Friday, June 21, 2024
Homeराजनीति'छेड़खानी कर रहे थे शशि थरूर, देख रही थी महुआ मोइत्रा': TMC सांसद के...

‘छेड़खानी कर रहे थे शशि थरूर, देख रही थी महुआ मोइत्रा’: TMC सांसद के एक्स ने पोस्ट डिलीट कर लिखा- इन्हें संसद नहीं, जेल में होना चाहिए

जय अनंत ने कहा कि शशि थरूर को जेल में होना चाहिए न कि संसद में। इसके अलावा उन्होंने एक और भी पोस्ट किया था जिसमें शशि थरूर पर इल्जाम लगाए गए थे कि उन्होंने एक महिला का शोषण किया।

तृणमूल कॉन्ग्रेस सांसद महुआ मोइत्रा पर पिछले दिनों रिश्वत लेने और भ्रष्टाचार का आरोप लगाने वाले उनके पूर्व मित्र सुप्रीम कोर्ट के वकील जय अनंत देहाद्राई ने एक्स अकॉउंट पर कॉन्ग्रेस नेता शशि को लेकर बड़ा ट्वीट किया है।

जय अनंत ने 8 दिसंबर को किए गए एक ट्वीट में लिखा, “शशि थरूर को जेल में होना चाहिए, न कि संसद में।” उनका यह पोस्ट उनके द्वारा किए गए एक पहले ट्वीट से जुड़ा था जिसे उन्होंने डिलीट कर दिया।

अपने पुराने पोस्ट में जय अनंत ने दावा किया था कि महुआ मोइत्रा और उनके सामने शशि थरूर ने एक महिला से छेड़छाड़ की थी और महुआ इस मुद्दे पर चुप रही थीं।

डिलीट किए गए पोस्ट का स्क्रीनशॉट ऑपइंडिया पर सेव हैं। देख सकते हैं कि जय अनंत ने लिखा- महुआ ने जो ‘नारीविरोधियों’ पर अपनी टिप्पणी की, वो हास्यास्पद है और दिखाता है कि वो कितनी ज्यादा पाखंडी हैं।

पोस्ट में जय अनंत ने दावा किया है, “मैंने और महुआ ने 11 अक्टूबर 2022 को दिल्ली के ताज चैंबर में खुद एक महिला के साथ शशि थरूर को छेड़छाड़ करते हुए देखा था। लेकिन तब महुआ ने शशि के उस बर्ताव की पोल खोलने से महुआ ने मुझे रोका…मुझे यकीन है महुआ बता सकती है कि उसने ऐसा क्यों किया था।”

कुछ देर बाद जय ने अपने पोस्ट को डिलीट कर दिया। मगर पोस्ट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।

बता दें कि जय अनंत और महुआ मोइत्रा कथिततौर पर एक दूसरे के साथ रिश्ते में थे। जय अनंत ने टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा पर पिछले दिनों कुछ आरोप लगाए थे जिसके बाद मोइत्रा को लोकसभा एथिक्स कमेटी और सीबीआई जाँच का सामना करना पड़ा था। इस मामले को भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने जोरो शोरों से उठाया था। उन्होंने इस संबंध में लोकसभा एथिक्स कमेटी को भी शिकायत दी थी कि दुबई के कारोबारी दर्शन हीरानंदानी ने महुआ मोइत्रा को लग्जरी आइटम्स तोहफे में दिए थे ताकि वो महुआ के संसद लॉग इन से अपने सवाल पूछ सकें।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बिहार का 65% आरक्षण खारिज लेकिन तमिलनाडु में 69% जारी: इस दक्षिणी राज्य में क्यों नहीं लागू होता सुप्रीम कोर्ट का 50% वाला फैसला

जहाँ बिहार के 65% आरक्षण को कोर्ट ने समाप्त कर दिया है, वहीं तमिलनाडु में पिछले तीन दशकों से लगातार 69% आरक्षण दिया जा रहा है।

हज के लिए सऊदी अरब गए 90+ भारतीयों की मौत, अब तक 1000+ लोगों की भीषण गर्मी ले चुकी है जान: मिस्र के सबसे...

मृतकों में ऐसे लोगों की संख्या अधिक है, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया था। इस साल मृतकों की संख्या बढ़कर 1081 तक पहुँच चुकी है, जो अभी बढ़ सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -