हम सब के PM हैं नरेंद्र मोदी, उनसे मिलने का मतलब ये थोड़े है कि खिचड़ी पक रही: शिवसेना सांसद संजय राउत

"मान लीजिए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे दिल्ली आते हैं और सभी सांसदों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करते हैं। तो क्या इसका मतलब कोई खिचड़ी पकती है क्या? हमनें भी शरद पवार से निवेदन किया है कि वो किसानों के मुद्दे को प्रधानमंत्री के सामने रखें।"

शिवसेना सांसद संजय राउत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और एनसीपी के मुखिया शरद पवार की बुधवार (नवंबर 20, 2019) को होने वाली बैठक को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दी है। मीडिया ने संजय राउत से पूछा कि पीएम मोदी और पवार की बैठक के क्या मायने हैं? जवाब देते हुए राउत ने सवाल दागा कि अगर प्रधानमंत्री से कोई मिलता है तो इसका मतलब खिचड़ी पकती है क्या? राउत ने इस दौरान किसानों की स्थिति का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी पूरे देश के प्रधानमंत्री हैं। साथ ही उन्होंने जोड़ा कि उद्धव ठाकरे और शरद पवार हमेशा से किसानों को लेकर चिन्तित रहे हैं।

संजय राउत ने कहा कि संसद के बाहर या भीतर, कोई भी प्रधानमंत्री से मुलाक़ात कर सकता है और इसका ग़लत अर्थ नहीं लगाया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री शरद पवार को कृषि क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य करने के लिए जाना जाता है। बकौल शिवसेना सांसद संजय राउत, पवार महाराष्ट्र की स्थिति को अच्छी तरह जानते और समझते हैं। राउत ने आगे कहा:

“मान लीजिए शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे दिल्ली आते हैं और सभी सांसदों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करते हैं। तो क्या इसका मतलब कोई खिचड़ी पकती है क्या? हमनें भी शरद पवार से निवेदन किया है कि वो किसानों के मुद्दे को प्रधानमंत्री के सामने रखें।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

शिवसेना मुखपत्र ‘सामना’ के एग्जीक्यूटिव एडिटर संजय राउत ने कहा कि महाराष्ट्र के सभी सांसद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाक़ात करेंगे। उन्होंने कहा कि ये सांसद भले ही किसी भी राजनीतिक पार्टी के हों, वे पीएम मोदी से मुलाक़ात कर राज्य में किसानों की स्थिति की चर्चा करेंगे। राउत ने कहा कि शिवसेना यह सुनिश्चित करना चाहती है कि महाराष्ट्र के किसानों को हरसंभव सहायता मिले। बुधवार को ही ‘सामना’ में किसानों की आत्महत्या का मामला उठा कर भाजपा पर निशाना साधा गया है।

महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि इसके लिए अब ज्यादा इतंजार करने की ज़रूरत नहीं है, बस 5-6 दिन और लगेंगे। उन्होंने स्वीकार किया कि पिछले 10-15 दिनों में राज्य में सरकार गठन के रास्ते में कई समस्याएँ आई हैं। साथ ही उन्होंने दावा किया कि एक सप्ताह के भीतर सरकार बना लिया जाएगा। राउत ने दावा किया कि महाराष्ट्र को एक मजबूत और लोकप्रिय सरकार मिलने जा रही है।

संजय राउत ने सरकार गठन की राह में आ रही समस्याओं के ख़त्म होने का समय भी बता दिया। उन्होंने कहा कि गुरुवार (नवंबर 21, 2019) को दोपहर 12 बजे तक ये सारी रुकावटें चली जाएँगी। राउत ने कहा कि गुरुवार दोपहर 12 बजे महाराष्ट्र में तस्वीर साफ़ हो जाएगी।

ये भी पढ़ें:दिल्ली पहुँच पवार का यू टर्न: हमारे खिलाफ लड़ी शिवसेना, उसके साथ सरकार कैसे बना लें
ये भी पढ़ें:रात तक थी डील पक्की, अब पवार ने कहा– अभी और वक्त लगेगा: बिगड़ रही बात

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

उद्धव ठाकरे-शरद पवार
कॉन्ग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गॉंधी के सावरकर को लेकर दिए गए बयान ने भी प्रदेश की सियासत को गरमा दिया है। इस मसले पर भाजपा और शिवसेना के सुर एक जैसे हैं। इससे दोनों के जल्द साथ आने की अटकलों को बल मिला है।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,575फैंसलाइक करें
26,134फॉलोवर्सफॉलो करें
127,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: