Friday, August 6, 2021
Homeराजनीतिलड़कियों के प्राइवेट पार्ट्स पर हमला करने वालों के साथ खड़ी हुईं दीपिका: स्मृति...

लड़कियों के प्राइवेट पार्ट्स पर हमला करने वालों के साथ खड़ी हुईं दीपिका: स्मृति ईरानी

स्मृति ने कहा है कि दीपिका अच्छी तरह से जानती थीं कि वे उस टुकड़े-टुकड़े गैंग के समर्थन में खड़ी हैं, जो भारत के विनाश की कामना करते हैं। उन्होंने कहा वे कॉन्ग्रेस की समर्थक रही हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल गाँधी का समर्थन किया था।

जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) के प्रदर्शनकारी वामपंथी छात्रों के बीच पहुॅंचने को लेकर दीपिका पादुकोण की केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने तीखी आलोचना की है। उन्होंने कहा है कि दीपिका अच्छी तरह से जानती थीं कि वे उस टुकड़े-टुकड़े गैंग के समर्थन में खड़ी हैं, जो भारत के विनाश की कामना करते हैं।

एक कार्यक्रम के दौरान स्मृति ईरानी ने कहा, “मैं ये जानना चाहती हूँ कि उनकी राजनीतिक विचारधारा क्या है। जिस किसी ने भी ये ख़बर पढ़ी उन्हें ये पता है कि वो आखिर वहाँ क्यों गईं। ये हमारे लिए हैरानी की बात नहीं है कि वो उन लोगों के साथ खड़ी हुईं, जो भारत की बर्बादी चाहते हैं। वो उनके साथ खड़ी हुईं, जिन्होंने लाठियों से लड़कियों के प्राइवेट पार्ट्स पर हमला किया। मैं उनका ये अधिकार छीन नहीं सकती।”

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ‘ThinkEdu Conclave 2020’ के समापन सत्र के कार्यक्रम के दौरान चेन्नई में यह बात कही। एक साक्षात्कार का हवाला देते हुए कहा उन्होंने कहा दीपिका ने साल 2011 में ही बता दिया था कि वे कॉन्ग्रेस पार्टी का समर्थन करती हैं। साक्षात्कार में उन्होंने प्रधानमंत्री पद के लिए राहुल गाँधी का समर्थन किया था। उन्होंने कहा, “इसके बारे में लोग पहले नहीं जानते थे। इसलिए हैरान हैं। उनके बहुत सारे फैंस को इस बारे में अभी-अभी पता चला है।”

JNU में हुई हिंसा के मद्देनज़र केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से जब सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, “मैं इतना कहना चाहूँगी कि इस मामले में अभी जाँच चल रही है। मैं संवैधानिक पद पर हूँ और पुलिस की तरफ़ से जाँच के पहलू कोर्ट के समक्ष रखें जाने तक कुछ कहना ठीक नहीं होगा।” कार्यक्रम के दौरान पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए उनका एक वीडियो भाजपा नेता तजिंदर पाल बग्गा ने भी ट्वीट किया है।

ग़ौरतलब है कि मंगलवार (7 जनवरी) को दीपिका जेएनयू पहुॅंची थीं। बात में यह बात सामने आई कि उनका जेएनयू जाना फ़िल्म ‘छपाक’ के प्रचार की पैंतरेबाजी थी। इस दौरान दीपिका ने JNU छात्र संघ की अध्यक्ष आइशी घोष से मुलाक़ात भी की। हालॉंकि सार्वजनिक तौर पर उन्होंने कुछ नहीं कहा। लेकिन, हिंसा के बाद छात्रों के एक खास समूह से ही मुलाकात को लेकर उनकी खासी आलोचना हो रही है।

बता दें कि फ़िल्म छपाक की बात करें तो ये दिल्ली की एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल की जिंदगी से प्रेरित है। फ़िल्म में दीपिका पादुकोण संग विक्रांत मैसी, अंकित बिष्ट संग अन्य एक्टर्स हैं। मेघना गुलज़ार के निर्देशन में बनी फ़िल्म छपाक, 10 जनवरी को सिनेमाघरों में रिलीज़ हो गई है।

JNU में दीपिका पादुकोण का जाना प्रचार की पैंतरेबाजी, पाकिस्तान ने थपथपाई पीठ

डियर दीपिका! नकली पलकों पर भाप की बूंदे टिका कर नौटंकी करना बंद करो

‘छपाक’ की रियल स्टोरी: 15 साल की लक्ष्मी ने शादी से इनकार किया तो 32 साल के नईम ने तेजाब फेंका

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,173FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe