Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीतिनिस्वार्थी हैं PM मोदी, राष्ट्रहित में ले रहे क्रांतिकारी निर्णय: शेहला रशीद ने बताई...

निस्वार्थी हैं PM मोदी, राष्ट्रहित में ले रहे क्रांतिकारी निर्णय: शेहला रशीद ने बताई हृदय परिवर्तन की वजह, कहा- केंद्र की नीतियों में कोई कमी नहीं

शेहला रशीद एक समय में पीएम मोदी की आलोचना करने के लिए जानी जाती थीं, अब उनका हृदय परिवर्तन हुआ है और उन्होंने बताया है कि कैसे प्रधानमंत्री निस्वार्थ भाव के साथ देश के लिए काम कर रहे हैं और उन्होंने जम्मू-कश्मीर की तस्वीर को बदला है।

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) की पूर्व छात्रा शेहला रशीद कुछ समय से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तारीफ करती कई प्लेटफॉर्म पर दिख चुकी हैं। ऐसे में लोग कहने लगे थे कि उनका हृदय परिवर्तन हो गया। अब शेहला ने इस पर खुद ट्वीट किया है। उन्होंने बताया कि आखिर कैसे वो पीएम मोदी की पहले विरोधी हुआ करती थीं, और अब मुरीद हो गई है।

शेहला ने स्मिता प्रकाश को दिए इंटरव्यू की एक क्लिप को शेयर किया है। इस वीडियो में उन्होंने बता रखा है कि भारत को बदलने के लिए प्रधानमंत्री द्वारा निस्वार्थ भाव से लिए गए फैसले ने उनका मन बदला।

उन्होंने कहा, “मेरे हृदय परिवर्तन का कारण यह अहसास है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक निस्वार्थ व्यक्ति हैं जो भारत को बदलने के लिए क्रांतिकारी निर्णय ले रहे हैं। उन्होंने बहुत आलोचनाओं का सामना किया है, लेकिन समावेशी विकास के अपने दृष्टिकोण पर कायम रहे, जिसमें कोई भी पीछे नहीं छूटता।”

शेहला ने इस इंटरव्यू में कहा कि राज्य के लिए जो फैसले मोदी सरकार ने लिए हैं, वो उनसे बहुत प्रभावित हैं। उन्होंने कहा, “मैंने भाजपा के बारे में, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बारे में बहुत कुछ पहले से सोच के रखा हुआ था। उन्होंने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बहुत आलोचना सही। हर कोई आर्टिकल 370 के निरस्त होने पर नाराज था, पर वो अपने विकास के काम करने से पीछे नहीं हटे। इसी वजह से मैं एक निर्णय पर पहुँची, जिसने मेरे हृदय को भी बदला, कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री बहुत निस्वार्थ व्यक्ति हैं राष्ट्रहित के मामले में।”

उन्होंने माना कि उन्होंने पीएम मोदी की बहुत आलोचना की है। उसी तरह राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी उनको आलोचनाएँ मिलीं। सोचने वाली बात थी कि कोई इतनी आलोचना क्यों सहेगा अगर ये राष्ट्रहित में नहीं होता। शेहला रशीद ने आगे कहा कि केंद्र नीतियों में कोई कमी नहीं है और वो इसके लिए किसी से भी बहस के लिए तैयार हैं। वह घाटी में हो रहे बदलावों पर तथ्य पेश भी कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार के निर्णयों से कश्मीर की हालत सुधरी है। वहाँ कश्मीरी लोगों की जिंदगियाँ बन रही हैं। उनसे विकास हो रहा है। बच्चे वहाँ स्वतंत्र होकर खेल, घूम पाते हैं। अब वहाँ खेल आधारभूत संरचना है।

बता दें कि यह पहली बार नहीं था जब शेहला रशीद ने जम्मू-कश्मीर के हालातों के सुधरने की तारीफ की। इससे पहले उन्होंने इस साल अक्टूबर की शुरुआत में ही उन्होंने केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के घाटी में मानवाधिकार की स्थिति में सुधार की कोशिशों के लिए तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद कहा था।

इस साल अक्टूबर की शुरुआत में ही उन्होंने केंद्र में पीएम मोदी के नेतृत्व वाली सरकार और जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल के घाटी में मानवाधिकार की स्थिति में सुधार की कोशिशों के लिए तारीफ करते हुए उन्हें धन्यवाद कहा था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसे वामपंथन रोमिला थापर ने ‘इस्लामी कला’ से जोड़ा, उस मंदिर को तोड़ इब्राहिम शर्की ने बनवाई थी मस्जिद: जानिए अटाला माता मंदिर लेने...

अटाला मस्जिद का निर्माण अटाला माता के मंदिर पर ही हुआ है। इसकी पुष्टि तमाम विद्वानों की पुस्तकें, मौजूदा सबूत भी करते हैं।

रोफिकुल इस्लाम जैसे दलाल कराते हैं भारत में घुसपैठ, फिर भारतीय रेल में सवार हो फैल जाते हैं बांग्लादेशी-रोहिंग्या: 16 महीने में अकेले त्रिपुरा...

त्रिपुरा के अगरतला रेलवे स्टेशन से फिर बांग्लादेशी घुसपैठिए पकड़े गए। ये ट्रेन में सवार होकर चेन्नई जाने की फिराक में थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -