Sunday, July 25, 2021
Homeराजनीतिहिस्ट्रीशीटर घोषित होंगे भू-माफिया आजम खान, चोरी सहित 72 मामले दर्ज

हिस्ट्रीशीटर घोषित होंगे भू-माफिया आजम खान, चोरी सहित 72 मामले दर्ज

रामपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि आजम खान की हिस्ट्रीशीट खोलने का फैसला किया गया है। उन पर दर्ज मामलों में से 15 में पुलिस चार्जशीट दाखिल कर चुकी है।

सपा के भू-माफिया नेता आजम खान हिस्ट्रीशीटर घोषित हो सकते हैं। यूपी पुलिस उनकी हिस्ट्रीशीट खोलने वाली है। जानकारी के मुताबिक आजम खान पर अप्रैल से अब तक 72 मामले दर्ज हो चुके हैं। इनमें अधिकतर मामले आपराधिक हैं। जमीन कब्जाने से लेकर चोरी तक के आरोप उन पर हैं। रामपुर के जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने बताया कि उन्होंने उनकी हिस्ट्रीशीट खोलने का फैसला किया है।

उन्होंने कहा, “चूंकि आजम खान के खिलाफ दर्ज अधिकतर मुकदमे आपराधिक हैं जैसे- जमीन कब्‍जाने और चोरी, हमने उनकी हिस्‍ट्रीशीट खोलने का फैसला किया है। जो 72 मामले दर्ज हुए हैं, पुलिस ने उनमें से 15 में चार्जशीट दाखिल कर दी है और बाकी में जाँच जारी है।”

जनसत्ता की रिपोर्ट के अनुसार हिस्ट्रीशीटर घोषित हो जाने के बाद उनकी हरेक गतिविधि पुलिस नजर रखेगी।

खबरों की मानें तो हालिया मामला उनपर गुरुवार को दर्ज हुआ है। जिसमें आजम खान सहित जिला नगरपालिका के एक पूर्व अधिकारी को नामजद किया गया है। दोनों पर शत्रु जमीन कब्जा कर जौहर यूनिवर्सिटी का हिस्सा बनाने का आरोप है।

बता दें कि रामपुर से सपा सासंद आजम खान हाल ही में भू-माफिया घोषित किए गए थे। वह जौहर विश्वविद्यालय के चांसलर हैं और कई लोगों की जमीन हड़पने के आरोपी भी हैं। उनके ऊपर ‘आलिया मदरसा’ से किताबें चुरानें और रामपुर में क्लब से शेर की मूर्तियाँ चुराने का भी आरोप है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान में भगवा ध्वज फाड़ने वाले कॉन्ग्रेस MLA को लोगों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा: वायरल वीडियो का FactChek

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिख रहा है कि लाठी-डंडा लिए भीड़ एक शख्स को दौड़ा-दौड़ाकर पीट रही है।

दैनिक भास्कर के ₹2,200 करोड़ के फर्जी लेनदेन की जाँच कर रहा है IT विभाग: 700 करोड़ की आय पर टैक्स चोरी का खुलासा

मीडिया समूह की तलाशी में छह वर्षों में ₹700 करोड़ की आय पर अवैतनिक कर, शेयर बाजार के नियमों का उल्लंघन और लिस्टेड कंपनियों से लाभ की हेराफेरी के आयकर विभाग को सबूत मिले हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,047FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe