तरह- मैं भी गुस्से में हूँ और व्यथित हूँ। समाधान तलाश रहा हूँ। मेरे 2 सुझाव हैं। अगर आप चाहते हैं कि इस गुस्से का हिन्दुओं के लिए कोई सकारात्मक नतीजा निकले, मेरे इन सुझावों को समझें।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

105,514फैंसलाइक करें
19,261फॉलोवर्सफॉलो करें
109,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: