Saturday, April 20, 2024
Homeराजनीति₹400 का टीका, अस्पतालों को 1060 में... जनता को 1560 में: पंजाब की कॉन्ग्रेसी...

₹400 का टीका, अस्पतालों को 1060 में… जनता को 1560 में: पंजाब की कॉन्ग्रेसी सरकार पर गंभीर आरोप

"अकेले मोहाली में 1 दिन में करीब 2 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाने के लिए 35000 वैक्सीन की डोज प्राइवेट अस्पतालों को बेची गई।"

शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने कोरोना वैक्सीन को लेकर पंजाब सरकार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, बादल ने शुक्रवार (4 जून 2021) को कहा, ”कोविड-19 का टीका उपलब्ध है, लेकिन पंजाब सरकार इसे निजी अस्पतालों को बेच रही है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार 400 रुपए में टीके ले रही है, लेकिन प्राइवेट अस्पतालों को 1060 रुपए में बेच रही है। वहीं, प्राइवेट अस्पताल भी अधिक कीमतों पर लोगों को वैक्सीन देकर मुनाफा कमा रहे हैं।”

सुखबीर बादल ने आगे कहा, ”अगर वे वैक्सीन की कीमतों में सुधार नहीं करते हैं या इसे मुफ्त में नहीं देते हैं, तो हम पंजाब सरकार के खिलाफ हाईकोर्ट जाएँगे। अगर हम पंजाब में फिर से सरकार बनाते हैं तो इसकी जाँच करेंगे।” उन्होंने इस मामले पर अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी को भी घेरा। शिरोमणि अकाली दल के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि ये सब देखने के बावजूद आम आदमी पार्टी इस पर खामोश क्यों है?

बादल ने आरोप लगाया कि अकेले मोहाली में एक दिन में करीब दो करोड़ रुपए का मुनाफा कमाने के लिए 35 हजार डोज निजी संस्थानों को बेची गईं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन को बेचकर लाभ कमाना कॉन्ग्रेस सरकार द्वारा अपनाया गया अनैतिक तरीका है।

अकाली दल के प्रमुख ने राहुल गाँधी पर भी सवाल उठाए, जो शुरू से ही केंद्र से मुफ्त टीके की माँग कर रहे हैं। बादल ने पूछा कि क्या वह आम आदमी को प्रति खुराक 1,560 रुपए देने के लिए पंजाब सरकार के कदम का समर्थन करते हैं?

गौरतलब है कि पंजाब सरकार ने कॉरपोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी (सीएसआर) के नाम पर अपने इस कदम से प्रति खुराक 660 रुपए का लाभ कमाया है। वहीं, प्राइवेट अस्पतालों को प्रति खुराक 500 रुपए का लाभ होता है, क्योंकि वे लोगों से टीके की एक खुराक के लिए 1,560 रुपए वसूलते हैं।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, हाल ही में खरीदी गई एक लाख वैक्सीन में से पंजाब सरकार ने राज्य के सभी प्राइवेट अस्पतालों को 1,060 रुपए प्रति खुराक की दर से कम से कम 20,000 वैक्सीन बेची, जिसकी कीमत 400 रुपए थी।

बता दें कि प्राइवेट अस्पताल वैक्सीन की प्रति खुराक के लिए लोगों से कम से कम 1560 रुपए वसूल रहे हैं। अभियान में शामिल अधिकारियों द्वारा यह दावा किया जा रहा है कि सरकार ने टीकाकरण सीएसआर फंड के नाम से एक अलग बैंक अकाउंट बनाया है और प्राइवेट अस्पताल इस अकाउंट में ही पैसा जमा करते हैं। वहीं, वैक्सीन की खरीद में शामिल राज्य के अधिकारियों का कहना है कि प्राइवेट अस्पतालों से इकट्ठा किया गया अतिरिक्त पैसा वैक्सीन खरीदने के लिए इस्तेमाल किया जाएगा।

Sukhbir Singh Badal says that corona vaccine is available but the Punjab govt is selling it to private hospitals

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक ही सिक्के के 2 पहलू हैं कॉन्ग्रेस और कम्युनिस्ट’: PM मोदी ने मलयालम तमिल के बाद मलयालम चैनल को दिया इंटरव्यू, उठाया केरल...

"जनसंघ के जमाने से हम पूरे देश की सेवा करना चाहते हैं। देश के हर हिस्से की सेवा करना चाहते हैं। राजनीतिक फायदा देखकर काम करना हमारा सिद्धांत नहीं है।"

‘कॉन्ग्रेस का ध्यान भ्रष्टाचार पर’ : पीएम नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक में बोला जोरदार हमला, ‘टेक सिटी को टैंकर सिटी में बदल डाला’

पीएम मोदी ने कहा कि आपने मुझे सुरक्षा कवच दिया है, जिससे मैं सभी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हूँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe